बिज़नेस न्यूज़ » Economy » PolicyMD शिखा शर्मा के री-अपॉइंटमेंट पर एक्सिस बैंक की सफाई, नियुक्ति के लिए है स्‍टैंडर्ड प्रोसेस

MD शिखा शर्मा के री-अपॉइंटमेंट पर एक्सिस बैंक की सफाई, नियुक्ति के लिए है स्‍टैंडर्ड प्रोसेस

बैंक में सीनियर्स की नियुक्ति के लिए स्‍टैंडर्ड प्रोसेस है और बैंक अपनी सिफारिशों को रेगुलेटरी अप्रूवल के लिए भेजता है।

1 of

नई दिल्‍ली. एक्सिस बैंक में MD व CEO शिखा शर्मा के री-अपॉइंटमेंट पर सवाल खड़े होने पर बैंक ने सफाई दी है। एक्सिस बैंक ने सोमवार को एक बयान जारी कर रहा कि बैंक में सीनियर्स की नियुक्ति के लिए एक स्‍टैंडर्ड प्रोसेस है और बैंक अपनी सिफारिशों को रेगुलेटरी अप्रूवल के लिए भेजता है। वहां से मंजूरी मिलने के बाद ही कोई फैसला अमल में लाया जाता है। शिखा शर्मा के रीअपॉइंटमेंट मामले में भी यही प्रोसेस चल रही है।  

 

दरअसल एक मीडिया रिपोर्ट में यह कहा जा रहा है कि रिजर्व बैंक ने एक्सिस बैंक को शिखा शर्मा के रीअपॉइंटमेंट पर फिर से विचार करने को कहा है। इसी मामले में स्‍टॉक एक्‍सचेंजेस ने एक्सिस बैंक से सफाई मांगी थी। बैंक ने उसी के जवाब में यह बयान जारी किया है। 

 

जुलाई 2017 में बैंक बोर्ड ने री-अपॉइंटमेंट किया था मंजूर 

इससे पहले जुलाई 2017 में एक्सिस बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्‍टर्स ने शिखा शर्मा के मैनेजिंग डायरेक्‍टर और सीईओ के तौर पर 3 साल के लिए री-अपॉइंटमेंट को मंजूरी दी थी। उनका कार्यकाल 1 जून, 2018 से शुरू होने वाला है। हालांकि अभी बोर्ड के इस फैसले को रेगुलेटरी अप्रूवल मिलना बाकी है। 

 

अभी चल रहा है दूसरा कार्यकाल 

शिखा शर्मा का फिलहाल एक्सिस बैंक के एमडी व सीईओ के तौर पर दूसरा कार्यकाल चल रहा है। यह जून 2018 को खत्‍म हो रहा है। वह 2009 में 5 साल के कार्यकाल के लिए एक्सिस बैंक से जुड़ी थीं, उसके बाद उनका कार्यकाल बढ़ा दिया गया था। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट