Home » Economy » PolicyED to begin attaching Vijay Mallya properties from Thursday

विजय माल्‍या की संपत्तियां आज से ED करेगा जब्‍त, कोर्ट ने किया है भगोड़ा घोषित

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मंगलवार से शराब कारोबारी विजय माल्या की संपत्तियां जब्त करना शुरू करेगा।

1 of

नई दिल्ली. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मंगलवार से शराब कारोबारी विजय माल्या की संपत्तियां जब्त करना शुरू करेगा। बैंकों के 9000 करोड़ का लोन न चुकाने के आरोपी माल्‍या के खिलाफ यह कार्रवाई क्रिमिनल प्रोसिजर कोड सेक्शन-83 के तहत होगी। इसके तहत भगोड़ा घोषित अपराधियों की संपत्तियां जब्त की जाती हैं। बता दें कि विजय माल्‍या 2 मार्च 2016 को लंदन भाग गए थे। दिल्‍ली कोर्ट भी उन्‍हें समन का जवाब न देने को लेकर अपराधी घोषित कर चुका है। 

यह है ED का केस 

ईडी द्वारा दाखिल केस के मुताबिक, माल्या ने 1996, 1997 और 1998 में लंदन में हुई फार्मूला वन वर्ल्‍ड चैंपियनशिप के दौरान एक ब्रिटिश फर्म और कुछ यूरोपीय देशों को लगभग 1 करोड़ 29 लाख रुपए दिए थे। माल्या ने ये पैसे फार्मूला वन रेसिंग में किंगफिशर का लोगो दिखाने के लिए दिए थे। ईडी का आरोप है कि माल्या ने ये भुगतान आरबीआई से अनुमति लिए बगैर फॉरेन एक्सचेंज रेग्युलेटरी अथॉरिटी (फेरा) का उल्लंघन कर किया था। 

 

माल्या पर कुल कितना कर्ज?

- 31 जनवरी 2014 तक किंगफिशर एयरलाइन्स पर 17 बैंकों का 6,963 करोड़ रुपए बकाया था। इस कर्ज पर ब्‍याज के बाद माल्या की कुल देनदारी 9,432 करोड़ रुपए हो चुकी है।
- सीबीआई ने 1000 से भी ज्‍यादा पेज की चार्जशीट में कहा कि किंगफिशर एयरलाइन्स ने IDBI की तरफ से मिले 900 करोड़ रुपए के लोन में से 254 करोड़ रुपए का निजी इस्‍तेमाल किया।
- किंगफिशर एयरलाइन्स अक्टूबर 2012 में बंद हो गई थी। दिसंबर 2014 में इसका फ्लाइंग परमिट भी कैंसल कर दिया गया।


ब्रिटेन में चल रहा है प्रत्यर्पण केस

भारतीयों बैंकों का लोन न लौटाने पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) से जुड़े मामले में मुंबई की स्पेशल कोर्ट माल्या को भगोड़ा घोषित किया है। फरवरी 2017 में भारत ने ब्रिटेन सरकार से माल्या की वापसी के लिए रिक्वेस्ट भेजी थी। मार्च में ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे ने लंदन में अरुण जेटली से प्रोटोकॉल तोड़कर मुलाकात की थी। इस मुलाकात में माल्या को भारत को सौंपने पर चर्चा हुई थी। यूके सरकार ने आगे की कार्रवाई के लिए केस को डिस्ट्रिक्ट जज के पास भेजा। इसके बाद माल्या को एक्स्ट्राडीशन वारंट पर बीते अप्रैल अरेस्ट किया गया। वारंट जारी होने के बाद विजय माल्या खुद सेंट्रल लंदन पुलिस स्टेशन पहुंचे थे। फिलहाल माल्या बेल पर हैं, उनके खिलाफ प्रत्यर्पण मामले पर सुनवाई चल रही है। जून के अंत विजय माल्या पर कोई फैसला आ सकता है। विजय माल्या मामले में भारत का पक्ष रख रही सीबीआई को उम्मीद है कि विजय माल्या का भारत प्रत्यर्पण हो जाएगा।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट