विज्ञापन
Home » Economy » PolicyBJP Hired 20 Helicopters and 12 Business Jets, Most Till Now

Lok Sabha Elections 2019: भाजपा ने चुनाव प्रचार के लिए किराए पर लिए 20 हेलीकॉप्टर्स और 12 जेट, एक का किराया 4 लाख रु. तक

कांग्रेस भी ले रही है प्रचार के लिए किराए पर जेट एवं हेलीकॉप्टर्स

1 of

नई दिल्ली.

चुनावों में प्रचार करने के लिए पार्टियां यातायात के सभी साधनों का इस्तेमाल करती हैं। इसमें कार, लक्जरी बस, ट्रेन, नाव से लेकर प्लेन तक शामिल हैं। आगामी लोक सभा चुनावों के लिए भी पार्टियों ने विमान और हेलीकॉप्टरों को किराए पर लिया है। इसमें बाजी मारी है भाजपा ने, जिसने 20 हेलीकॉप्टर्स और 12 बिजनेस जेट विमानों को किराए पर लिया है। यह संख्या अब तक के सभी चुनावों के कैंपेन में किसी पार्टी की ओर से किराए पर लिए गए विमानाें से ज्यादा है। आने वाले चुनावों के लिए कांग्रेस ने 10 हेलीकॉप्टर और 4 बिजनेस जेट किराए पर लिए हैं।

 

लाखों में है इन विमानों का एक घंटे का किराया

Economic Times में छपी रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा ने Cessna Citation XLS बिजनेस जेट किराए पर लिए हैं, जिनका एक घंटे का किराया 2.80 लाख रुपए है। दूसरा बिजनेस जेट है Falcon 4000 जिसका एक घंटे का किराया 4 लाख रुपए है। हेलीकॉप्टर्स में पार्टी ने Bell 412, Agusta 109, Agusta 139 किराए पर लिए हैं, जिनका एक घंटे का किराया 1.80 लाख रुपए से 4 लाख रुपए के बीच है।

 

यह भी पढ़ें- दस साल के इंतजार के बाद मोदी सरकार में फाइनल हुई यह बड़ी डील, 16.4 हजार करोड़ में तय हुआ सौदा

कांग्रेस ने भी किराए पर लिए हैं ये विमान

विपक्षी दल कांग्रेस ने भी Cessna Citation Jet 2 (1.80 लाख प्रति घंटा किराया), Cessna Citation Excel (2.80 लाख प्रति घंटा) और Falcon 4000 किराए पर लिया है। पार्टी ने Bell 407 और Eurocopter D3 जैसे सिंगल इंजन वाले हेलीकॉप्टर किराए पर लिए हैं जिनका एक घंटे का किराया 1 लाख रुपए से 1.30 लाख रुपए के बीच है। इसके अलावा Bell 412 और Agusta जैसे दो इंजन वाले हेलीकॉप्टर्स भी किराए पर लिए हैं।

 

यह भी पढ़ें- कांग्रेस के इस उम्मीदवार पर 100 करोड़ रुपए का कर्ज, PNB प्रबंधन का खुलासा

 

विमान बुक कराने में भाजपा हमेशा से है आगे

एविएशन उद्योग के एक्सपर्ट्स की मानें तो, भाजपा ने हमेशा से ही कांग्रेस से ज्यादा एयरक्राफ्ट बुक कराए हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि भाजपा में वरिष्ठ नेताओं की संख्या ज्यादा है और उन्हें पार्टी की तरफ से हेलीकॉप्टर्स और जेट मुहैया कराए जाते हैं। हालांकि, इस बार पार्टी ने जितने एयरक्राफ्ट बुक कराए हैं, उतने कभी किसी पार्टी ने बुक नहीं कराए।

 

यह भी पढ़ें- अब iPhone 7 होगा Made in India, बेंगलुरु में शुरू हुई मैन्युफैक्चरिंग

अन्य पार्टियों का रहा ये हाल

तेलुगु देसम पार्टी और तेलंगाना राष्ट्रीय समिति ने एक-एक Falcon 4000 और कुछ हेलीकॉप्टर्स किराए पर लिए हैं। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी ने दो इंजन वाले Bell 412, Agusta 109 और Agusta 139 किराए पर लिए हैं। जनता दल (सेक्युलर) ने कोई एयरक्राफ्ट किराए पर नहीं लिया है, लेकिन पार्टी हेलीकॉप्टर्स को एड-हॉक पर हायर कर रही है।

 

यह भी पढ़ें- 50 हजार लगाकर सालाना कमा सकते हैं 5 लाख रुपए तक, इस प्रोडक्ट की है देश-दुनिया में तगड़ी डिमांड 

 

दो तरीकों से किराए पर लिया जाता है एयरक्राफ्ट

एयरक्राफ्ट्स को किराए पर लेने के दो तरीके होते हैं- फिक्स्ड कॉन्ट्रैक्ट और एड-हॉक पर। कॉन्ट्रैक्ट मॉडल में एक राजनीतिक पार्टी 45 दिनों के लिए विमान को किराए पर लेती है, जिसमें रोजाना के कम से कम 3 घंटे का पेमेंट करना होता है, चाहे विमान उससे कम उड़ान भरे। इस मॉडल में एयरक्राफ्ट पार्टी के पास हमेशा मौजूद रहता है। एड-हॉक में जरूरत के मुताबिक एयरक्राफ्ट्स को किराए पर लिया जाता है। यह सस्ता तो होता है लेकिन कई बार समय पर विमान उपलब्ध नहीं होता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss