विज्ञापन
Home » Economy » PolicyBenefits from 10 point action plan of PM Modi

मोदी ने पेश किया नया एक्‍शन प्‍लान, आपको होंगे ये फायदे

दिल्‍ली में हुए पहले इंटरनेशनल सोलर अलायंस (ISA) समिट में पीएम मोदी ने अपना 10 प्‍वॉइंट एक्‍शन प्‍लान पेश किया।

1 of
नई दिल्‍ली. सोलर एनर्जी से 2022 तक 100 गीगावाट बिजली पैदा करने का लक्ष्‍य लेकर चल रही मोदी सरकार ने नई दिल्‍ली में हुए पहले इंटरनेशनल सोलर अलायंस (ISA) समिट में इसको लेकर अपना कमिटमेंट जाहिर किया है। ISA समिट में पीएम मोदी ने अपना 10 प्‍वॉइंट एक्‍शन प्‍लान पेश किया। इस एक्‍शन प्‍लान का उद्देश्‍य एनर्जी क्षेत्र में सोलर बिजली की हिस्‍सेदारी बढ़ाना है। 
 
पीएम मोदी के इस प्‍लान के तहत सोलर प्रोजेक्‍ट्स के लिए रियायती फाइनेंसिंग और कम जोखिम वाले फंड उपलब्‍ध कराया जाना, सभी देशों को अफोर्डेबल सोलर टेक्‍नोलॉजी उपलब्‍ध कराया जाना, फोटोवोल्‍टाइक सेल्‍स से उत्‍पन्‍न बिजली की हिस्‍सेदारी बढ़ाना, सोलर बिजली के लिए रेगुलेशंस और स्‍टैंडर्ड्स की फ्रेमिंग, बैंकेबल सोलर प्रोजेक्‍ट्स के लिए कंसल्‍टेंसी सपोर्ट और इस सेक्‍टर में एक्‍सीलेंस के लिए कई सेंटर निर्मित किए जाना शामिल रहा।
 
वैसे तो पीएम मोदी का यह प्‍लान पूरी दुनिया को ध्‍यान में रखते हुए है और इससे देश के साथ देशवासियों को भी फायदा होने वाला है। आइए आपको बताते हैं  कि इस 10 प्‍वॉइंट एक्‍शन प्‍लान से देश के नागरिकों को क्‍या फायदे होंगे- 

घर पर सोलर प्‍लांट के रेगुलेशन हो सकेंगे आसान

पीएम मोदी ने अपने एक्‍शन प्‍लान में सोलर बिजली के लिए रेगुलेशंस और स्‍टैंडर्ड्स की फ्रेमिंग करने और इन्‍हें आसान बनाने का आवाह्न किया। साथ ही उन्‍होंने अफोर्डेबल सोलर टेक्‍नोलॉजी और सोलर प्रोजेक्‍ट्स के लिए रियायती फाइनेंसिंग व कम जोखिम वाले फंड उपलब्‍ध कराए जाने का भी मुद्दा उठाया। अगर ऐसा हो जाता है तो सस्‍ते लोन और सरल प्रावधानों के चलते नागरिकों के लिए घर पर सोलर सिस्‍टम लगाना आसान हो जाएगा, जिससे सोलर बिजली उत्‍पादन को बढ़ावा मिलेगा। 

 

आगे पढ़ें- अगला फायदा 

24 घंटे बिजली

पीएम मोदी ने समिट में बताया कि 2022 तक भारत रिन्‍युएबल सोर्स से 175 गीगावाट बिजली पैदा करेगा, जिसमें से 100 गीगावाट बिजली सोलर एनर्जी से पैदा की जाएगी। सोलर बिजली के चलते परंपरागत साधनों से उत्‍पन्‍न बिजली की बचत होगी और इससे देश को 24 घंटे बिजली उपलब्‍ध कराने का लक्ष्‍य पूरा करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा अफोर्डेबल फंडिंग और आसान रेगुलेशंस से रूफटॉप सोलर सिस्‍टम लगाना आसान बनने के चलते भी ज्‍यादा सोलर बिजली उत्‍पन्‍न हो सकेगी और नागरिक इसे अपने लिए या फिर बिक्री के लिए इस्‍तेमाल में ला सकेंगे।  

 

आगे पढ़ें- एक और फायदा

देश के दूर-दराज के इलाकों तक पहुंचेगी बिजली 

देश में ऐसे कई इलाके हैं, जहां परंपरागत साधनों से बिजली पहुंचाना काफी मुश्किल है। ले‍किन सोलर बिजली से उन इलाकों को रौशन किया जा सकता है। सोलर बिजली के नॉर्म्‍स आसान होने से ऐसे इलाकों को भी बिजली मुहैया हो सकेगी। साथ ही देश के कुछ क्षेत्र ऐसे भी हैं, जहां बिजली पहुंचाई जा सकती है लेकिन बिजली की कमी के चलते अभी तक विद्वयुतीकरण नहीं हो पाया है। सोलर बिजली का उत्‍पादन बढ़ने से परंपरागत तरीके से बनने वाली बिजली की बचत होगी और बाकी के क्षेत्रों में भी बिजली पहुंचाई जा सकेगी। 

 

आगे पढ़ें- मिल सकेगी सस्‍ती बिजली

सस्‍ती बिजली

पीएम मोदी ने समिट में बताया कि देश में पिछले तीन सालों में 28 करोड़ एलईडी बल्‍ब का वितरण किया गया, जिससे 4 गीगावाट बिजली और 13 हजार करोड़ रुपए की बचत हुई। इसे देखते हुए कहा जा सकता है कि अगर मोदी के एक्‍शन प्‍लान से सोलर बिजली उत्‍पादन बढ़ने और परंपरागत बिजली की बचत में मदद मिली तो देश में बिजली की कीमतों में गिरावट आएगी और लोगों को सस्‍ती बिजली मुहैया हो सकेगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन