विज्ञापन
Home » Economy » PolicyAfter the Pulwama attack, bad influence on tourism in Kashmir

Pulwama terrorist attack: कश्मीर में पर्यटन पर पड़ा बुरा प्रभाव, टूरिस्ट कर रहे हैं टूर कैंसल, tripadvisor कश्मीर नहीं जाने की दे रहे हैं सलाह

पुलवामा हमले में 44 जवानों के शहीद होने के बाद लोगों में गुस्सा

1 of

वर्षा पाठक। नई दिल्ली

लंबे अरसे से अमन की तलाश रहे काश्मीर में हालात दिन पर दिन बिगड़ते जा रहे हैं इससे काश्मीर घाटी में पर्यटन उद्योग पर बुरा असर पड़ा है। गुरुवार को जम्मू-काश्मीर के पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद की ओर से पुलवामा में सीआरपीएफ पर किए गए आत्मघाती हमले से देशभर में रोष है। लोग अपना गुस्सा निकाल रहे हैं, इतना ही नहीं जिन्होंने वहां घूमने का पैकेज लिया था अब वे भी कैंसल करा रहे हैं।

 

पर्यटकों को अभी वहां नहीं जाने की सलाह दे रहे हैं..

Tripadvisor कंपनी के एक एडवाइजर ने Moneybhaskar.com से बातचीत में बताया ‘पुलवामा हमले के बाद हमारे पास फोन पर फोन आ रहे हैं जिन्होंने पहले से पैकेज लिया था वे अब वहां नहीं जाना चाहते हैं और पैकेज कैंसल करा रहे हैं। वहीं हम भी पर्यटकों को अभी वहां नहीं जाने की सलाह दे रहे हैं।’

 

टूर पैकेज कैंसल कराने पर दी जाएगी रिफंड मनी 

वहीं टूर पैकेज देने वाली कंपनी traveltriangle का कहना है, 'टूरिस्ट कल से परेशान जरूर हैं लेकिन हम उनकी सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी ले रहे है। अभी एक-दो दिन यहां माहौल पैनिक रहेगा। अगर कोई ग्राहक घाटी में अशांति की वजह से टूर पैकेज कैंसल कर रहे हैं तो हम उन्हें पाॅलिसी के तहत रिफंड मनी दे देंगे।  '

 

 

 

पिछले कुछ सालों में घटा है पर्यटन उद्योग

 

बता दें कि इससे पहले पत्थरबाजी घटना के बाद वहां पहुंचने वाले टूरिस्टों की संख्या में कमी आई थी। एक सरकारी रिपोर्ट के अनुसार,  2016 में जम्मू कश्मीर की अर्थव्यवस्था को 16 हज़ार करोड़ का नुक़सान हुआ था। नुकसान का यह आकड़ा हर साल बढ़ती रही है। 2017 में इसमें थोड़ा बहुत सुधार हुआ भी था लेकिन उसके बाद स्थिति बिगड़ने से पर्यटन को नुकसान हुआ। पर्यटन क्षेत्र की कश्मीर में 7% से अधिक हिस्सेदारी है, एक अच्छे टूरिज्म सीजन में राज्य पर्यटन से ही करीब 1500 करोड़ रुपराजस्व के रूप में कमाता है। कश्मीर में टूरिज्म पर आतंकवाद की काली परछाई एक बार फिर छा जाएगी।

 

 

 

 

टूरिस्टों में दहशत का माहौल है

 

टूरिज्म से जुड़े लोग मानते हैं कि पुलवामा हमले से खासकर श्रीनगर में घूमने निकले टूरिस्टों में अफरातफरी और दहशत का माहौल है। ऐसे में टूरिज्म से जुड़े लोगों को चिंता इस बात की है कि कहीं हमलों में तेजी न आए और अगर ऐसा हुआ तो इस बार के टूरिस्ट सीजन का बंटाढार तय है। ताजा हमलों के कारण न सिर्फ टूरिज्म से जुड़े लोगों में दशहत और चिंता का माहौल था, बल्कि आम नागरिक भी दहशत में हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन