Home » Economy » Policyचारा घोटाला - देवघर ट्रेजरी मामले में लालू यादव समेत 16 आरोपियों को आज सुनाई जाएगी सजा -Fodder scam updates

चारा घोटाला: लालू यादव समेत 16 आरोपियों को अब गुरुवार को सुनाई जाएगी सजा

बिहार के चारा घोटाला से जुड़े देवघर ट्रेजरी मामले में सीबीआई कोर्ट आज बुधवार को सजा सुना सकता है।

1 of

दिल्‍ली. बिहार के चारा घोटाला से जुड़े देवघर ट्रेजरी मामले में सीबीआई कोर्ट सजा का एलान गुरुवार को करेगा। इस मामले में बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव समेत 16 आरोपियों को 23 दिसंबर को दोषी करार दिया जा चुका है। वैसे तो इस मामले में फैसला बुधवार को किया जाना था लेकिन एडवोकेट विंदेश्वरी प्रसाद का निधन होने की वजह से फैसला गुरुवार को सुनाने का फैसला किया गया। 

 

एडवोकेट प्रसाद के निधन के चलते कोर्ट के वकीलों ने 1 बजे के बाद काम नहीं करने का फैसला लिया। बार एसोसिएशन ने इसकी जानकारी कोर्ट को दे दी थी। इस केस में सजा सुनाए जाने के पहले 16 आरोपियों को अपनी बात रखने का वक्त दिया जाता। यह कार्यवाही 1 बजे तक पूरी नहीं होती। इसलिए कहा जा रहा है कि सजा अब गुरुवार को सुनाई जाएगी।

 

950 करोड़ के चारा घोटाले में यह 33वां और लालू से जुड़ा दूसरा फैसला है। बता दें कि लालू यादव पर चारा घोटाले से जुड़े 7 मामले दर्ज हैं। इनमें से चाईबासा ट्रेजरी केस में उन्हें 5 साल की सजा हो चुकी है। हालांकि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उन्‍हें जमानत दे दी थी। बाकी के 5 मामलों पर सुनवाई चल रही है। लालू यादव फिलहाल रांची सेंट्रल जेल में बंद हैं। 

 

क्या है देवघर ट्रेजरी मामला?

बिहार सरकार द्वारा 1991 से 1994 के बीच मवेशियों की दवा और चारा खरीदने के लिए सिर्फ 4 लाख 7 हजार रुपए ही पास किए गए थे, जबकि इस दौरान देवघर ट्रैजरी से 6 फर्जी अलॉटमेंट लेटर से 89 लाख 4 हजार 413 रुपए निकाले गए। जनवरी 1996 में इस घोटाले के बारे में पता चला।

 

लालू पर क्या आरोप?

बिहार के सीएम और वित्त मंत्री लालू प्रसाद पर आरोप था कि उन्होंने पद का दुरुपयोग करते हुए मामले की इंक्वायरी के लिए आई फाइल को 5 जुलाई 1994 से 1 फरवरी 1996 तक अटकाए रखा। फिर 2 फरवरी 1996 को जांच का आदेश दिया। 

 

​लालू को कितनी सजा की संभावना?

लालू के वकील प्रभात कुमार का कहना है कि लालू और बाकी दोषियों को अधिकतम 7 साल और न्‍यूनतम 1 साल की जेल होगी। वहीं, सीबीआई के एक अधिकारी के मुताबिक, इस मामले में लालू को गबन की धारा 409 के तहत 10 साल तक की सजा और धारा 467 के तहत उम्रकैद भी हो सकती है। हालांकि, लालू के वकील ने इस संभावना को सिरे से खारिज कर दिया।

 

किस-किस को सुनाई जाएगी सजा

- लालू प्रसाद यादव, बिहार के पूर्व सीएम
- जगदीश शर्मा, पॉलिटिकल लीडर
- आरके राणा, पॉलिटिकल लीडर
- बेक जूलियस, आईएएस ऑफिसर
- फूलचंद सिंह, आईएएस ऑफिसर
- महेश प्रसाद, आईएएस ऑफिसर
- कृष्ण कुमार, गवर्नमेंट इम्प्लॉई
- सुबीर भट्टाचार्य, ट्रेजरी ऑफिसर

 

ये भी दोषी

त्रिपुरारी मोहन प्रसाद, सुशील कुमार सिन्हा, सुनील कुमार सिन्हा, राजा राम जोशी, गोपीनाथ दास, संजय अग्रवाल, ज्योति कुमार झा, सुनील गांधी। ये लोग चारा सप्लायर्स व ट्रांसपोर्टर्स हैं। 

 

कुल कितने आरोपी थे?

- सीबीआई के एक अधिकारी के मुताबिक, इस केस में 38 लोगों को आरोपी बनाया गया था। इनमें से 11 लोगों की मौत हो चुकी है। 3 सरकारी गवाह बन गए थे। दो ने अपना गुनाह कबूल कर लिया था, जिन्हें 2006-07 में दोषी करार दिया गया था। बाकी बचे 22 आरोपियों पर केस चल रहा था। 

 

इन्‍हें किया जा चुका है बरी

- जगन्नाथ मिश्रा, बिहार के पूर्व सीएम 
- ध्रुव भगत, पूर्व पीएसी चेयरमैन 
- एसी चौधरी, पूर्व आईआरएस ऑफिसर 
- सरस्वती चंद्रा, चारा सप्लायर 
- सदानंद सिंह, चारा सप्लायर  
- विद्या सागर निषाद, पूर्व मंत्री

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट