Home » Economy » PolicyGoyal says Railways studying dynamic pricing with discounts on tickets

एयरलाइंस की तरह रेलवे में भी मिलेगा डिस्काउंट, लागू होगी फ्लेक्सी फेयर स्कीम

आने वाले दिनों में रेलवे में भी एयरलाइन जैसा मॉडल लागू हो सकता है।

1 of

नई दिल्‍ली. आने वाले दिनों में रेलवे में भी एयरलाइन जैसा मॉडल लागू हो सकता है। दरअसल, शनिवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने  कहा कि भारतीय रेलवे डायनामिक प्राइसिंग के तहत एक ऐसे मॉडल का स्‍टडी कर रही है, जहां ट्रेन टिकट्स को डिस्‍काउंट पर ऑफर किया जा सकता है, जैसा एयरलाइंस में होता है।

 

गोयल  ने कहा कि फ्लेक्‍सी फेयर में केवल ट्रेन किराये में बढ़ोतरी ही क्‍यों होनी चाहिए। एयरलाइंस और होटल्‍स की तरह रेलवे को भी ऐसे रूट पर डिस्‍काउंट ऑफर करना चाहिए जहां ऑक्‍यूपेंसी तुलनात्‍मक रूप से कम है। हम इस संभावना पर गहनता से विचार कर रहे हैं। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्‍वनी लोहारी एयर इंडिया से आए हैं, इसलिए इस संभावना का अध्‍ययन भी वहीं करेंगे।

 

 

रेलवे कर्मचारियों के लिए 10 सिद्धांत

 

गोयल ने कहा कि यह समय इनोवेशन और आर्थिक लक्ष्‍यों को हासिल करने का है। गोयल ने रेलवे कर्मचारियों के लिए 10 सिद्धांत बताए निर्णायक नेतृत्‍व, सभी भागीदारों के साथ साझेदारी, परिणाम-उन्‍मुख कार्रवाई, समयबद्ध निष्‍पादन और तीव्र विवाद समाधान, मूल कारण विश्‍लेषण, कानून और पारदर्शिता के नियम, मुद्दों की वरियता, टेक्‍नोलॉजी पर ध्‍यान, इन्‍नोवेटिव वित्‍तपोषण और जवाबदेही तथा गहन निगरानी।

 

 

- इस सम्‍मेलन में राजधानी एक्‍सप्रेस ट्रेन के लिए राउंड ट्रिप की संभावना पर भी चर्चा की गई।

- गोयल ने कहा कि अभी दिल्‍ली से राजधानी मुंबई जाती है और स्‍टेशन पर साफ-सफाई के लिए घंटो रुकती है।

- इस समय में इसे एक छोटी यात्रा के लिए उपयोग किया जा सकता है। गोयल ने कहा कि इससे आगे बढ़कर वह चाहते हैं कि दिल्‍ली और मुंबई के बीच यात्रा को 11 घंटे में पूरा किया जाए और दोनों स्‍टेशन पर आधा-आधा घंटे में इसकी साफ-सफाई की जाए। जिससे राउंड ट्रिप को संभव बनाया जा सकेगा।  

- गोयल ने यह भी सुझाव दिया कि राजधानी एक्‍सप्रेस को दिल्‍ली से शाम चार बजे के बजाये पांच बजे चलाया जाए, जिससे लोगों को काम करने के लिए एक घंटा और अधिक मिलेगा।

- इसी प्रकार यह ट्रेन मुंबई सुबह 6 बजे के बजाये 7 बजे पहुंचे, जिससे लोगों को सोने के लिए अतिरिक्‍त एक घंटा मिल सकेगा।

-रेल मंत्रालय के मुताबिक, गोयल ने समयबद्ध अनुपालन पर जोर दिया ताकि लागत लक्ष्‍य को हासिल किया जा सके और प्रदर्शन में सुधार लाया जा सके।    ये भी पढ़ें - 

 

https://money.bhaskar.com/news/MON-SME-OPP-UTLT-railways-introduces-online-bill-tracking-system-for-vendors-contractors-5768595-NOR.html?ref=srh

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट