विज्ञापन
Home » Economy » Policyicici pru regular savings fund gives better returns

आईसीआईसीआई प्रू आरएसएफ का निफ्टी से बेहतर रिटर्न,  निफ्टी 50 हाइब्रिड को छोड़ा पीछे

आंकड़ों के मुताबिक यह फंड मध्यम स्तर के जोखिम वाले निवेशकों के लिए इक्विटी में बेहतर फंड साबित हुआ है

icici pru regular savings fund gives better returns

icici pru regular savings fund gives better returns : अग्रणी म्यूचुअल फंड कंपनी आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड के रेगुलर सेविंग फंड (आरएसएफ) ने सिस्टेमेटिक विथड्राल प्लान (एसडब्ल्यूपी) में बेहतर रिटर्न दिया है और इसने निफ्टी 50 हाइब्रिड को पीछे छोड़ दिया है।

मुंबई- अग्रणी म्यूचुअल फंड कंपनी आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड के रेगुलर सेविंग फंड (आरएसएफ) ने सिस्टेमेटिक विथड्राल प्लान (एसडब्ल्यूपी) में बेहतर रिटर्न दिया है और इसने निफ्टी 50 हाइब्रिड को पीछे छोड़ दिया है। आंकड़ों के मुताबिक यह फंड मध्यम स्तर के जोखिम वाले निवेशकों के लिए इक्विटी में बेहतर फंड साबित हुआ है और इसे आईसीआईसीआई प्रू एमआईपी 25 के नाम से भी जानते हैं और यह कंजरवेटिव हाइब्रिड फंड कटेगरी में आता है। यह फंड मूलरूप से ऋण प्रतिभूतियों और मनी मार्केट संसाधनों के इक्विटी में निवेश करता है। सेबी के नियमों के मुताबिक कुल परिसंपत्ति का इक्विटी में 10-25 फीसदी निवेश करता है जबकि बाकी ऋण प्रतिभूतियों में करता है।

एसडब्ल्यूपी आपको म्यूचुअल फंड स्कीम से हर महीने या किसी समयावधि पर राशि निकालने की सुविधा देता है।

आंकड़े बताते हैं कि इस फंड ने 3 साल में 11.53 फीसदी का रिटर्न दिया है, जबकि निफ्टी हाइब्रिड कंपोजिट डेट ने 9.13 फीसदी का रिटर्न दिया है। जो निवेशक रिटायरमेंट के करीब होते हैं या फिर नियमित आय की उम्मीद में रहते हैं वे रिटायरमेंट राशि का कुछ हिस्सा इस फंड में एसडब्ल्यूपी के लिए लगा सकते हैं। एसडब्ल्यूपी आपको म्यूचुअल फंड स्कीम से हर महीने या किसी समयावधि पर राशि निकालने की सुविधा देता है।

ऋण प्रतिभूतियों में यह फंड मूलरूप से सरकारी प्रतिभूतियों और कॉर्पोरेट बांड में निवेश करता है

यह फंड मल्टी कैप का नजरिया अपनाता है और इसने बाजार के मंदी में भी ऊंचा रिटर्न दिया है और लेकिन तेजी के बाजार में नियंत्रित रिटर्न दिया है। ऋण प्रतिभूतियों में यह फंड मूलरूप से सरकारी प्रतिभूतियों और कॉर्पोरेट बांड में निवेश करता है। लंबे समय में पूंजी में बढ़त के लिए निवेशक इस फंड को विकल्प के रूप में देख सकते हैं। एसडब्ल्यूपी पेआउट्स को अगर तीन, पांच और सात सालों की अवधि में देखें तो इस स्कीम ने सालाना 11.6, 12.5 और 10.8 फीसदी का यील्ड दिया है, जबकि इस कटेगरी में शीर्ष क्वार्टाइल फंड्स का सालाना यील्ड 10, 11 और 10 फीसदी उपरोक्त अवधि में रहा है। अगर निवेशक निवेश के तीन साल के बाद एसडब्ल्यूपी की शुरुआत करता है तो उसे इंडेक्शेसन लाभ का दावा करने में मदद मिलती है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss