बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyइनोवेटिव हेल्‍थकेयर प्रोडक्‍ट्स के लिए भारत-वर्ल्‍ड बैंक के बीच 836 करोड़ रु. का लोन एग्रीमेंट

इनोवेटिव हेल्‍थकेयर प्रोडक्‍ट्स के लिए भारत-वर्ल्‍ड बैंक के बीच 836 करोड़ रु. का लोन एग्रीमेंट

भारत ने इनोवेट इन इंडिया फॉर इन्‍क्‍लूसिवनेस प्रोजेक्‍ट के लिए वर्ल्‍ड बैंक के साथ एक लोन एग्रीमेंट पर साइन किए।

India signs loan agreement with World Bank for 836 crore

नई दिल्‍ली. 24 अप्रैल को भारत ने इनोवेट इन इंडिया फॉर इन्‍क्‍लूसिवनेस प्रोजेक्‍ट के लिए वर्ल्‍ड बैंक के साथ एक लोन एग्रीमेंट पर साइन किए। यह समझौता लगभग 836 करोड़ रुपए (12.5 करोड़ डॉलर) के IBRD क्रेडिट के लिए हुआ। समझौते पर भारत की ओर से डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक अफेयर्स के जॉइंट सेक्रेटरी समीर कुमार खरे ने और वर्ल्‍ड बैंक के एक्टिंग कंट्री डायरेक्‍टर हिशाम अब्‍दो ने साइन किए। 

 

भारत के इस प्रोजेक्‍ट का मकसद देश में इनोवेशन का विकास, लोकल प्रोडक्‍ट डेवलपमेंट को बढ़ावा देना और जरूरी स्किल्‍स और इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर गैप के बीच की खाई को भरकर कॉमर्शियलाइजेशन की प्रोसेस को तेज करना है। ऐसा इसलिए ताकि भारत में इन्‍क्‍लूसिव डेवलपमेंट के लिए सस्‍ते और इनोवेटिव हेल्‍थकेयर प्रोडक्‍ट्स के जनरेशन को प्रोत्‍साहन मिल सके और कॉम्पिटीशन बढ़ सके। यह प्रोजेक्‍ट पब्लिक, प्राइवेट और एकेडेमिक इंस्‍टीट्यूशंस को सहयोग प्रदान करेगा, जिससे देश में इनोवेटिव फार्मास्‍युटिकल और मेडिकल डिवाइसेज इंडस्‍ट्री के डेवलपमेंट में अवरोध उत्‍पन्‍न करने वाली असफलताओं पर विजय पाई जा सकेगी। 

 

प्रोजेक्‍ट के तहत इन चीजों पर होगा काम 

- पायलट टू मार्केट इनोवेशन सिस्‍टम को मजबूत बनाना
- विशेष प्रोडक्‍ट्स की पायलट टू मार्केट प्रोसेस में तेजी लाना
- प्रोजेक्‍ट मैनेजमेंट, मॉनिटरिंग और इवैल्‍युएशन

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट