Home » Economy » PolicyNirav Modi Effect - Bank Asking for 125% Guarantee

नीरव मोदी इफेक्ट: बैंक 100 नहीं 125% ले रहे हैं गारंटी, ज्वैलर्स ने फ्यूचर प्लान पर लगाया ब्रेक

पीएनबी फ्रॉड आने के बाद बैंको ने ज्वैलर्स को लोन देने पर सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। ऐसे में कारोबारियो को अपने बिजनेस एक

1 of

नई दिल्ली। पीएनबी फ्रॉड आने के बाद बैंको ने ज्वैलर्स को लोन देने पर सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। ऐसे में कारोबारियो ने अपने बिजनेस एक्सपेंशन की प्लानिंग पर ब्रेक लगा दिया है। उनके अनुसार बैंक पहले से ज्यादा कोलैट्रल मांग रहे हैं। ज्वैलर्स के अनुसार बैंकों ने कौलेट्रल लिमिट को 100 फीसदी से बढ़ाकर 125 फीसदी तक कर दिया है। ऐसे में उनके पास लिक्विडिटी की प्रॉब्लम आ रही है। जिसके वजह से उन्होंने अपने फ्यूचर प्लान पर ब्रेक लगा दिया है।


 


 


 

ज्वैलर्स के एक्सपेंशन प्रोग्राम पर लगा ब्रेक


 


 

ऑल इंडिया जेम एंड ज्वैलरी ट्रेड फेडरेशन के चेयरमैन नितिन खंडेलवाल ने moneybhaskar.com को कहा कि बैंक ज्वैलर्स को लोन देने के मामले में काफी सख्ती बरत रहे हैं जिसके कारण ज्वैलर्स के एक्सपेंशन प्लान को रोक दिया है। जिन ज्वैलर्स को स्टोर खोलने के लिए लोन चाहिए वह उन्हें नहीं मिल रहा है। बैंक अब 100 फीसदी की जगह 125 फीसदी कोलैट्रल गारंटी मांग रहे हैं। इसकी वजह से ज्वैलर्स के लिए बिजनेस करना मुश्किल हो गया है।


 


 

बैंक मांग रहे हैं ज्यादा कोलैट्रल


 


 

कूचा महाजनी ज्वैलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेश सिंघल ने moneybhaskar.com को बताया कि नीरव मोदी केस के बाद बैंक ज्वैलर्स से लोन के लिए पहले से ज्यादा कोलैट्रल सिक्योरिटी मांग रहे हैं और कोलैट्रल पूरा नहीं देने पर लोन की फाइल रिजेक्ट कर रहे हैं। बैंक ज्वैलर्स को लोन देने के मामले में काफी सख्ती बरत रहे हैं। इसकी वजह से हमारे लिए बिजनेस करना मुश्किल हो गया है।


 


 

छोटे ज्वैलर्स की ज्यादा बढ़ी परेशानी


 

चांदनी चौक के ज्वैलर तरूण गुप्ता ने moneybhaskar.com को बताया कि बैंक छोटे ज्वैलर को लोन देने से साफ मना कर रहे हैं। पहले लोन के अप्लाई करने के बाद अधिकारी लोन मिलने का भरोसा देते थे लेकिन अभी वह पहली मीटिंग में ही लोने देने के लिए मना कर देते हैं। जिसकी वजह से छोटे ज्वैलर्स के लिए एक्सपेंशन करना मुश्किल हो गया है।


 


 

बैंकों को मिले दिशानिर्देश


 


 

इंड्स्ट्री सूत्रों के मुताबिक बैंको को ज्वैलर्स को लोन देने के फिलहाल के लिए मना कर दिया गया है। ज्वैलर्स के मुताबिक नीरव मोदी के केस के बाद अधिकारी लोन देने से सीधे तौर पर ज्वैलर्स को मना कर रहे हैं। वह कह रहे हैं लोन नहीं देने के लिए उन्हें ऊपर से ऑर्डर मिले हैं।


 


 

आगे पढ़ें - नीरव मोदी केस के बाद बढ़ी इंडस्ट्री की दिक्कतें


 


 

नीरव मोदी केस के बाद बढ़ी इंडस्ट्री की दिक्कतें


 


 

करीब 11,356 करोड़ रुपए के पीएनबी फ्रॉड केस में इंटरपोल ने हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ नोटिस जारी किया है। उन्हें सीबीआई ढूंढ रही है लेकिन वह देश छोड़कर भाग गए हैं। खंडेलवाल ने कहा कि नीरव मोदी के लोन फ्रॉड के बाद ज्वैलरी इंडस्ट्री की लोन की दिक्कतें ज्यादा बढ़ी है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट