विज्ञापन
Home » Economy » Policyapproved by government, new bridge of four lane of Ganga, cost of Rs 2,926.42 crores

भारत के इस राज्य को मोदी सरकार की सौगात, गंगा पर चार लेन के नए पुल को दी मंजूरी, लागत 2,926.42 करोड़ रुपए

नया पुल बनने से आवाजाही में काफी सहूलियत होगी, जाम से मिलेगी निजात

approved by government, new bridge of four lane of Ganga, cost of Rs 2,926.42 crores

सरकार ने पटना में गंगा नदी पर चार लेन के नए पुल के निर्माण को मंजूरी दी है। इस पुल के निर्माण में 2,926.42 करोड़ रुपए की लागत आएगी। गंगा नदी पर एनएच-19 पर वर्तमान महात्मा गांधी सेतु के सामानांतर चार लेन के नए पुल के निर्माण को मंजूरी सोमवार को दी गई है।

 

 

नई दिल्ली। सरकार ने पटना में गंगा नदी पर चार लेन के नए पुल के निर्माण को मंजूरी दी है। इस पुल के निर्माण में 2,926.42 करोड़ रुपए की लागत आएगी। गंगा नदी पर एनएच-19 पर महात्मा गांधी सेतु के सामानांतर चार लेन के नए पुल के निर्माण को मंजूरी सोमवार को दी गई है।

 

5.634 किलोमीटर लंबा होगा पुल

नदी पर बनने वाला चार लेन का यह पुल 5.634 किलोमीटर लंबा होगा। परियोजना के निर्माण की अवधि साढ़े तीन साल की होगी और इसके जनवरी 2023 में पूरा होने की संभावना है। अप्रोच रोड सहित पुल की कुल लंबाई 14.5 किलोमीटर होगी तो वहीं सिर्फ ब्रिज की लंबाई 5.634 किलोमीटर होगी। इसे बनने के बाद गांधी सेतु आठ लेन का हो जाएगा। गांधी सेतु की पश्चिम दिशा से नया ब्रिज बनेगा जिसके लिए 118 हेक्टेयर जमीन की जरूरत है। ऐसे में 3 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण होगा क्योंकि बिहार सरकार के पास पहले से 115 हेक्टेयर जमीन है।

 

नया पुल बनने से उत्तर और दक्षिण बिहार के लोगों को काफी सहूलियत होगी। उत्तर बिहार से पटना में ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात मिलेगी।

 

कोसी नदी पर फोर लेन का नया पुल के निर्माण को भी मंजूरी मिल चुकी है

 

हम बता दें कि इसी साल कोसी नदी पर फोर लेन के नए पुल के निर्माण को भी मंजूरी दे दी गई है। इस पुल का नेशनल हाईवे 106 पर फुलौत में 6.930 किलोमीटर लंबे 4-लेन निर्माण होगा। सीसीईए ने बिहार में राष्‍ट्रीय राजमार्ग-106 के मौजूदा बीरपुर-बिहपुर खंड के उन्नयन व पुनर्वास को हरी झंडी दी है। इसके तहत 106 किलोमीटर से 136 किलोमीटर तक ‘पेव्‍ड शोल्‍डर के साथ 2-लेन’ दुरुस्त होंगे। इस परियोजना पर 1478.40 करोड़ रुपए की लागत आएगी। इस परियोजना की निर्माण अवधि 3 वर्ष है और इसे जून 2022 तक पूरी होने की उम्‍मीद है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss