बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyये हैं मोदी सरकार के 5 बाहुबली ऐप, आपको मिलेंगे ये फायदे

ये हैं मोदी सरकार के 5 बाहुबली ऐप, आपको मिलेंगे ये फायदे

भारत में 2017 में कई ऐप्‍स लॉन्‍च हुए। इनमें कई सरकारी ऐप भी शामिल थे, जिन्‍हें मोदी सरकार द्वारा लॉन्‍च किया गया।

1 of

नई दिल्‍ली. भारत के लिए 2017 इकोनॉमी को लेकर हुए बड़े फैसलों के लिए काफी अ‍हम साबित हुआ। लेकिन इसके अलावा देश में इस साल आईटी व टेलीकॉम के मोर्चे पर भी काफी तेजी दिखी। भारत में 2017 में कई ऐप्‍स लॉन्‍च हुए। इनमें कई सरकारी ऐप भी शामिल थे, जिन्‍हें मोदी सरकार द्वारा लॉन्‍च किया गया। इनमें से 5 ऐप ऐसे रहे, जिन्‍होंने बड़ी ही तेजी से लोगों के बीच में अपनी जगह बनाई। आइए जानते हैं उन्‍हीं 5 सरकारी ऐप्‍स के बारे में- 

 

IRCTC रेल कनेक्‍ट

साल 2017 की शुरुआत में ही रेलवे ने यात्रियों के लिए एक नया ऐप लॉन्‍च किया, जिसका नाम था IRCTC रेल कनेक्‍ट। इसे 10 जनवरी 2017 को तत्‍कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने लॉन्‍च किया था। इस ऐप को डिजिटल ट्रांजेक्शन के जरिए टिकट बुक करने की प्रक्रिया को आसान बनाने के इरादे से लॉन्च किया गया। आईआरसीटीसी रेल कनेक्‍ट के जरिए जनरल और तत्‍काल टिकट बुकिंग के लिए लंबी-लंबी कतारों में लगे बिना आसानी से बुक कराया जा सकता है। साथ ही यह ऐप आपकी यात्रा, ट्रेन, ट्रेन रूट से जुड़ी पल-पल की अपडेट भी देता है। इस ऐप से टिकट कैंसिल कराना भी बेहद आसान हो गया है। ऐप में 40 से ज्यादा बैंकों से नेट बैंकिंग, डेबिट-क्रेडिट कार्ड, Paytm, मोबीक्विक आदि से भुगतान की सुविधा है। 

 

आगे पढ़ें- अन्‍य ऐप्‍स के बारे में 

GST रेट फाइंडर

सभी जानते हैं कि देश में जुलाई से नई टैक्‍स व्‍यवस्‍था GST लागू कर दी गई। GST की रेट्स को लेकर लोगों में मौजूद कन्‍फ्यूजन को दूर करने के लिए वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने जुलाई में ही 'GST रेट फाइंडर' नामक ऐप लॉन्‍च किया। फाइनेंस मिनिस्‍ट्री की ओर से जारी बयान में कहा गया कि यह मोबाइल ऐप यूजर्स को GST रेट्स का पता लगाने में मदद करेगा। इसे किसी भी स्मार्टफोन पर डाउनलोड किया जा सकता है और यह ऑफलाइन भी काम करेगा। यूजर्स किसी गुड्स या सर्विस का नाम डालकर या संबंधित चैप्टर देख कर GST रेट के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं। 

 

आगे पढ़ें- एक और ऐप के बारे में 

आयकर सेतु 

टैक्‍स के भुगतान और पैन कार्ड के लिए ऑनलाइन एप्‍लीकेशन को लेकर सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍ट टैक्‍सेज ने जुलाई में 'आयकर सेतु' नामक ऐप लॉन्‍च किया। इसे वित्‍त मंत्री अरुण जेटली द्वारा लॉन्‍च किया गया। सीबीडीटी की तरफ से यह ऐप उस कोशिश का ही एक हिस्‍सा है, जिसके तहत वह टैक्‍स भरने को आसान बनाना चाहती है। सीबीडीटी की तरफ से जारी यह पहला मोबाइल ऐप है। इस एप के साथ यूजर्स को कोई फीचर मिलते हैं। इसमें टैक्‍स टूल्‍स, लाइव चैट फैसिलिटी, डायनेमिक अपडेट्स और अलग-अलग टैक्‍स फाइलिंग से जुड़ी लिंक्‍स भी यहां पर आपको मिल जाएंगी।

 

आगे पढ़ें- एक और ऐप के बारे में 

एमआधार ऐप

हर वक्‍त आधार कार्ड साथ लेकर चलने की दिक्‍कत को खत्‍म करने के लिए सरकार ने जुलाई में ही एक और ऐप एमआधार लॉन्‍च किया। इसके जरिए आप डिजिटल आधार अपने स्‍मार्टफोन में ही रख सकेंगे और जरूरत पड़ने पर इसका इस्‍तेमाल भी कर सकेंगे। इस एप पर आपके आधार से जुड़ी सारी इनफॉरमेशन मौजूद होगी। साथ ही जिन सरकारी ऑफिसेस व अन्‍य जगहों पर ई-वेरीफिकेशन की सुविधा होगी, वहां इसके जरिए आधार वेरीफाई भी करवा सकेंगे। डिटेल्‍स की सिक्‍योरिटी की बात करें तो इस ऐप में बायोमेट्रिक्‍स इंफोर्मेशन को बायोमेट्रिक्‍स लॉकिंग व अनलॉंकिंग फीचर से सिक्‍योर किया जा सकता है। mAadhaar एप में T-OTP यानि टाइम बेस्‍ड वन टाइम पासवर्ड का फीचर भी है। 

 

आगे पढ़ें- एक और ऐप के बारे में 

उमंग ऐप

नवंबर 2017 में प्रधानमंत्री मोदी ने  5वीं ग्‍लोबल साइबर स्‍पेस कॉन्‍फ्रेंस में एक ऐसा ऐप लॉन्‍च किया है, जिसके जरिए आप घर बैठे 100 से ज्‍यादा काम कर सकते हैं। इस बाहुबली ऐप का नाम उमंग है यानी यूनि‍फाइड मोबाइल एप्‍लीकेशन फॉर न्‍यू एज गवर्नेंस है। दरअसल उमंग ऐप एक गेटवे है, जिसके जरिए आप कई सरकारी ऐप्‍स को एक्‍सेस कर सकते हैं और उनकी सेवाओं का लाभ ले सकते हैं। इस ऐप में इंटर्नली सारे ऐप इंटीग्रेटेड हैं। इस एक ऐप से आप पैन कार्ड बनवाने से लेकर गैस बुक करवाने तक और आधार कार्ड डाउनलोडिंग से लेकर यूटिलिटी बिल्‍स के पेमेंट जैसे कई सरकारी काम कर सकते हैं। यानी इस ऐप को डाउनलोड करने के बाद आपको इन कामों को करने के लिए अलग-अगल ऐप डाउनलोड करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस ऐप के माध्‍यम से आप भारत में कहीं भी केन्‍द्र से लेकर राज्‍य, लोकल बॉडीज, सरकारी एजेंसियों आदि की 100 से ज्‍यादा सेवाओं का लाभ ले सकते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट