विज्ञापन
Home » Economy » PolicyBadrinath Dham door will open on May 10

अगर आप भी जाना चाहते हैं बदरीनाथ धाम तो जान लें कब खुल रहा है कपाट, अभी से कर सकते हैं प्लानिंग

उत्तराखंड की चार धाम यात्रा अक्षय तृतीया के दिन कपाट खुलने के साथ शुरू हो जाएगी

1 of

नई दिल्ली। छोटी चार धाम यात्रा अक्षय तृतीया के दिन गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ शुरू हो जाएगी। हर साल दूर दराज से यात्री धाम की यात्रा शुरू होने से पहले ही हरिद्वार, ऋषिकेश पहुंचने लगते हैं। अगर आप इस साल बदरीनाथ धाम जाने का प्लान बना रहे हैं तो मई का महीना आपके लिए बेहतर होगा। भू-वैकुंठ श्री बदरीनाथ धाम के कपाट आगामी 10 मई को सुबह 4.15 बजे ग्रीष्मकाल के लिए खोले जाएंगे। नरेंद्रनगर (टिहरी) स्थित राजमहल में पंचांग व गणेश पूजा के बाद महाराजा की ओर से पंडित कृष्ण प्रसाद उनियाल ने कपाट खुलने की तिथि घोषित की। वहीं, बदरीनाथ धाम में अभिषेक पूजा के लिए तिलों का तेल पिरोने की रस्म 24 अप्रैल को राजमहल में पूरी की जाएगी।

 

इस बीच यात्रा ऋषिकेश, श्रीनगर, रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, डिमर गांव और पांडुकेश्वर आदि स्थानों पर प्रवास करने के बाद नौ मई को बद्री विशाल के मंदिर में पहुंचेगी। 10 मई को तिलों के तेल से भगवान बद्रीविशाल के महाभिषेक के बाद मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे।

कैसे जाएं बदरीनाथ धाम

गर आप छोटी चार धाम की यात्रा दिल्ली से शुरू करते हैं तो आपको कुल 1607 किमी की यात्रा करनी पड़ती है दिल्ली से सबसे पहले आपको हरिद्वार पहुंचना पड़ेगा, जहां से यात्रा शुरू होती है यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ होते हुए बद्रीनाथ और अंत में ऋषिकेश में यात्रा समाप्त होती है। बता दें कि बदरीनाथ धाम तक गाड़िया जाती है, इसलिए यहां मौसम अनुकूल होने पर पैदल नहीं जाना पड़ता है। बदरनीथ को बैकुण्ठ धाम भी कहा जाता है। यहां पहुंचने के लिए ऋषिकेश से देवप्रयाग, श्रीनगर, रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, चमोली और गोविन्दघाट होते हुए पहुंचा जा सकता है। यहां एक यात्री लगभग 2000-3000 रुपए में आसानी से यात्रा कर सकते हैं।

 

 

बसंत पंचमी के दिन तय किया जाता है समय

बदरीनाथ धाम की परंपरा में टिहरी के राजा को बोलंदा बद्रीश का प्रतीक माना जाता है यानी बोलते हुए बद्री भगवान। बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की परंपरा है कि बसंत पंचमी के दिन ही यह तय किया जाता है कि मंदिर के कपाट किस दिन खुलेंगे और शुभ मुहूर्त क्या होगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss