Home » Economy » Policyप्रधानमंत्री की यात्रा पर मांगा पाई पाई का हिसाब

प्रधानमंत्री की यात्रा पर मांगा पाई पाई का हिसाब

केंद्रीय सूचना आयोग (CIC) ने विदेश मंत्रालय को नोटिस जारी कर पीएम की यात्रा का हिसाब मांगा है...

1 of

नई दिल्‍ली. केंद्रीय सूचना आयोग (CIC) ने विदेश मंत्रालय को नोटिस जारी कर पीएम की यात्रा का हिसाब मांगा है। CIC की ओर से 2013 से 2017 तक प्रधानमंत्री के विदेश दौरे पर एयर इंडिया के विमान को किराए पर लेने के खर्चों से संबंधित दस्तावेजों का खुलासा करने का निर्देश दिया है। 2014 तक जहां मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री थे, वहीं उसके बाद से नरेंद्र मोदी इस पद पर काबिज हैं। 

 

नहीं मानी विदेश मंत्रालय की दलील 
मुख्य सूचना आयुक्त आरके माथुर ने विदेश मंत्रालय की उस दलील को खारिज कर दिया कि प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा के लिए भारतीय वायुसेना और एअर इंडिया की ओर से खर्च किए किए गए बिल की राशि, रिफरेंस नंबर और बिल की तारीख से जुड़े विवरणों के दस्तावेज एक जगह पर नहीं हैं। इस बाबत मांगी गई जानकारी का जवाब देने के लिए बड़ी संख्या में अधिकारियों को लगाना पड़ेगा।  

क्‍या है मामला 

बता दें कि यह मामला सेवानिवृत्त कमांडर लोकेश बत्रा से संबंधित है। बत्रा ने 2013-14 और 2016-17 के बीच प्रधानमंत्री के विदेश दौरे से संबंधित, चालान और अन्य रिकॉर्डों का विवरण मांगा था। बत्रा का आरोप है कि उन्‍हें उन्हें मंत्रालय की ओर से अधूरी जानकारी दी गई थी। इसी के चलते उन्होंने आयोग से संपर्क किया था। बता दें कि CIC सूचना अधिकार कानून से संबंधित मामले देखेने वाला शीर्ष अपीलीय ट्राईब्‍यूनल है। 

 

 

बिल जुटाना जरूरी 
सूचना आयुक्त ने कहा कि यात्रा से जुड़े जिन भी बिलों का भुगतान किया जाता है, उनसे जुड़े बिल जुटाना मंत्रालय के लिए जरूरी है। आयोग राय देते हुए कहा कि विदेश मंत्रालय को 'एयर इंडिया' से बत्रा को बिल उपलब्ध कराने के लिए कहना चाहिए। बता दें कि इससे पहले भी CIC ने विदेशी दौरों पर प्रधानमंत्री के जाने वाले प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों के बारे में जानकारी मुहैया कराने का आदेश दिया था। माथुर ने पीएमओ की ओर से ‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ का हवाला देते हुए इस पर जताई गई आपत्ति को खारिज कर दिया।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss