Home » Economy » PolicyNew Gold Policy this diwali

दिवाली पर आ सकती है सरकार की नई गोल्ड पॉलिसी, बनेगा गोल्ड बोर्ड

बुलियन एक्सचेंज की भी होगी स्थापना, गोल्ड पासबुक के लिए बैंकों से बातचीत

1 of

नई दिल्ली. दिवाली के आसपास सरकार नई गोल्ड पॉलिसी (सोना नीति) ला सकती है। अभी भारत में कोई गोल्ड पॉलिसी नहीं है। गोल्ड पॉलिसी लाने के पीछे सरकार का मकसद इस क्षेत्र को पूर्ण रूप से संगठित बनाने के साथ इसके निर्यात को बढ़ाना है। गोल्ड के निर्यात बढ़ने से विदेशी मुद्रा के सृजन के साथ रोजगार में बढ़ोतरी होगी।

 

गोल्ड बोर्ड एवं बुलियन एक्सचेंज की स्थापना

सरकार नई गोल्ड पॉलिसी के तहत सोने को खरीद कर घरों में रखने के चलन को हतोत्साहित करेगी। इस काम के लिए बैंकों में गोल्ड पासबुक खोलने की विशेष व्यवस्था की जा रही है। वहीं सोने के घरेलू कारोबार को नियंत्रित करने के लिए गोल्ड बोर्ड एवं बुलियन एक्सचेंज की भी स्थापना हो सकती है। इस मसले पर बैंकों के साथ वित्त मंत्रालय परामर्श कर रहा है।

 

फरवरी में शुरू हो गई थी गोल्ड पॉलिसी पर चर्चा

इस साल फरवरी में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने एक विस्तृत गोल्ड पॉलिसी लाने की बात कही थी। उसके बाद नीति आयोग ने इस साल अगस्त में गोल्ड के मसले पर अपने ड्राफ्ट के जरिए सरकार को कई सलाह दी थी। नीति आयोग ने सरकार से सोने के आयात पर लगने वाले 10 फीसदी के शुल्क को कम करने के साथ सोने की बिक्री पर 3 फीसदी के जीएसटी को भी घटाने के लिए कहा था।

 

आगे पढ़े

गोल्ड सेक्टर में रोजगार सृजन मुख्य लक्ष्य  

वाणिज्य मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक सरकार का मुख्य मकसद गोल्ड सेक्टर में अधिक से अधिक रोजगार का सृजन करना है। घरेलू गोल्ड इंडस्ट्री के विकास से जेम्स व ज्वेलरी के निर्यात में इजाफा होगा जिससे अधिक से अधिक रोजगार निकलेंगे। भारत से होने वाले वस्तुओं के कुल निर्यात में जेम्स व ज्वेलरी निर्यात की हिस्सेदारी 15 फीसदी के आसपास है। जेम्स एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ने सरकार से जेम्स व ज्वेलरी निर्यात पर और अधिक इंसेंटिव देने की मांग की है।

 

आगे पढ़े

 

घरों की जगह बैंकों में सोना रखने के लिए प्रोत्साहित करना

मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक सरकार चाहती है कि लोग घरों की जगह अपना सोना बैंक में रखे। इसलिए सरकार बैंकों से बातचीत कर रही है। नीति आयोग के परामर्श के मुताबिक बैंकों में सोना रखने के लिए आपको बैंक में सोना ले जाकर जमा करने की जरूरत नहीं होगी। आप उस दिन की सोना बिक्री दर के मुताबिक बैंक में पैसा जमा करेंगे और आपके पासबुक पर उतना सोना चढ़ जाएगा। मान लीजिए आपने बैंक में 10 हजार रुपए जमा किए औऱ सोने का मूल्य 30,000 रुपए प्रति 10 ग्राम चल रहा है तो आपके पासबुक पर 3 ग्राम से थोड़ा अधिक सोना चढ़ जाएगा।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट