Home » Economy » PolicyCryptocurrency worth Rs 20 crore stolen from an Indian exchange

देश में पहली बार हुई क्रिप्‍टोकरंसी की बड़े लेवल पर चोरी, उड़ गए 20 करोड़ के बिटकॉइन

भारत की एक टॉप एक्‍सचेंज फर्म कॉइनसिक्‍योर से 20 करोड़ रुपए के लगभग 438 बिटकॉइन्‍स चोरी हो गए हैं।

1 of

नई दिल्‍ली. भारत की एक टॉप एक्‍सचेंज फर्म कॉइनसिक्‍योर से 20 करोड़ रुपए के लगभग 438 बिटकॉइन्‍स चोरी हो गए हैं। इस चोरी को देश में अब तक की सबसे बड़ी क्रिप्‍टोकरंसी चोरी बताया जा रहा है। कॉइनसिक्‍योर दिल्‍ली स्थित एक्‍सचेंज है। 

 

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले को लेकर कॉइनसिक्‍योर ने साइबर सेल में एफआईआर दर्ज कराई है। कंपनी ने अपने CSO अमिताभ सक्‍सेना पर कंपनी के वॉलेट से पैसों का हेर-फेर करने का आरोप लगाया है। एक्‍सचेंज ने सरकार से सक्‍सेना के पासपोर्ट को जब्‍त करने की भी अपील की है ताकि वह देश छोड़कर न जा सके। आईपीसी के सेक्‍शंस और आईटी एक्‍ट के सेक्‍शन 66 के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

 

क्‍या है पूरा मामला?

कॉइनसिक्‍योर के पूरे देश में 2 लाख से ज्‍यादा यूजर हैं। कंपनी ने पाया कि इसके ऑफलाइन स्‍टोर किए गए सारे बिटकॉइन गायब हो चुके हैं। बाद में यह भी पता चला कि ऑफलाइन स्‍टोर की गईं बिटकॉइन्‍स की प्राइवेट कीज यानी पासवर्ड ऑनलाइन लीक हो चुके हैं, जिसके चलते कंपनी का वॉलेट हैक कर लिया गया। कंपनी ने हैकर्स को ट्रैक करने की कोशिश की लेकिन जिन वॉलेट से चोरी हुई उनके सारे डाटा लॉग्‍स को मिटा दिया गया था, इसकी वजह से बिटकॉइन कहां ट्रांसफर किए गए इसके बारे में कोई भी सुराग नहीं मिला। तब से कंपनी की वेबसाइट बंद है। बृहस्‍पतिवार को कंपनी ने अपने यूजर्स को वेबसाइट पर मैसेज पोस्‍ट कर हैंकिंग की जानकारी दी।  

 

नहीं हुई रिकवरी तो कंपनी अपनी तरफ से कस्‍टमर्स को करेगी कंपंसेट 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने साइबर सेल में एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही स्‍पेशलिस्‍ट्स से भी कॉन्‍टैक्‍ट किया है ताकि हैकिंग का सोर्स पता लगाकर बिटकॉइन्‍स को ट्रैक किया जा सके। कॉइन सिक्‍योर का यह भी कहना है कि अगर बिटकॉइन रिकवर नहीं होते हैं तो कंपनी अपनी जेब से कस्‍टमर्स को कंपंसेट करेगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट