बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyइनएक्टिव PPF अकाउंट पर नहीं मिलते कई फायदे, बहुत आसान है रिवाइव कराने की प्रॉसेस

इनएक्टिव PPF अकाउंट पर नहीं मिलते कई फायदे, बहुत आसान है रिवाइव कराने की प्रॉसेस

इस सुरक्षित लॉन्‍ग टर्म इन्‍वेस्‍टमेंट से ज्‍यादा से ज्‍यादा फायदा लेने के लिए रखना होगा चालू...

1 of

नई दिल्‍ली. आज के दौर में टैक्‍स सेविंग, फ्यूचर सेविंग्‍स और रिटर्न के मामले में पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) एक अच्‍छा विकल्‍प बनकर उभरा है। इसमें किए गए इन्‍वेस्‍टमेंट से टैक्‍स में कटौती का तो लाभ मिलता ही है, साथ ही मिलने वाला ब्‍याज और 15 साल का मैच्‍योरिटी पीरियड पूरा होने पर हासिल होने वाली रकम भी टैक्‍स फ्री रहती है। इन्‍वेस्‍टमेंट की सीमा की बात करें तो PPF में 500 रुपए के न्‍यूनतम निवेश से लेकर 1.5 लाख रुपए तक का अधिकतम निवेश किया जा सकता है। 

 

लेकिन कई बार 500 रुपए का न्‍यूनतम निवेश भी न कर पाने के चलते PPF अकाउंट इनएक्टिव हो जाता है और आप इस पर मौजूद कुछ सुविधाओं का लाभ नहीं ले पाते हैं। हालांकि इनएक्टिव अकाउंट पर ब्‍याज मिलता रहता है। लेकिन अगर इन्‍वेस्‍टमेंट की राशि कम है तो फायदा बहुत ज्‍यादा नहीं होगा। इस वक्‍त PPF के लिए ब्‍याज दर 7.6 फीसदी सालाना है। 

 

आपको इस सुरक्षित लॉन्‍ग टर्म इन्‍वेस्‍टमेंट से ज्‍यादा से ज्‍यादा फायदा लेने के लिए इसे चालू रखना होगा। आइए आपको बताते हैं क्‍या हैं वे सुविधाएं और इनएक्टिव अकाउंट को कैसे रिवाइव यानी दोबारा चालू कराया जा सकता है- 

 

नहीं कर सकते मैच्‍योरिटी पीरियड खत्‍म होने से पहले बंद

इनएक्टिव PPF अकाउंट को मैच्‍योरिटी डेट से पहले बंद नहीं कराया जा सकता है। खास तौर पर पोस्‍ट ऑफिस में खुला PPF अकाउंट। वहीं बैंकों में खुला अकाउंट अगर एक्टिव रहता है तो उसे बेहद जरूरी परिस्थितियों में बंद कराया जा सकता है। बता दें कि 2016 में PPF नियमों में हुए संशोधनों के बाद PPF अकाउंट को मैच्‍योरिटी पीरियड पूरा होने से पहले बंद करा सकने की मंजूरी मिल गई है। जरूरी परिस्थितियों में गंभीर बीमारी का इलाज, बच्‍चों की उच्‍च शिक्षा आदि शामिल है। इसके अलावा अगर PPF अकाउंट के 5 साल पूरे हो चुके हैं तो भी इसे बंद कराया जा सकता है। 


आगे पढ़ें- न ट्रांजेक्‍शन, न लोन

 

ये भी पढ़ें- PPF पर पूरा ब्‍याज कमाने का फॉर्मूला, हर महीने की ये खास तारीख रखें याद​

नहीं कर सकते ट्रांजेक्‍शन, न ले सकते हैं लोन

खाताधारक PPF अकाउंट के 6 साल पूरे होने पर 7वें साल से आंशिक विदड्रॉल कर सकता है। लेकिन अगर अकाउंट चालू नहीं है तो यह सुविधा आपको नहीं मिलती। साथ ही आप PPF पर लोन लेने के भी हकदार नहीं रहते। बता दें कि एक्टिव PPF अकाउंट के तीन फाइनेंशियल ईयर पूरे होने के बाद इस पर लोन लिया जा सकता है। 

 

आगे पढ़ें- कैसे होगा रिवाइव 

कैसे कर सकते हैं रिवाइव

- बंद हो चुके PPF खाते का फिर से एक्टिव मोड में लाने के लिए खाताधारक को संबंधित बैंक या पोस्‍ट ऑफिस में एक एप्‍लीकेशन देनी होती है। इसके अलावा 50 रुपए सालाना का जुर्माना और जिस समय से अकाउंट में डिपॉजिट नहीं किया है, उस अवधि से 500 रुपए सालाना के हिसाब से बकाया डिपॉजिट और जिस साल में रिवाइव करा रहे हैं, उस साल की न्‍यूनतम 500 रुपए की किश्‍त जमा करनी होती है। इसके बाद ही अकाउंट फिर से एक्टिव होता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट