विज्ञापन
Home » Economy » PolicyDelhi may get strike in hotels 60 thousand tourists will have trouble

दिल्ली घूमने आ रहे हैं तो ठहरने का इंतजाम कर लें, यहां के होटल वाले जा रहे हैं स्ट्राइक पर

रोजाना आने वाले 60 हजार टूरिस्टों को होगी दिक्कत

1 of

नई दिल्ली। फायर और एमसीडी लगातार उन गेस्ट हाउसों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं जो आग से बचाव के नियम पूरे नहीं कर रहे हैं। इसी कार्रवाई के खिलाफ गेस्ट हाउस वालों ने माेर्चा खोलने की घोषणा कर दी है। होटल महासंघ का कहना है कि सोमवार को हम होम मिनिस्टर सत्येन्द्र जैन से मिलेंगे। अगर कोई समाधान नहीं निकला तो दिल्ली के गेस्ट हाउसों में स्ट्राइक भी हो सकती है। जो टूरिस्ट पहले से ही रह रहे हैं उन्हें बाहर नहीं किया जाएगा। केवल फ्रेश चेक-इन नहीं कराए जाएंगे।

 

राेजाना 60 हजार टूरिस्टों के लिए बड़ी दिक्कतें हो जाएगी

अगर ऐसा हुआ तो रोजाना दिल्ली में बाहर से आने वाले करीब 60 हजार टूरिस्टों के लिए बड़ी दिक्कतें हो जाएगी। इन पर्यटकों से गेस्ट हाउस सेक्टर का करीब 10 करोड़ रुपए का बिजनेस होता है।

 

 

'एक्शन लेने के इस तरीके का कर रहे हैं विरोध'

दिल्ली होटल महासंघ के अध्यक्ष अरुण गुप्ता और पहाड़गंज गेस्ट हाउस ओनर्स एसोसिएशन के सेके्रटरी अश्वनी अरोड़ा का कहना है कि हम फायर और एमसीडी द्वारा की जा रही कार्रवाई का विरोध नहीं कर रहे, बल्कि मनमाने तरीके से लिए जाने का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि अर्पित होटल की एनओसि दिसंबर 2017 में रिन्यू की गई थी।

 

 

अस्थायी रूप से एनओसी कैंसल की जाएगी

इस मामले में फायर विभाग के डायरेक्टर के अनुसार, किसी को परेशान नहीं किया जा रहा है। जांच में जो कमियां सामने आ रही है, उसके हिसाब से अस्थायी रूप से एनओसी कैंसल की जाएगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss