विज्ञापन
Home » Economy » PolicyIndia's 5 large scams, due to which the country suffered losses

इन बड़े घोटालों से देश को हुआ लाखाें करोड़ों का नुकसान, जानिए इन Scams के बारें में सबकुछ

जिसकी वजह से CBI और कोलकाता पुलिस में ठनी, वह शारदा चिटफंड घोटाला भी इनमें से एक है

1 of

 

नई दिल्ली। शारदा और रोजवैली घोटाले में आरोपों से घिरी पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्रीय जांच ब्‍यूरो (सीबीआई) के बीच विवाद अपने चरम पर पहुंच गया है। राज्‍य की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी रविवार रात से ही सीबीआई के खिलाफ धरने पर बैठी हैं। उन्‍होंने आरोप लगाया है कि देश में 'सुपर इमरजेंसी' लगी है और राजनीतिक विद्वेष के तहत बीजेपी सीबीआई का इस्‍तेमाल उनके खिलाफ कर रही है। पश्चिम बंगाल में रविवार को सीबीआई अफसरों के कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पहुंचने का मामला सोमवार को लोकसभा में भी छाया रहा। इस सबके पीछे शारदा चिटफंड घोटला है। सिर्फ शारदा ही नहीं देश में कई बड़े वित्तीय घोटालों ने देश का नुकसान किया है।

कोयला घोटाला, साल 2012


घोटाले की रकम: 1.86 लाख करोड़
सरकार ने निजी और सरकारी कंपनियों को कोयला खादानों का आवंटन किया इस पर सामने आई कैग रिपोर्ट ने खुलासा किया कि गलत तरीके से कोयला आवंटित की गईं इन खदानों से देश को करीब 1.86 लाख करोड़ रुप का नुकसान हुआ सितंबर 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने 218 में से 214 खदानों के आवंटनों को रद्द कर दिया

 

शारदा घोटाला, साल 2013
घोटाले की रकम:  2460 करोड़ रुप

शारदा घोटाला पहली बार अप्रैल 2013 में सामने आया था और कथित तौर पर ये घोटाला 2460 करोड़ रुपए की कुल राशि के आसपास है जिसमें 80 प्रतिशत धन अभी भी अदा नहीं किया गया हैं। शारदा समूह ने 1.7 मिलियन से अधिक जमाकर्ताओं से लगभग 200 से 300 अरब रुपए इकट्ठा किए। कंपनी जो 2006 में शुरू हुई 2013 में ठप हो गई। शारदा चिटफंड ग्रुप के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर सुदीप्त सेन ने कई स्कीमों के जरिए बंगाल और ओडिशा के करीब 14 लाख निवेशकों से पैसा जुटाया और उन्हें ठगा
 

2जी स्पेक्ट्रम घोटाला, साल 2008

घोटाले की रकम: 1.76 लाख करोड़
2जी स्पेक्ट्रम मामलों में मंत्रियों ने कथित तौर पर मोबाइल कंपनी को फायद पहुंचाने के लिए आनन-फानन में मोबाइल स्पेक्ट्रम का आवंटन कर दिया था. इससे देश के राजस्व को 1.76 करोड़ लाख करोड़ का नुकसान हुआपूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा और दयानिधी मारन पर कार्रवाई शुरू हुई और बड़ी कंपनियों के पदाधिकारी को जेल की हवा खानी पड़ी। 

वक्फ बोर्ड जमीन घोटाला, साल 2012

घोटाले की रकम: 1.5-2 लाख करोड़
कर्नाटक के राज्य अल्पसंख्यक आयोग ने पूर्व सीएम डीवी सदानंद गौड़ा को रिपोर्ट दाखिल करते हुए बताया कि कर्नाटक वक्फ बोर्ड की निगरानी में 27000 एकड़ जमीन पर अवैध खनन हो रहा है गैरकानूनी तौर पर हो रहे खनन में 50 फीसदी जमीन वक्फ बोर्ड की थी जिसमें नेता और बोर्ड सदस्य भी शामिल थे

 

सहारा हाउसिंग बॉन्ड घोटाला, साल 2010

 

घोटाले की रकम: 24 हजार करोड़

 

सेबी के नियमों का उल्लंघन करते हुए उद्योगपति सुब्रत रॉय सहारा ने 2.96 करोड़ निवेशकों के लिए बॉन्ड जारी किए, जो पूरी तरह गैरकानूनी था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन