Home » Economy » PolicyGoogle CEO Sleeping On The Floor Of Rented House

कभी गूगल के CEO के पास नहीं हुआ करता था पैसे, किराए के मकान के फर्श पर सोते थे पिचाई

एक इंटरव्यू में सुंदर पिचाई ने बयान की अपने तंगहाली के दिनों की दास्तां

1 of

नई दिल्ली। आज भले सुंदर पिचाई दुनिया के नंबर वन सर्च इंजन गूगल के CEO गूगल के सीईओ है, अरबो रुपए के संपत्ति के मालिक हैं लेकिन कभी उनकी जिन्दगी तंगहाली से गुजरी थीं। वे अपनी रातें किराए के मकान के फर्श पर सोकर गुजारते थे। हाल ही में भारतीय मूल के गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने न्यूयार्क टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में अपने तंगहाली के दिनों की दास्तां को बताया। इंटरव्यू के दौरान उन्होंने अपने स्ट्रगल के दिनों को याद करते हुए बताया कि वह कैसे चेन्नई में पले-बढ़े हैं।

उन्होंने कहा, ‘मेरा जीवन बेहद साधारण रहा है जो अभी की दुनिया के मुकाबले काफी बेहतर था। हम एक मामूली घर में रहते थे जिसे किराए पर भी लगाया गया था। हम कमरे के फर्श पर सोते थे।

 

आगे पढ़ें : ‘उस समय हमारे घर में रेफ्रिजरेटर आना भी बड़ी बात थी’

 

 

‘उस समय हमारे घर में रेफ्रिजरेटर का आना बड़ी बात थी’

सुंदर पिचाई ने इंटरव्यू में बताया, 'मैं जब बड़ा हो रहा था मैंने उस दौरान काफी कुछ देखा है। दूसरे घरों में रेफ्रिजरेटर थे, हमारे यहां उस समय रेफ्रिजरेटर आना हमारे लिए बड़ी बात थी।' किताबें पढ़ने के शौकीन सुंदर पिचाई के पास जब भी समय होता है वे किताबें पढ़ना पसंद करते हैं। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से पहले सुंदर पिचाई ने आइआइटी खड़गपुर से पढ़ाई की है। स्टेनफोर्ड में उन्होंने मेटीरियल साइंस एंड इंजीनियरिंग में एमएस किया है। 

आगे पढ़ें :

2004 में गूगल में नौकरी शुरू की 
सुंदर पिचाई ने यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया के वॉर्टन स्कूल से एमबीए भी किया है। उन्होंने 2004 में सर्च इंजन गूगल ज्वाइन किया और तब वो गूगल क्रोम ब्राउजर विकसित करने वाली टीम का हिस्सा थे। 10 साल बाद उन्हें प्रोडक्ट इंचार्ज बनाया गया जिसमें सर्च, ऐड और एंड्रॉयड शामिल थे। 10 अगस्त, 2015 से गूगल CEO के तौर पर चुने गए थे। गूगल में इस मुकाम तक पहुंचने वाले वे पहले भारतीय हैं। पिचाई ने CEO बनने के बाद से 2016 में गूगल की सेल में 22.5% का इजाफा हुआ है। यही वजह है कि इंटरनेट ऐड हासिल करने वाली टॉप कंपनी है। सुंदर पिचाई की सैलरी 200 मिलियन डॉलर यानी करीब 13 अरब रुपए के आसपास है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट