बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyभगवान शि‍व से सीखें मैनेजमेंट के 5 मंत्र, लाइफ में हमेशा आएगा काम

भगवान शि‍व से सीखें मैनेजमेंट के 5 मंत्र, लाइफ में हमेशा आएगा काम

शिव से जुड़ी ऐसी कहानियां हैं, जिनसे हम अपने जीवन में बहुत सी चीजें सीख सकते हैं...

1 of

नई दिल्‍ली. महाशिवरात्रि पूरे देश में धूमधाम से मनाई जा रही है। भगवान शिव हिंदू पौराणिक मान्‍यता के ऐसे देवता हैं, जो संहार के अलावा कल्‍याण भी करते हैं। शिव ने हमेशा से बड़े पैमाने पर लोगों पर अपना असर छोड़ा है। शिव से जुड़ी ऐसी कहानियां हैं, जिनसे हम अपने जीवन में बहुत सी चीजें सीख सकते हैं। अगर आप बिजनेस करते हैं या स्‍टार्टअप शुरू कर रहे हैं तो भी आपके पास भगवान शिव से सीखने के लिए बहुत कुछ है। आज महाशिवरात्रि के मौके पर हम आपको बताते हैं कि आप भगवान शिव से मैनेजमैंट के ऐसे कौन से गुर सीख सकते हैं, जो आपके जीवन में सफलता की कहानी लिख सकता है। 

 

हम यहां शिव के अलग-अलग नामों उनके मतलब और उसके पीछे छिपी कहानियों के जरिए जानेंगे कि इनसे बिजनेस करने वालो लोग अपने जीवन में मैनेजमेंट के कौन से गुण सीख सकते हैं। 

 

 

रुद्र
 

कौन होता है: जो हर बाधा से डरे बिना अपने लक्ष्‍य को हासिल करे, उसे रुद्र कहते हैं। 

 

क्‍या सीख सकते हैं: अगर आप स्‍टार्टअप या नया बिजनेस शूरू करते हैं तो सबसे बड़ी जरूरत दिल के डर को भगाने की होती है।अगर आपके दिल में थोड़ा सा भी डर है तो आप अपने लक्ष्‍य को हासिल नहीं कर सकते हैं। सफलता के लिए जरूरी है कि हर बाधा को पार करते हुए लक्ष्‍य हो हासिल किया जाए। शिव के रुद्र रूप से जरूर यह सीखा जा सकता है।  


 

महायोगी 
 

कौन होता है: भूख-प्‍यास समेत सभी सुख सुविधाएं छोड़कर सिर्फ लक्ष्‍य को ओर ध्‍यान लगाने वाला। 

 

क्‍या सीख सकते हैं: भगवान शिव घर, परिवार, भक्‍तों और विश्‍व कल्‍याण के साथ सबसे बड़े योगी भी हैं। कोई भी बिजनेस इसी तरह का समर्पण मांगता है। खासकर तब जब वह शुरूआती लेवल पर हो। आपको जीवन की अन्‍य जिम्‍मेदारियों को निभाते हुए अपने लक्ष्‍य पर डटे रहना होता है।  नए बिजनेस के समय शिव का यह रूप आपको सफलता की सीख दे सकता है। 

अर्धनारिश्‍वर 

 

कौन होता है: जो एक-दूसरे लक्ष्‍य का सम्‍मान करे और जीवन भर साथ नहीं छोड़े। 

 

क्‍या सीख सकते हैं: जैसे भगवान शिव ने अपने इस रूप के जरिए माता पार्वती को बराबरी का दर्जा दिया, इसी तरह बिजनेस करने वाला बॉस अपने कर्मचारियों के साथ बराबरी कर बर्ताव करे तो कंपनी का माहौल बेहतर बना रहता है। 

नीलकंठ 

 

कौन होता है: जिसमें दूसरों की मदद का भाव हो। 

 

क्‍या सीख सकते हैं: शिव सबके देव थे। समुद्र मंथन के बाद जब विष निकला तो वह विष भगवान शिव पी गए। भगवान शिव का यह अप्रोच दिखाता है कि गर आप बॉस हैं तो आपको बढ़कर जिम्‍मेदारी लेनी पड़ेगी। भले ही यह जिम्‍मेदारी विष पीने जैसी कड़वी ही क्‍‍‍योंं न  हो। तभी जा कर आप सहकर्मियों की नजर में सम्‍मान हासिल कर सकते हैं 

 

हरिहर अवतार 

 

कौन होता है: जीवन में श्रृजन के साथ विनाश भी जरूरी होता है।

 

क्‍या सीख सकते हैं आप 
दअरसल त्रिदेवों में जहां भगवान शिव जग के पालनहार हैं। वहीं शिव विनाश के देवता हैं। मतलब कुछ नया करने के लिए पुराने को डिलीट करना जरूरी होता है। अगर पुराने आइडिया को डिलीट नहीं करेंगें तो नए आ‍इडिया का स्‍कोप नहीं बनेगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट