विज्ञापन
Home » Economy » PolicyIncome And Expenditure Of Regional Parties In FY 2017-18

क्षेत्रीय पार्टियों में से सबसे अमीर है अखिलेश की समाजवादी पार्टी, खर्च भी करती है सबसे ज्यादा

मेंबरशिप फीस और डोनेशन से होती है पार्टियों की सबसे ज्यादा आय

Income And Expenditure Of Regional Parties In FY 2017-18

Income And Expenditure Of Regional Parties In FY 2017-18: वित्त वर्ष 2017-18 में देश की सभी क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टियों में से सबसे ज्यादा कमाई समाजवादी पार्टी की हुई। 2017-18 में 37 क्षेत्रीय पार्टियों की कुल कमाई 237.27 करोड़ रुपए थी। इसमें से समाजवादी पार्टी की कमाई 47.19 करोड़ रुपए रही। खर्च के मामले में भी समाजवादी पार्टी सबसे आगे रही। एक साल में पार्टी ने कुल 34.539 करोड़ रुपए खर्च किए। वहीं अगर बात की जाए कमाई के स्रोतों की, तो पार्टियों की कमाई सबसे ज्यादा मेंबरशिप फीस से होती है।

 

नई दिल्ली.

वित्त वर्ष 2017-18 में देश की सभी क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टियों में से सबसे ज्यादा कमाई समाजवादी पार्टी की हुई। 2017-18 में 37 क्षेत्रीय पार्टियों की कुल कमाई 237.27 करोड़ रुपए थी। इसमें से समाजवादी पार्टी की कमाई 47.19 करोड़ रुपए रही। खर्च के मामले में भी समाजवादी पार्टी सबसे आगे रही। एक साल में पार्टी ने कुल 34.539 करोड़ रुपए खर्च किए। वहीं अगर बात की जाए कमाई के स्रोतों की, तो पार्टियों की कमाई सबसे ज्यादा मेंबरशिप फीस से होती है।

 

रीजनल पार्टियों की कुल कमाई में से 20 फीसदी कमाई सपा की

असोसिएशन फाॅर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स की रिपोर्ट के मुताबिक 37 क्षेत्रीय पार्टियों की कुल कमाई 2017-18 में 237.27 करोड़ रुपए रही। इसमें से 19.89 फीसदी हिस्सेदारी समाजवादी पार्टी की रही। सपा ने 47.19 करोड़ रुपए कमाए। दूसरे नंबर पर 35.748 करोड़ रुपए (कुल में से 15.07 फीसदी) की कमाई के साथ DMK रही। 27.27 करोड़ रुपए कमाई (कुल में से 11.49 फीसदी) के साथ TRS तीसरे नंबर पर रही। इन तीनों पार्टियों की कुल कमाई 110.21 करोड़ रुपए रही। यह सभी क्षेत्रीय पार्टियों की कुल कमाई का 46.45 फीसदी रहा।

 

 

पार्टियों ने किए कुल 170.45 करोड़ रुपए खर्च

सभी 37 क्षेत्रीय पार्टियों ने वित्त वर्ष 2017-18 में कुल 170.45 करोड़ रुपए खर्च किए। इसमें से सबसे ज्यादा खर्च भी समाजवादी पार्टी ने किया। सपा ने 34.539 करोड़ रुपए खर्चे। इसके बाद डीएमके ने 27.47 करोड़ रुपए खर्च किए और TDP ने 16.73 करोड़ रुपए खर्च किए। इन तीनों पार्टियों ने कुल खर्च की गई रकम में से 46.19 फीसदी खर्च किया।

 

सबसे ज्यादा कमाई हुई मेंबरशिप फीस से

पार्टियों की कमाई के प्रमुख स्रोत रहे- मेंबरशिप फीस, डोनेशन और कंट्रीब्यूशन, बैंक इंटरेस्ट, इलेक्टोरल बॉन्ड्स, कूपन की बिक्री, कैपीटल गेन और लॉस, प्लॉट, कृषि भूम आदि की बिक्री। इसमें से मेंबरशिप फीस से सबसे ज्यादा 86.6 करोड़ रुपए की कमाई हुई। डोनेशन से 71.27 करोड़ रुपए और बैंक इंटरेस्ट से 38.335 करोड़ रुपए की कमाई हुई।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन