Home » Economy » Policycompanies reducing salt and sugar content in products

बाजार में बने रहने के लि‍ए नमक-चीनी कम कर रही हैं कंपनियां, 15% तक की कटौती

कंपनी ने लेज़ मैजि‍क मसाला में नमक की मात्रा 13 फीसदी और स्‍पैनिश टोमेटो टैंगो में 15 फीसदी कम कर दी है।

companies reducing salt and sugar content in products

नई दिल्‍ली। हेल्‍थ को लेकर लोग अब पहले के मुकाबले ज्यादा जागरूक हो गए हैं और इस जागरूकता की मार उन कंपनि‍यों पर पड़ रही है जो 'अनहेल्‍दी' प्रोडक्‍ट बेचती हैं जैसे चिप्‍स और कोला। बदलते बाजार को देखते हुए कैडबरी चॉकलेट बनाने वाली Mondelez International और  कुरकुरे व लेज़ बनाने वाली PepsiCo India अपने फूड प्रोडक्‍ट में बड़े बदलाव कर रही हैं। पेप्‍सीको इंडि‍या की ओर से दी गई जानकारी के मुताबि‍क, कंपनी ने लेज़ आलू चि‍प्स में नमक की मात्रा 15 फीसदी तक कम कर दी है। 


घटा दि‍या नमक 
ग्राहकों की सेहत का ध्‍यान रखते हुए कंपनी ने लेज़ मैजि‍क मसाला में नमक की मात्रा 13 फीसदी और स्‍पैनिश टोमेटो टैंगो में नमक की मात्रा 15 फीसदी कम कर दी है। पेप्‍सीको इंडि‍या ने इसी साल अप्रैल में मल्‍टीग्रेन कुरकुरे लॉन्‍च कि‍या था, जि‍समें नमक की मात्रा 21 फीसदी कम है।  
कंपनी के वाइस प्रेसि‍डेंट (स्‍नैक्‍स कैटेगरी) जगरूत कोटेचा ने कहा, हमने लेज़ और कुरकुरे के वैरि‍एंट्स में 5 से 25 फीसदी तक नमक कम कर दि‍या है। कंपनी 2025 तक इसे 75 फीसदी कम करने का इरादा रखती है। अगले दो साल में कंपनी कम फैट वाले बेक्‍ड चि‍प्स भारत में उतारने की तैयारी में है।


मि‍ठास घटेगी 
वहीं फाइव स्‍टार, पर्क और कैडबरी चॉकलेट बनाने वाली कंपनी मोंडलेज इंडि‍या का कहना है कि वह अपने प्रोडक्‍ट में से शुगर कम करने की योजना बना रही है। कैडबरी चॉकलेट ने इसी साल भारत में अपने 70 साल पूरे कि‍ए हैं। कंपनी अब लोगों की स्‍वास्‍थ्‍य चिंताओं को ध्‍यान में रखते हुए योजना बना रही है। 


मोंडलेज के मार्केटिंग डायरेक्‍टर (चॉकलेट) अनि‍ल वि‍श्‍वनाथन ने कहा, हम कुछ नया करने की प्‍लानिंग में हैं। हम ग्राहक को ऐसा प्रोडक्‍ट ऑफर करना चाहते हैं, जि‍समें चीनी कम हो। हालांकि उन्‍होंने इस योजना के बारे में और अधि‍क जानकारी देने से इनकार कर दि‍या। दोनों ही कंपनि‍यां फूड सेफ्टी एंड स्‍टैंडर्ड अथॉरि‍टी ऑफ इंडि‍या के साथ 'इंडि‍यंस ईट राइट' अभि‍यान में शामि‍ल हुई हैं। इस अभि‍यान में इनके साथ 12 अन्‍य कंपनि‍यां भी शामि‍ल हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट