Home » Economy » PolicyMarket Erosion Of Dragon Raj, Celebrate Diwali Only Desi Style

बाजार में ड्रैगन राज का खात्मा, मनेगी देसी दिवाली

गिफ्ट से लेकर लाइट तक के बाजार पर चीनी आइटम की बिक्री कम

1 of

नई दिल्ली। इस दिवाली बाजारों में देसी आइटम्स की मांग है। ग्राहक चीनी आइटम नहीं बल्कि देसी आइटम की खरीदारी करना अधिक पसंद कर रहें हैं। चीनी सामान पिछले साल के मुकाबले काफी महंगे हो चुके हैं, इस कारण लोग उनकी खरीदारी नहीं कर रहे हैं। वहीं लोगों का रुझान देसी आइटम की तरफ ज्यादा दिख रहा है। दिल्ली के भागीरथ पैलेस में दिल्ली इलेक्ट्रिकल ट्रेडर्स एसोसिएशन के सचिव रविंदर कुमार गुप्ता बताते हैं,  इलेक्ट्रॉनिक बाजार पर पहले पूरी तरह  से चीनी सामान हावी था लेकिन सरकार ने गुणवत्ता को लेकर मानक सख्त कर दिये हैं। दरअसल पहले चीन के माल पर बीएसई (BSI) मानक का स्टीकर लग जाता था लेकिन सरकार ने अब आयातित माल पर बीएसआई मार्क की खुदाई करने का निर्देश दिया है। इस बार इलेक्ट्रॉनिक बाजार में बिक्री 50 फीसदी घट गई है।

 

आगे पढ़ें : लोग नहीं खरीद रहें है विदेशी गिफ्ट्स आइटम

 

 

लोग नहीं खरीद रहें है विदेशी गिफ्ट्स आइटम

सिर्फ चीनी सामानों पर ही नहीं गिफ्ट आइटम पर भी ड्रैगन की पकड़ खत्म होती जा रही है। बाजार में अब गिफ्ट आइटम कम ही दिख रहे हैं। अब अधिकतर गिफ्ट आइटम की खरीदारी आनलाइन हो रही है। बाजार में अब इंडोनेशिया से आयातित माल अधिक है लेकिन वहां से आया माल महंगा होता है। सदर बाजार में गिफ्ट आइटम बेचने वाली आकांक्षा बताती हैं कि उनकी बिक्री पिछले साल की तुलना में इस बार 60 फीसदी घट गयी है और इसी कारण वह अब अपनी दुकान में सजावटी सामान भी बेचने लगी हैं। उन्होंने कहा कि अधिकतर ग्राहक खरीदारी से पहले पूछते हैं कि क्या यह माल चीन का है और यह बताने पर कि अमूक सामान देश में निर्मित है तब ही वे उसे लेने में दिलचस्पी दिखाते हैं। एक अन्य दुकानदार पूर्णिमा गुप्ता ने बताया कि वह राजस्थान के अलवर से माल लेकर आई हैं और उनकी ग्राहकी अच्छी चल रही है। मालीवाड़ा में दीए, मूर्तियां और बंदनवार की दुकान लगाने वाले करण ने कहा कि उन्होंने कोलकाता और लखनऊ से माल मंगाया है। खरीदारों को चीन के सस्ते सामान में अब रुचि नहीं रही। वे कम खरीदारी करना चाहते हैं लेकिन माल अच्छा चाहते हैं।

 

आगे पढ़ें : ‘अब पूरी तरह से चीनी माल का हो रहा है बहिष्कार’

‘अब पूरी तरह से चीनी माल का हो रहा है बहिष्कार’

अखिल भारतीय व्यापारी महासंघ (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने बताया कि उनका संगठन पिछले दो साल से चीन के माल के बहिष्कार को लेकर अभियान चला रहा है और बाजार में इस अभियान का असर दिखने लगा है। उन्होंने कहा कि दुकानदारों में राष्ट्रीय भावना प्रबल हो रही है और इसी कारण चीन से माल मंगाने वाले आयातक पहले से 50 से 60 फीसदी कम माल मंगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले गिफ्ट आइटम बाजार पर एक तरह से चीन का एकाधिकार था लेकिन अब यह पूरा बाजार परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है और लोग परंपरागत तरीके से दिवाली मनाना चाह रहे हैं।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट