Home » Economy » PolicyEarn full benefit of PPF interest rate by this way

PPF पर पूरा ब्‍याज कमाने का फॉर्मूला, हर महीने की ये खास तारीख रखें याद

PPF टैक्‍स सेविंग, फ्यूचर सेविंग्‍स और रिटर्न के मामले में आज के दौर में निवेश का एक अच्‍छा विकल्‍प बनकर उभरा है।

1 of

नई दिल्‍ली. PPF टैक्‍स सेविंग, फ्यूचर सेविंग्‍स और रिटर्न के मामले में आज के दौर में निवेश का एक अच्‍छा विकल्‍प बनकर उभरा है। इसमें आपके द्वारा जमा किया अमाउंट तो टैक्‍स फ्री होता ही है, साथ ही आ रहा ब्‍याज और मैच्‍योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद मिलने वाली रकम भी टैक्‍स फ्री ही रहती है। इस वक्‍त इस पर ब्‍याज की दर 7.6 फीसदी सालाना है। साथ ही इसमें सालाना 500 रुपए के न्‍यूनतम निवेश से लेकर 1.5 लाख रुपए तक का अधिकतम निवेश किया जा सकता है। 

 

PPF की एक खासियत यह है कि आप इसमें इंस्‍टॉलमेंट में हर माह अमाउंट जमा कर सकते हैं। जिस पर आपको ब्‍याज सालाना ब्‍याज दर को मंथली ब्‍याज दर में बांटकर मिलता है। हालांकि यह क्रेडिट साल खत्‍म होने के बाद ही होता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि PPF के इंस्‍टॉलमेंट के मामले में देरी आपको ब्‍याज के मामले में नुकसान भी पहुंचा सकती है। अगर आपने हर माह इंस्‍टॉलमेंट के जरिए PPF में अमाउंट बढ़ाने का विकल्‍प लिया हुआ है और चाहते हैं कि फुल ब्‍याज का फायदा मिले तो इसके लिए आपको एक चीज ध्‍यान रखना जरूरी है, वह है हर माह की 5 तारीख से पहले इंस्‍टॉलमेंट जमा कर देना। 

 

आगे पढ़ें- आखिर क्‍यों करें ऐसा

क्‍यों भरें हर माह की 5 तारीख से पहले इंस्‍टॉलमेंट

हर माह की 5 तारीख से पहले PPF का इंस्‍टॉलमेंट जमा कर देने पर उस महीने का ब्‍याज पहले से मौजूद और बाद में डाले गए दोनों तरह के अमाउंट को जोड़ कर मिलता है। इसकी वजह है कि ब्‍याज की कैलकुलेशन 5 तारीख खत्‍म होने से लेकर महीने की आखिरी तारीख के बीच मौजूद अमाउंट पर होती है। इसे एक उदाहरण से समझें। 

 

मान लीजिए आपने अप्रैल में 500 रुपए के अमाउंट से PPF अकाउंट खुलवाया है और मंथली इंस्‍टॉलमेंट के जरिए हर माह इसमें 500 रुपए जमा करवा रहे हैं। अब मान लीजिए आप मई माह की 5 तारीख से पहले अगला इंस्‍टॉलमेंट नहीं जमा नहीं करते हैं तो मई में आपका टोटल अमाउंट 500 रुपए ही गिना जाएगा और ब्‍याज भी केवल इसी पर मिलेगा। 5 तारीख के बाद जमा किए अमाउंट को मिलाकर टोटल अमांउट अगले महीने काउंट होगा। वहीं जून में भी 5 तारीख के बाद इंस्‍टॉलमेंट डालने पर उस माह के लिए आपका टोटल अमांउट 1000 रुपए ही काउंट होगा और इसी पर ब्‍याज मिलेगा। 

 

वहीं अगर आप हर माह की 5 तारीख से पहले इंस्‍टॉलमेंट जमा करते हैं तो मई माह में आपका टोटल अमाउंट 1000 रुपए काउंट होगा और ब्‍याज भी इसी पर मिलेगा। ऐसे ही अगले महीने भी 5 तारीख से पहले इंस्‍टॉलमेंट जमा कर देने पर टोटल अमाउंट पूरे माह के लिए 1500 रुपए काउंट होगा। यानी आपको हमेशा ब्‍याज का पूरा फायदा मिलेगा। 

 

आगे पढ़ें- जब साल में केवल एक बार कर रहे हों जमा 

अगर साल में एक बार डाल रहे हों अमाउंट

अगर आप PPF में साल में केवल एक बार अमांउट जमा करते हैं तो इसे भी अप्रैल माह की 5 तारीख से पहले जमा कर दें। इसकी वजह है कि भारत में वित्‍त वर्ष अप्रैल से मार्च काउंट होता है और बैंकों और पोस्‍ट ऑफिस की सेविंग्‍स स्‍कीम के ब्‍याज के लिए भी साल अप्रैल से मार्च ही काउंट होती है। इसलिए पूरे साल ब्‍याज का पूरा फायदा लेने के लिए सालाना अमाउंट को PPF में 5 अप्रैल से पहले जमा करना फायदेमंद है। 

 

आगे पढ़ें- वित्‍त वर्ष की शुरुआत में खुलवाना फायदेमंद 

टैक्‍स सेविंग के लिए साल की शुरुआत में ही खुलवाना बेहतर 

अगर आप केवल टैक्‍स सेविंग के लिए PPF में निवेश करना चाहते हैं तो भी आपको इसे वित्‍त वर्ष की शुरुआत यानी अप्रैल में ही खुलवाना फायदेमंद है। अप्रैल में अकाउंट खुलवाने से आपको पूरे साल का ब्‍याज मिलेगा। कुछ लोग टैक्‍स सेविंग के लिए इसे तभी खुलवाते हैं जब मार्च का महीना आने वाला होता है और इनकम टैक्‍स रिटर्न भरना होता है। ऐसे में आपको उस साल के लिए केवल 1 ही महीने का ब्‍याज मिलता है।  

 

आगे पढ़ें- प्रीमैच्‍योर विदड्रॉल और लोन 

प्रीमैच्‍योर विदड्रॉल और लोन की सुविधा 

वैसे तो PPF का मैच्‍योरिटी पीरियड 15 साल है लेकिन 5 साल के बाद आप इसमें से अमाउंट विदड्रॉ कर सकते हैं। हालांकि पोस्‍ट ऑफिस में ऐसा 7 साल की मैच्‍योरिटी पूरी होने के बाद किया जा सकता है। साथ ही आप इस पर लोन भी ले सकते हैं। इसके अलावा 15 साल पूरा होने के बाद आप चाहें तो पूरा अमाउंट निकालकर खाते को बंद कर सकते हैं या फिर इसे और 5 सालों के लिए बढ़ा सकते हैं। आगे के 5 साल आप इसे बिना कॉन्‍ट्रीब्‍यूशन या फिर कॉन्‍ट्रीब्‍यूशन के साथ भी कंटीन्‍यू कर सकते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट