Home » Economy » PolicyDo not do these mistakes in beginning of new FY

अप्रैल में न करें ये गलतियां, सालभर मिलेगा फायदा

नया फाइनेंशियल ईयर 2018-19 शुरू हो गया है। नए वित्‍त वर्ष के पहले महीने यानी अप्रैल को काफी खास माना जाता है।

1 of
नई दिल्‍ली. 31 मार्च बीतने के साथ ही फाइनेंशियल ईयर 2017-18 खत्‍म हो गया है और नया फाइनेंशियल ईयर 2018-19 शुरू हो गया है। नए वित्‍त वर्ष के पहले महीने यानी अप्रैल को काफी खास माना जाता है। इसकी वजह है कि नए फाइनेंशियल ईयर के लिए किए गए प्रावधान व स्‍कीम्‍स इसी माह से लागू होते हैं। साथ ही आप भी नए नियम-कानूनों के मुताबिक अपनी फाइनेंशियल प्‍लानिंग इसी माह से शुरू करते हैं। इसलिए जरूरी है कि वित्‍त वर्ष की शुरुआत में इस प्‍लानिंग में छोटी-छोटी गलतियां करने से बचें। ऐसा करने से आपको साल भर फायदा तो मिलेगा ही, साथ ही आप टेंशन फ्री भी रहेंगे। आइए आपको बताते हैं कि आपको अप्रैल में क्‍या करने से बचना चाहिए- 

टैक्‍स सेविंग की प्‍लानिंग न करना  

हममें से ज्‍यादातर लोगों को टैक्‍स बचत का ख्‍याल वित्‍त वर्ष खत्म होने की अवधि नजदीक होने पर ही आता है। उस वक्‍त फिर हम टैक्‍स सेविंग की अलग-अलग स्‍कीमों को तलाशकर उनका फायदा लेने के लिए पुरजोर कोशिश करने लगते हैं। डेडलाइन नजदीक होने के चलते हम बहुत ज्‍यादा टेंशन में आ जाते हैं और हमारा बहुत सारा वक्‍त इसी कवायद में निकल जाता है। साथ ही टैक्‍स बचाने के लिए ऐन वक्‍त पर बड़े अमाउंट का इंतजाम भी करना होता है। इसलिए बेहतर होगा अभी से टैक्‍स सेविंग की प्‍लानिंग करने लगें और स्‍कीमों में थोड़ा-थोड़ा इन्‍वेस्ट करते रहें। इससे फायदा यह होगा कि वित्‍त वर्ष खत्‍म होने पर लास्‍ट मोमेंट की टेंशन से भी बचेंगे और एक बड़े अमाउंट का इंतजाम करने का बोझ भी नहीं रहेगा। 

 

आगे पढ़ें- इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान होल्‍ड पर रख देना 

इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लानिंग होल्ड पर रख देना

अगर आप किसी स्‍कीम जैसे पीपीएफ, पोस्‍ट ऑफिस एनएससी या फिर म्‍यूचुअल फंड आदि में इन्‍वेस्‍ट करना चाहते हैं तो वित्‍त वर्ष की शुरुआत सही वक्‍त है। अगर आप इस वक्‍त किसी फाइनेंशियल प्रॉडक्‍ट में इन्‍वेस्‍ट करते हैं तो उनके लिए पूरे साल के लिए तय ब्‍याज आपको मिलता है और आप फायदे में रहते हैं। अगर आप इसे बाद के लिए छोड़ देते हैं तो आपको साल का पूरा ब्‍याज नहीं मिलता। 


आगे पढ़ें- हेल्‍थ इंश्‍योरेंस 

हेल्‍थ इंश्‍योरेंस रिन्‍युअल टाल देना 

अक्‍सर लोग हेल्‍थ इंश्‍योरेंस को सही वक्‍त पर रिन्‍यू न कराकर वित्‍त वर्ष के आखिर के लिए छोड़ देते हैं ताकि उस वक्‍त टैक्‍स बचाने में यह मददगार हो सके। लेकिन ऐसा करना बहुत बड़ी गलती है। अगर आपने बामी कराया हुआ है और वक्‍त पर रिन्‍यू नहीं कराते हैं और इस बीच इसके इस्‍तेमाल की जरूरत आ पड़ती है तो आप इसका फायदा नहीं ले पाएंगे। ऐसे में आपको इलाज पर खर्च होने वाले मोटे अमाउंट का इंतजाम खुद करना होगा। इसलिए बीमा का फायदा लेते रहने के लिए इसे वक्‍त पर रिन्‍यू कराना जरूरी है। 

 

आगे पढ़ें- मोटर बीमा लेकर न करें ये गलती

मोटर बीमा के मामले में गलती

अगर आपने कोई व्‍हीकल लिया है तो इसका इंश्‍योरेंस कराना और उसे वक्‍त पर रिन्‍यू कराना भी जरूरी है। अगर आप इसे भी बाद के लिए टाल देंगे तो वाहन चोरी होने या एक्‍सीडेंट होने की सूरत में आपको इसका कोई लाभ नहीं मिलेगा। इसलिए इसे भी वक्‍त पर रिन्‍यू न कराने की गलती न करें। इसके अलावा यह भी ध्‍यान रखें कि आप अपने व्‍हीकल के लिए कौन सा बीमा करा रहे हैं। व्‍हीकल के लिए दो तरह के बीमा फुल इंश्‍योरेंस और थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस होता है। अक्‍सर लोग थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस कराते हैं लेकिन उसका फायदा एक्‍सीडेंट होने की सूरत में आपकी ओर से उसकी भरपाई करने में होता है। वाहन चोरी होने या दूसरे के द्वारा दुर्घटना ग्रस्‍त होने पर आपको थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस का कोई फायदा नहीं मिलता। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट