विज्ञापन
Home » Economy » PolicyCollection Of Hyderabad Nizams' Jewels On Display At National Museum

कोहिनूर से दोगुने साइज के हीरे का आज से कर सकेंगे सिर्फ 50 रुपए में दीदार

भारत सरकार ने साल 1995 में 218 करोड़ रुपए में खरीदा था

Collection Of Hyderabad Nizams' Jewels On Display At National Museum

दिल्ली के नेशनल म्यूजियम में हैदराबाद के निजाम की ज्वैलरी की प्रदर्शनी लगाई गई है। इस प्रदर्शनी में 173 कीमती ज्वैलरी और डायमंड रखे गए हैं। कलेक्शन में ‘जेकब डायमंड’ को भी रखा गया है। प्रदर्शनी 28 शोकेस में प्रदर्शित की गई है जिसमें नेकलेस, बेल्ट, ब्रेसलेट, कानों की झूमकी, अंगूठी आदि शामिल है। ये प्रदर्शनी आम पब्लिक के लिए 19 फरवरी से 5 मई तक है और इसकी एंट्री टिकट 50 रुपए है।

नई दिल्ली। अगर आप भी कोहिनूर हीरे को देखने की ख्वाहिश रखते हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। दिल्ली के नेशनल म्यूजियम में हैदराबाद के निजाम की ज्वैलरी की प्रदर्शनी लगाई गई है।  यहां 184.75 कैरेट वजन वाले जैकब हीरे में 173 कीमती ज्वैलरी और डायमंड रखे गए हैं। कलेक्शन में ‘जेकब डायमंड’ को भी रखा गया है। प्रदर्शनी 28 शोकेस में प्रदर्शित की गई है जिसमें नेकलेस, बेल्ट, ब्रेसलेट, कानों की झूमकी, अंगूठी आदि शामिल है। ये प्रदर्शनी आम पब्लिक के लिए 19 फरवरी से 5 मई तक है और इसकी एंट्री टिकट 50 रुपए है।

भारत सरकार ने साल 1995 में 218 करोड़ रुपए में खरीदा था

निजाम ज्वैलरी का कलेक्शन काफी बड़ा है जिसे भारत सरकार ने साल 1995 में 218 करोड़ रुपए में खरीदा था। कलेक्शन की कस्टडी एचईएच निजाम ज्वैलरी ट्रस्ट के पास है जिसे आखिरी निजाम मिर उस्मान अली खान ने साल 1951-52 में बनाया था। इस ट्रस्ट को बनाने का मकसद पुरखों की दौलत को सुरक्षित करना था।

दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा डायमंड है

हैदराबाद के निजाम मिर उस्मान अली खान के पास 'जेकब डायमंड' था जो कि दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा डायमंड था। वह इसका इस्तेमाल पेपरवेट की तरह करते थे। ये डायमंड ऑस्ट्रिच के अंडे के बराबर था। इसका साइज कोहिनूर हीरे के साइज का डबल है। अब ये डायमंड भारत सरकार के पास है। 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन