Home » Economy » PolicyCBI registered the FIR under the different sections of Indian Penal Code

हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ CBI ने दर्ज किया केस, 280 करोड़ की धोखाधड़ी का मामला

सीबीआई के ऑफिशियल के अनुसार, PNB की ओर से मिली शिकायत पर जांच एजेंसी ने यह कार्रवाई की है।

1 of

नई दिल्‍ली. केंद्रीय जांच ब्‍यूरो (सीबीआई) ने अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी, उनके भाई और पत्‍नी व एक बिजनेस पार्टनर के खिलाफ 280 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी में मामला दर्ज किया है। धोखाधड़ी का यह मामला 2017 का है और पंजाब नेशलन बैंक से जुड़ा है। 

 

सीबीआई के ऑफिशियल के अनुसार, पंजाब नेशनल बैंक की ओर से मिली शिकायत पर जांच एजेंसी ने यह कार्रवाई की है। इसमें आरोप है कि मोदी, उनके भाई निशाल, पत्‍नी आमी और मेहुल चिनुभाई चोकसी, डायमंड आर यूएस के सभी पार्टनर, सोलर एक्‍सपोर्ट, स्‍टेलर डायमंड्स ने बैंक के अफसरों के साथ मिलकर धोखाधड़ी को अंजाम दिया। इस संबंध में कंपनी की ओर से बयान खबर लिखे जाने तक नहीं मिल पाया है। 

 

एफआईआर में आरोप है कि सरकारी अधिकारियों ने डायमंड आर यूएस, सोलर एक्‍सपोर्ट्स, स्‍टेलर डायमंड्स को आर्थिक लाभ पहुंचाने के लिए अपनी पोजिशन का गलत फायदा उठाया। नीरव मोदी की लंदन, न्यूयॉर्क, लास वेगास, हवाई, सिंगापुर, बीजिंग और मकाऊ में डिजाइनर ज्‍वैलरी बुटीक हैं।

 

इन धाराओं में केस 

ऑफिशियल के अनुसार, सीबीआई ने इंडियन पेनल कोड (आईपीसी) की आपराधिक षडयंत्र, धोखाधड़ी और भ्रष्‍टाचार रोकधान कानून की धाराओं के तहत चारों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। पीएनबी ने अपनी शिकायत में बताया था कि नीरव मोदी, उनके भाई नीशाल मोदी और उनकी पत्नी अमी ने अपनी कंपनी में 280.70 करोड़ रुपए का 'गलत घाटा' दिखाकर बैंक के साथ धोखाधड़ी की थी। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट