विज्ञापन
Home » Economy » PolicyIndia Russia May Sign Deal Nuclear Submarine Deal This Week

सीमा पर तनाव पीछे छोड़ भारत रूस संग करेगा 21 हजार करोड़ रुपए का बड़ा रक्षा सौदा, बढ़ेगी भारतीय नौसेना की क्षमता

भारत-रूस एस-400 डील नहीं आई थी अमेरिका को रास, अब फिर भारत पर दबाव डाल सकता हैं ट्रंप

India Russia May Sign Deal Nuclear Submarine Deal This Week

India Russia May Sign Deal Nuclear Submarine Deal This Week: भारत और रूस के बीच इस हफ्ते 3 अरब डॉलर (21.24 हजार करोड़ रुपए) की डील होने वाली है। भारतीय नौसेना रूस से न्यूक्लियर अटैक सबमरीन (पनडुब्बी) लीज पर लेने वाली है। Akula Class की इस सबमरीन को चक्र-3 नाम दिया गया है। इससे पहले भारत रूस से ऐसी दो पनडुब्बियां लीज पर ले चुका है। यह डील रूस और भारत के बीच हुई बड़ी डील्स में शामिल होगी।

नई दिल्ली.

भारत और रूस के बीच इस हफ्ते 3 अरब डॉलर (21.24 हजार करोड़ रुपए) की डील होने वाली है। भारतीय नौसेना रूस से न्यूक्लियर अटैक सबमरीन (पनडुब्बी) लीज पर लेने वाली है। Akula Class की इस सबमरीन को चक्र-3 नाम दिया गया है। इससे पहले भारत रूस से ऐसी दो पनडुब्बियां लीज पर ले चुका है। यह डील रूस और भारत के बीच हुई बड़ी डील्स में शामिल होगी। इसके पहले भारत-रुस के बीच हुई एस-400 डिफेंस डील पर अमेरिका भारत को सधे शब्दों में चेतावनी दे चुका है। वहीं अब इस डील पर फिर से भारत पर ट्रंप दबाव डाल सकते हैं। 

 

अमेरिकी पनडुब्बियों से है इसका मुकाबला

खुद को रडार से बचाने और अटैक करने के मामले में अकुला पनडुब्बियां अमेरिका की नई पनडुब्बियों की टक्कर मानी जाती हैं। इस पनडुब्बी में न्यूक्लियर रिएक्टर लगा है लेकिन इसमें पारंपरिक हथियार मौजूद होंगे। यह पनडुब्बी मिलने से भारत की क्षमता में इजाफा होगा। यह पनडुब्बी लंबे समय तक पानी के नीचे रह सकती है, जिससे इसे डिटेक्ट कर पाना लगभग नामुमकिन होता है। साथ ही यह दुश्मन के जहाज या पनडुब्बी के लिए भी खतरा बन सकती है।

 

S-400 के कॉन्ट्रैक्ट के बाद सबसे बड़ी डील

पिछले साल दोनों देशाें के बीच 5.5 अरब डॉलर (38.9 हजार करोड़ रुपए) में S-400 की डील साइन हुई थी। उसके बाद यह सबसे बड़ी डील होने जा रही है। Economic Times के मुताबिक यह डील 7 मार्च को साइन होने की संभावना है। रूसी शिपयार्ड में इस पर काम किया जाएगा जिसके बाद यह पनडुब्बी 2025 तक तैयार हो जाएगी। भारत के हवाले कर देने के बाद इस पनडुब्बी में भारतीय कम्युनिकेशन सिस्टम और सेंसर फिट किया जाएगा।

 

बढ़ जाएगी Chakra-II की लीज

चक्र-2 की लीज 2022 में खत्म हो रही है। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि चक्र-3 के मिलने से पहले तक इसकी लीज पांच साल के लिए बढ़ाई जा सकती है। चक्र-3 के सेना में शामिल होते ही यह चक्र-2 की जगह ले लेगा और तकरीबन 10 साल तक सेवा में रहेगा। इससे पहले भारत ने रूस ने 1988 में INS Chakra को तीन साल की लीज पर लिया था। दूसरी पनडुब्बी को 2012 में नौसेना में शामिल किया गया।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन