Home » Economy » Policyअर्थव्यस्था में हो रहा है सुधार, इन्‍वेस्‍टमेंट में आएगी तेजी: सीआईआई

अर्थव्‍यवस्‍था में हो रहा है सुधार, इन्‍वेस्‍टमेंट में आएगी तेजी: सीआईआई

सीआईआई ने कहा है कि अर्थव्‍यवस्‍था में रिकवरी हो रही और निवेश में बढ़ोत्‍तरी होगी।

1 of

नई दिल्‍ली. इंडस्‍ट्री चैम्‍बर सीआईआई ने कहा है कि कई महत्‍वपूर्ण सेक्‍टर की बिक्री और ऑर्डर में तेज ग्रोथ है। इससे साफ है कि अर्थव्‍यवस्‍था में रिकवरी हो रही और निवेश में बढ़ोत्‍तरी होगी। कंज्यूमर नॉन ड्यूरेबल्स, टू-व्‍हीलर और ट्रैक्टर जैसे सैक्टर्स में मजबूती है।  

 

सीआईआई के प्रेजिडेंट राकेश भारती मित्तल ने कहा कि स्‍ट्रक्‍चरल सुधारों का असर अब जमीन पर दिख रहा है। कई सेक्टर्स के कारोबार में ठोस बढ़ोत्‍तरी दिख रही है। यह क्षमता का अच्‍छी तरह से इस्‍तेमाल और अधिक निवेश आने की उम्‍मीदों की ओर संकेत करता है। सीआईआई ने कहा कि कंज्यूमर नॉन ड्यूरेबल्स, टू-व्‍हीलर्स और ट्रैक्टर जैसे सैक्टर्स में मजबूत रूरल कंजम्‍प्‍शन दिख रहा है। बेहतर मैक्रोइकनॉमिक मैनेजमेंट ने विकास और निवेश को प्रोत्साहित किया है। 

 

वित्‍त वर्ष 2019 में 7.3-7.7% ग्रोथ की उम्‍मीद 
सीआईआई का कहना है कि मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्वच्छ भारत, स्वच्छ ईंधन जैसे बड़े डेवलपमेंट कैम्‍पेन के साथ-साथ ग्लोबल इकोनॉमी में रिकवरी और अच्‍छे मानसून के पूर्वानुमान से 2018-19 में 7.3-7.7 फीसदी ग्रोथ की उम्मीद है। कैपिटल गुड्स सेक्‍टर में तेजी से सुधार है और आर्डर बुक अच्‍छे हैं। एक्‍सपोर्ट की रफ्तार भी इस वित्‍त वर्ष में तेज रह सकती है, जिसकी शुरुआत अच्‍छी हुई है। 

 

वित्‍तीय घाटा बढ़ने की उम्‍मीद नहीं 
सीआईआई का कहना है कि क्रूड की कीमतों में आई तेजी के बावजूद सरकार ने वित्‍तीय घटा बढ़ने नहीं दिया है। महंगाई भी नियंत्रण में है। हालांकि क्रूड की कीमतों में तेजी के चलते महंगाई में बढ़ोत्‍तरी हो सकती है। सीआईआई के अनुसार, सरकार की तरफ से जीएसटी, आईबीसी कोड, एफडीआई पॉलिसी में छूट बढ़ाना और इन्‍फ्रा पर खर्च बढ़ाने जैसे फैसले बड़े रिफॉर्म के कदम उठाए गए हैं। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट