Home » Economy » Policyएयरसेल-मैक्सिस केस: गिरफ्तारी से बचने के लिए कोर्ट पहुंचे चिदंबरम

एयरसेल-मैक्सिस केस: गिरफ्तारी से बचने के लिए कोर्ट पहुंचे चिदंबरम, 5 जून तक राहत

पी. चिदंबरम ने एयरसेल मैक्सिस मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तारी से बचने के लिए दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट का रुख किया

1 of

नई दिल्‍ली. पूर्व वित्‍त मंत्री और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने एयरसेल-मैक्सिस मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तारी से बचने के लिए दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट का रुख किया है। चिदंबरम ने स्‍पेशल जज ओपी सैनी के सामने अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की। कोर्ट ने उन्हें 5 जून को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश होने का आदेश दिया। ईडी चिदंबरम से पूछताछ के लिए पहले ही समन जारी कर चुकी है। हालांकि, कोर्ट ने चिदंबरम को फौरी राहत देते हुए अगली सुनवाई तक कोई कार्रवाई नहीं करने की बात कही है। 

 

 

चिदंबरम की तरफ से वरिष्‍ठ वकील कपिल सिब्‍बल और अभिषेक मनु सिंघवी पेश हुए। उन्‍होंने कोर्ट से अपील की कि पूर्व मंत्री का जीवन साफ-सुधरा रहा है और समाज में उनकी प्रतिष्‍ठा है, जिसे देखते हुए उन्‍हें राहत दी जाए। अपनी याचिका में चिदंबरम ने कहा कि इस मामले से जुड़े सभी साक्ष्‍य डॉक्‍यूमेंट्री की तरह हैं, जिस पर पूरा कब्‍जा मौजूदा सरकार का है और उनसे कुछ भी नहीं मिलने वाला है। हालांकि, ईडी की तफ से पेश विशेष सरकारी वकील नीतेश राणा ने चिदंबरम की याचिका का विरोध करते हुए कहा कि वे जांच में शामिल नहीं है, जिसके ईडी पहले ही समन भेज चुकी है। 

 

सुनवाई के दौरान इस मामले में कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से जवाब मांगा है, अब 5 जून को ईडी अपना जवाब दाखिल करेगा। वहीं, कोर्ट ने अगली सुनवाई तक पी. चिदंबरम को राहत प्रदान की है। हालांकि, कांग्रेस नेता को पांच जून को कोर्ट में पेश होना होगा और तब तक ईडी चिदंबरम के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करेगा। 
 
कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी पर 10 जुलाई तक है रोक 
इससे पहले, कोर्ट ने एयरसेल-मैक्सिस केस में पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को अंतरिम सुरक्षा प्रदान करते हुए उनकी गिरफ्तारी पर 10 जुलाई तक रोक लगाई थी। सीबीआई और ईडी यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि कार्ति के पिता पी. चिदंबरम 2006 में जब वित्त मंत्री थे, तो उन्होंने (कार्ति) एयरसेल-मैक्सिस सौदे में विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) से किस प्रकार मंजूरी हासिल की थी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट