Advertisement
Home » Economy » PolicyModi government new plan, direct flights to Ayodhya soon

मोदी सरकार का नया प्लान, जल्द ही रामलला के अयोध्या तक लिए सीधी उड़ान सेवा

इन मार्गों पर उड़ान भरने के लिए इन एयरलाइंस कंपनियों को मिली है मंजूरी

1 of

नई दिल्ली। जहां अयोध्या का राम मंदिर विवाद लगातार सुर्खियों में हैं। वहीं इस बीच अयोध्या के लिए अच्छी खबर है। जल्द ही विवादों से घिरे अयोध्या शहर को वायुमार्ग से जोड़ा जाएगा यानी देश के हवाई नक्शे में इस शहर का नाम भी शामिल हो जाएगा। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अयोध्या के फैजाबाद हवाईअड्डे से गाजियाबाद के हिंडन हवाई अड्डे के लिए सीधी फ्लाइट सर्विस शुरू की जाएगी। फिलहाल, योजना पर काम किया जा रहा है।

 

इन कंपनियों को मिली है मंजूरी

सरकार ने क्षेत्रीय संपर्क योजना उड़ान के तीसरे चरण में 235 नए वायुमार्ग शुरू करने की घोषणा की है। नागर विमानन मंत्रालय के अनुसार, इन मार्गों पर स्पाइसजेट, इंडिगो, जेट एयरवेज, एयर इंडिया की अनुषंगी अलायंस और टर्बो एविएशन कंपनियों को परिचालन की अनुमति दी गई है।


 

सीप्लेन को भी मिली मंजूरी

योजना के तहत मंत्रालय ने स्पाइसजेट और टर्बो एविएशन को सीप्लेन का परिचालन करने की भी मंजूरी दे दी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उड़ान-3 के तहत 11 कंपनियों को 235 मार्ग दिए गए। नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि इन मार्गों से 69.30 लाख सीट जुड़ेंगे। इनमें से एक लाख से अधिक सीटें सीप्लेन के जरिए जुड़ेंगी।

 

 

राम जन्मभूमि विवाद में केन्द्र सरकार ने बड़ा कदम

बता दें कि हाल ही में अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद में केन्द्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर 1993 में अयोध्या में अधिगृहित की गई 67.703 एकड़ जमीन में से 0.313 एकड़ विवादित भूमि छोड़ कर बाकी की जमीन राम जन्मभूमि न्यास व अन्य भू मालिकों को वापस करने की इजाजत मांगी है। सरकार ने कोर्ट से मामले में यथास्थिति कायम रखने का 31 मार्च 2003 का आदेश रद करने या बदलने की गुहार लगाई है ताकि वह अयोध्या भूमि अधिग्रहण को सही ठहराने वाले संविधान पीठ के इस्माइल फारुकी फैसले के मुताबिक अपने दायित्व का निर्वाह कर सके।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement