विज्ञापन
Home » Economy » PolicyHaryana, UP and Uttarakhand will make the journey easier, starting from the National Highway, costing Rs 3000 crore

हरियाणा, यूपी और उत्तराखंड का होगा सफर आसान, शुरु होने जा रहा है नेशनल हाईवे का काम, लागत 3000 करोड़ रुपए

 297 किमी. लंबा होगा राष्ट्रीय राजमार्ग

1 of

नई दिल्ली। हरियाणा, पश्चिम यूपी और उत्तराखंड वालों के लिए खुशखबरी है। जल्द ही यहां आने-जाने वाले लोगों के लिए सफर आसान होने वाला है। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है। पानीपत से वाया शामली व मुजफ्फरनगर होते हुए नगीना (बिजनौर) से उत्तराखंड के कोटद्वार तक राष्ट्रीय राजमार्ग फोरलेन बनाया जाएगा। 3000 करोड़ रुप की लागत वाले इस प्रोजेक्ट की डिटेल रिपोर्ट बनानी शुरू कर दी है। अधिकारियों का दावा है कि इस कार्य को दो माह में पूरा कर लिया जाएगा। इसके लिए सिवाह से सनौली रोड पर अलग से बाईपास निकाला जाएगा। 

 

297 किमी. लंबा होगा राष्ट्रीय राजमार्ग


पानीपत-शामली, मुजफ्फरनगर, बिजनौर एवं नगीना तक प्रस्तावित फोरलेन मार्च 2018 में घोषित हो चुका है। इस राष्ट्रीय राजमार्ग को भारत सरकार की ओर से 709 एडी नंबर आवंटित किया जा चुका है। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण गाजियाबाद के सहायक अभियंता रविद्र आर्य इस मार्ग की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) लगभग एक साल से तैयार करने में जुटे है। इसके साथ ही वह कोटद्वार को जोड़ने वाले इस राष्ट्रीय राजमार्ग की सितंबर 2017 में शामली में 4426 हेक्टेयर भूमि में तैयार होने वाले नए बाइपास की जद में आने वाले किसानों के साथ बैठक कर चुके है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पानीपत से लेकर शामली, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, नगीना में कोटद्वार तक जोड़ने वाले मार्ग तक 207 किमी राष्ट्रीय राजमार्ग की डीपीआर दो माह में बनकर तैयार हो जाएगी। डीपीआर तैयार हो जाने के बाद इस फोरलेन की प्रोजेक्ट रिपोर्ट में किस शहर में बाईपास, ओवरब्रिज, पुल व अंडरपास बनेंगे। किसानों का मुआवजा कितना होगा। डीपीआर के आधार पर भारत सरकार से मुआवजा और चौड़ीकरण एवं बाईपास की धनराशि का इस्टीमेट तैयार करके बजट मांगा जाएगा।

 


 

एनएचएआइ किसानों के साथ कर रहा है बैठक

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण गाजियाबाद के सहायक अभियंता रविद्र आर्य इस मार्ग की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) लगभग एक साल से तैयार करने में जुटे है। इसके साथ ही वह कोटद्वार को जोडऩे वाले इस राष्ट्रीय राजमार्ग की सितंबर 2017 में शामली में 4426 हेक्टेयर भूमि में तैयार होने वाले नए बाईपास की जद में आने वाले किसानों के साथ बैठक कर चुके हैं। इस राष्ट्रीय राज मार्ग और नए बाईपास की एलएन मालदीप कंपनी की ओर से सर्वे कराया जा चुका है। कंपनी डिटेल प्रोजेक्ट तैयार करने में जुटी हुई है। 

 

गौरतलब है कि मुजफ्फरनगर में दिल्ली- देहरादून राजमार्ग पर पिन्ना गांव से लेकर दक्षिण दिशा में वहलना चौक से होते देहरादून मार्ग तक पूर्व में बाइपास है। पानीपत -नगीना तक कोटद्वार को जोड़ने वाले मार्ग पर पिन्ना से उत्तर की ओर नया बाइपास बनने जाने से रिग रोड हो जाएगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन