बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policyआज से शुरू हो रहा है आसि‍यान सम्‍मेलन, व्‍यापार समेत आपसी रि‍श्‍तों पर होगी बातचीत

आज से शुरू हो रहा है आसि‍यान सम्‍मेलन, व्‍यापार समेत आपसी रि‍श्‍तों पर होगी बातचीत

गुरुवार से शुरू हो रहे भारत-आसियान समि‍ट में शामिल होने के लिए 10 आसियान राष्ट्रों के प्रमुख नई दिल्ली पहुंचने लगे हैं।

आज से शुरू हो रहा है आसि‍यान सम्‍मेलन - asian summit will start from today

नई दि‍ल्‍ली। दिल्ली में गुरुवार से शुरू हो रहे भारत-आसियान समि‍ट में शामिल होने के लिए 10 आसियान राष्ट्रों के प्रमुख नई दिल्ली पहुंचने लगे हैं। सभी 10 आसियान देशों के प्रमुख 26 जनवरी को दिल्ली में गणतंत्र दिवस की परेड में विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल भी होंगे। आसियान के सदस्य देशों में लाओस, कंबोडिया, ब्रुनेई, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम शामिल हैं।

 

वि‍देश मंत्रालय ने ट्वीट से दी जानकारी

 

विदेश मंत्रालय के स्‍पोक्‍सपर्सन रवीश कुमार ने कई ट्वीट के जरिए आसियान नेताओं के पहुंचने की जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि‍ आसियान- भारत स्मारक शिखर सम्मेलन में भारत वियतनाम के प्रधानमंत्री न्ग्यूयेन जुआन फ्यूक और उनकी पत्नी सुश्री त्रान न्ग्यूयेन थू का स्वागत करता है।

 

गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होंगे आसियान देश

 

भारत-आसियान संबंधों के 25 साल पूरे होने के मौके पर भारत-आसियान स्मारक शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया है। माना जा रहा है कि‍ यह सम्मेलन भारत के लिए कारोबार और संपर्क के तौर पर काफी कारगार साबि‍त होगा।

 

भारत की 'लुक इस्ट' नीति

 

भारत 'लुक इस्ट' नीति के तहत इन देशों के साथ जुड़कर अपने आर्थिक, सामरिक और राजनीतिक रिश्तें मजबूत कर रहा है। आसियान देशों में से सिंगापुर भारत का सबसे बड़ा ट्रेड पार्टनर है। साल 2005 में भारत ने सबसे पहले सिंगापुर के साथ समग्र आर्थिक सहयोग समझौता किया था। अगस्त 2009 में आसियान के साथ भारत ने मुक्त व्यापार क्षेत्र पर करार किया और यह 1 जनवरी, 2010 से यह लागू हो गया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट