Home » Economy » PolicyDelhi cm arvind kejriwal to launch mukhyamantri teerth yatra yojana

सरकार कराएगी बुजुर्गों को तीर्थयात्रा, मनपसंद तीर्थस्थल पर जा सकेंगे

70 साल से अधिक उम्र के यात्रियों अपने साथ ले जा सकेंगे अटेंडेंट, नहीं देना होगा कोई चार्ज

1 of

 

नई दिल्ली। दिल्ली में रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए मुख्यमंत्री ने मुफ्त तीर्थ यात्रा योजना शुरू की है। दिल्ली सरकार की इस योजना के तहत सीनियर सिटीजन अपने जीवन काल में एक बार तीन दिन-दो रातों के लिए दिल्ली सरकार के खर्च पर तीर्थ यात्रा कर सकते हैं। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल राष्ट्रीय राजधानी के वरिष्ठ नागरिकों के लिए 'मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना' को आज लॅान्च करेंगे। सीएम केजरीवाल की इस योजना को जनवरी में ही हरी झंडी मिल गई थी जिसपर काम होने के बाद अब इसे लॅान्च किया जा रहा है। आज केजरीवाल सरकार इस योजना के लिए तैयार की गई वेबसाइट को लॅान्च करेगी और उसके बाद अॅानलाइन आवेदन किया जा सकेगा। तीर्थ यात्रा योजना के लिए सरकार ने 5 रूट्स फाइनल किए हैं। 

 

किसी भी जगह के लिए अप्लाई कर सकेंगे

दिल्ली तीर्थ यात्रा कमिटी के एक अधिकारी ने बताया 'वरिष्ठ नागरिक अपनी पसंद के हिसाब से पांचों तीर्थ स्थलों में से किसी भी जगह के लिए अप्लाई कर सकेंगे। इस योजना के लिए चार तरह के फॅार्म तैयार किए गए हैं।' उन्होंने बताया जो नागरिक खुद से अॅानलाइन अप्लाई नहीं कर पाते हैं वे स्थानीय विधायक अॅाफिस, डिविजनल कमिश्नर ऑफिस या तीर्थयात्रा कमेटी के ऑफिस से फॅार्म भर सकते हैं।

 

ये 5 धार्मिक स्थल हैं शामिल

इस तीर्थ यात्रा के लिए दिल्ली-मथुरा-वृंदावन, दिल्ली-हरिद्वार-ऋषिकेश-नीलकंठ समेत पांच धार्मिक रूट है। दिल्ली के 70 विधानसभा क्षेत्रों से हर साल 77,000 सीनियर सिटीजन फ्री तीर्थ यात्रा योजना का लाभ उठा सकते हैं। शुरुआत में यह तीर्थ यात्रा डीटीसी की एसी बस में कराई जाएगी और तीर्थ यात्रा का पूरा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी। 70 साल के अधिक उम्र वाले सिटीजन को अपने साथ एक अटेंडेंट भी ले जाने की अनुमति दी गई है। सफदरगंज स्टेशन से तीर्थ यात्रा के लिए पहली ट्रेन 15 दिसंबर के बाद रवाना होगी। अटेंडेंट की उम्र 18 साल से अधिक होनी चाहिए, इनका भी पूरा खर्च सरकार उठाएगी।

 

आगे पढ़ें   तीर्थ यात्रा योजना के लिए क्या है योग्यता

 

तीर्थ यात्रा योजना के लिए क्या है योग्यता

 

आवेदक दिल्ली का स्थायी निवासी हो। तीर्थ यात्रा योजना में लाभ उठाने के लिए उम्र 60 साल या अधिक हो। हर वरिष्ठ नागरिक के साथ 18 साल या उससे अधिक उम्र का एक सहायक तीर्थ यात्रा पर जा सकता है। सरकारी अधिकारी और एम्पलॉई तीर्थ यात्रा योजना में भाग नहीं ले सकते। एक सीनियर सिटीजन अपने जीवन में एक बार ही तीर्थ यात्रा योजना का लाभ ले सकते हैं। बुजुर्ग नागरिक की सालाना आय 3 लाख रुपये से कम होनी चाहिए। 

 

आगे पढ़ें यात्रा योजना का उद्देश्य

 

क्या है तीर्थ यात्रा योजना का उद्देश्य

 

दिल्ली के गरीब बुजुर्गों को आसपास के तीर्थ स्थलों तक घुमाना इस तीर्थ योजना का उद्देश्य है। दिल्ली के 70 विधानसभा क्षेत्रों से हर साल 77,000 सीनियर सिटीजन फ्री तीर्थ यात्रा योजना का लाभ उठा सकते हैं। शुरुआत में यह तीर्थ यात्रा डीटीसी की एसी बस में कराई जाएगी और तीर्थ यात्रा का पूरा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी।  बाद में इस तीर्थ यात्रा योजना में कई और रूट भी जोड़े जा सकते हैं।  इस यात्रा पर आने वाले खर्च के साथ बुजुर्गों के रहने, नाश्ता सहित दोपहर व रात के खाने का खर्च भी दिल्ली सरकार उठाएगी। इस योजना में हर बुजुर्ग तीर्थ यात्री का एक लाख रुपये का बीमा भी कराया जाएगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट