Home » Economy » PolicyED raids Karti Chidambaram premises in Delhi and Chennai

कार्ति चिदंबरम के घर पर ED की रेड, पिता पी.चिदंबरम बोले एजेंसी के पास एक्शन का अधिकार नहीं

एयरसेल-मैक्सिस डील के तहत कार्ति चिदंबरम में दिल्ली-चेन्नई स्थित घरों पर ईडी ने शनिवार को छापेमारी की है।

ED raids Karti Chidambaram premises in Delhi and Chennai

नई दिल्ली। एयरसेल-मैक्सिस डील के तहत पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम में दिल्ली-चेन्नई स्थित घरों पर एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) ने शनिवार को छापेमारी की है। इस एक्शन पर पी.चिदंबरम के तरफ से कड़ी कार्रवाई प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने कहा कि ईडी ने घर पर रेड की है पर उसे कुछ मिला नही है। साथ ही उन्होंने कहा कि ईडी के पास पीएमएलए के तहत इस तरह से रेड डालने का अधिकार नहीं है।  इससे पहले एक दिसंबर को भी एजेंसियों ने कार्ति के ठिकानों पर सर्चिंग की थी।

 

एयरसेल -मैक्सिस डील के तहत एक्शन

 

न्यूज एजेंसी के मुताबिक ईडी ने फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड के 2006 में मिले एयरसेल-मैक्सिस डील केअप्रूवल को लेकर एक्शन किया  है। उसके अनुसार ये अप्रूवल उस वक्त मिला जब देश के फाइनेंस मिनिस्टर पी. चिदंबरम यानी कार्ति के पिता थे। पी चिदंबरम को 600 करोड़ रुपए तक के प्रोजेक्‍ट प्रपोजल्‍स को मंजूरी देने का अधिकार नहीं था। इससे ऊपर के प्रोजेक्‍ट के लिए कैबिनेट कमेटी ऑन इकोनॉमिक अफेयर्स की मंजूरी की जरूरत थी। यह मामला 3,500 करोड़ रुपए की एफडीआई की मंजूरी का था। कार्ति पर यह आरोप है कि 2013 में ऐसे ही एफआइपीबी क्लीयरेंस पाने वाली कंपनी को अपनी संपत्ति को किराये पर दिया था, लेकिन जांच एजेंसियों के बढ़ते शिकंजे को देखते हुए उन्होंने अपनी इस संपत्ति को बेच दिया। कार्ति पर ये भी आरोप है कि उन्होंने प्रोविजन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए )की कार्रवाई से परेशान होकर अपने कई बैंक अकाउंट्स बंद कर दिए और कई अकाउंट्स को बंद करने की कोशिश की।

 

चिदंबरम ने क्या बोला


इस कार्रवाई पर कांग्रेस पार्टी और पूर्व वित्त पी.चिदंबरम के तरफ से कड़ी प्रतिक्रिया आई है। कांग्रेस के स्पोक्सपर्सन रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि हमारे सीनियर लीडर पी. चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति के खिलाफ राजनीतिक साजिश की जा रही है। वहीं चिदंबरम ने कहा कि  ईडी के अफसरों ने छापेमारी की लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला। पीएमएलए के तहत कार्रवाई ईडी के अधिकार क्षेत्र में नहीं आती। ईडी के अफसर चेन्नई वाले घर में गए। लेकिन असली मजाक तो दिल्ली के जोरबाग स्थित मेरे घर में हुआ। अफसरों ने मुझसे कहा कि उन्हें लगा कि यहां का मालिक कार्ति है, जबकि ये घर मेरे नाम पर है। ईडी अधिकारियों को वहां कुछ नहीं मिला, लेकिन उन्हें अपनी कार्रवाई को जायज ठहराना था इसलिए उन्होंने कुछ सालों पहले सरकार की ओर संसद में दिए गए बयान के कागज ही ले लिए। मुझे आशंका है कि इस तरह की और कार्रवाई होंगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट