विज्ञापन
Home » Economy » PolicyDetergent brand Surf Excel faces backlash for its new Holi advertisement

देश का सबसे पुराना डिटर्जेंट पाउडर घिरा विवाद में, Hindustan Unilever के पोर्टफोलियाे का सबसे बड़ा ब्रांड है

हिंदुस्तान यूनिलीवर कंपनी का राजस्व लगभग 17,873.44 करोड़ रुपए का है

1 of

नई दिल्ली। इन दिनों सोशल मीडिया पर प्रसिद्ध डिटर्जेंट पाउडर कंपनी SurfExcel ट्रेंड कर रही है। कुछ दिनों पहले ही होली के मद्देनजर रिलीज हुए एक वीडियो विज्ञापन के बाद SurfExcel का भारी विरोध हो रहा है। विरोध का आलम इतना बढ़ गया कि सोशल मीडिया पर #BoycottSurfExcel ट्वीटर पर टॉप ट्रेंड करने लगा है। दरअसल, अपने ब्रांड का प्रचार करने के लिए होली से पहले सर्फ एक्सेल ने एक वीडियो एड जारी किया, जिसमें एक बच्ची दूसरे धर्म के बच्चे को रंगों से बचाकर उसके धार्मिक स्थल तक ले जाती है, इसके बदले में वह बच्चा, उसे धन्यवाद कहता है, इस विज्ञापन के सामने आने के बाद ही दक्षिण पंथ के लोगों ने इसका विरोध शुरू कर दिया है। बता दें कि हिंदुस्तान यूनिलीवर के पोर्टफोलियो में सर्फ एक्सेल सबसे बड़ा ब्रांड बना हुआ है। हिंदुस्तान यूनिलीवर कंपनी का राजस्व लगभग 17,873.44 करोड़ रुपए का है।

60 वर्षीय इस ब्रांड ने घरेलू डिटर्जेंट के शुरुआती दौर को देखा है

सन् 1959 में सर्फ एक्सेल पाउडर को लाॅन्च किया गया। उच्च डिटर्जेंट क्षमता वाले इस उत्पाद के प्रति उपभोक्ताओं में भरोसा पैदा किया। इस भरोसे का ही परिणाम है कि आज यह सबसे बड़ा ब्रांड बना हुआ है। बता दें कि सर्फ एक्सेल के लिए यहां तक का सफर इतना आसान भी नहीं रहा। ब्रांड को भी कई बार कसौटियों से गुजरना पड़ा। 60 वर्षीय इस ब्रांड ने घरेलू डिटर्जेंट के शुरुआती दौर को देखा है। लेकिन कंपनी की ओर से सर्फ एक्सेल हमेशा से ही एक प्रीमियम उत्पाद के रूप में पेश किया गया जहां इसने निरमा और घड़ी जैसे अन्य उत्पादों के साथ कीमत के मोर्चे पर मुकाबला किया।1990 के शुरुआती दशक के प्रतिस्पर्धी कंपनी प्रॉक्टर ऐंड गैंबल ने प्रीमियम खंड में एरियल लॉन्च किया था, जिसके साथ सर्फ एक्सेल को कड़ा मुकाबला करना पड़ा। लेकिन ब्रांड ने बाजार में अपनी पकड़ बनाए रखी और वह सभी प्रीमियम ब्रांडों पर भारी रहा।

 

कंपनी की सफलता का एक बड़ा कारण इसका नयापन है

 

कंपनी की सफलता का एक बड़ा कारण इसका नयापन है। कंपनी ने नए प्रयोगों को तवज्जो देती रही है। यही कारण है कि अन्य डिटर्जेंट भी जब सफेदी पर मुख्य दांव लगा रहे हैं तब भी कंपनी इसी कोशिश में रही है कि लोगों के बीच अब कैसे और क्या नया पेश किया जाए ताकि डिटर्जेंट के बाजार में कंपनी आगे रहे। यही कारण है कि आज सर्फ एक्सेल एक अलग तरह की पहचान बनाने में सफल रहा है।

आम तौर पर आज घरों में डिटर्जेंट का प्रयोग दाग छुड़ाने के साथ-साथ मशीन में कपड़े धोने के लिए होता है। इसलिए कंपनी अपने ब्रांड के तहत विविधता ला रही है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन