बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Policy500 रुपए के नए नोटो की छपाई में खर्च हो गए 5 हजार करोड़, सरकार ने संसद में दी जानकारी

500 रुपए के नए नोटो की छपाई में खर्च हो गए 5 हजार करोड़, सरकार ने संसद में दी जानकारी

पिछले साल नोटबंदी के बाद 500 रुपए के नए नोटो की छपाई पर 5 हजार करोड़ रुपए खर्च किए गए।

1 of

नई दिल्ली । पिछले साल नोटबंदी के बाद 500 रुपए के नए नोटो की छपाई पर 5 हजार करोड़ रुपए खर्च किए गए। सोमवार को केंद्र सरकार ने लोकसभा में यह जानकारी दी है। वित्त राज्य मंत्री पी. राधाकृष्णन ने एक लिखित जवाब में बताया कि 500 रुपए के कुल 1,695.7 करोड़ नए नोट 8 दिसंबर तक छापे गए हैं। इससे पहले सरकार ने मार्च में बताया था कि 500 रुपए और 2,000 रुपए के प्रत्येक करंसी नोट को छापने पर 2.87 रुपए से 3.77 रुपये की लागत बैठती है, लेकिन सरकार ने पुराने नोटों को नए नोटों से बदलने पर आई कुल लागत के बारे में नहीं बताया था। 

 

4,968.84 करोड़ रुपए  खर्च किए 

 

500 रुपए के नए नोटों की छपाई पर 4,968.84 करोड़ रुपए  खर्च किए गए। मंत्री ने यह भी बताया कि RBI ने 2000 रुपए  के 365.4 करोड़ नोट प्रिंट किए हैं और इनकी छपाई पर 1,293.6 करोड़ रुपए लगात आई। इसी तरह 200 रुपए के 178 करोड़ नोट की छपाई पर 522.83 करोड़ रुपए खर्च किए गए। मंत्री ने बताया कि 50, 200, 500 और 2000 रुपए के नोट नए डिजाइन में छापे गए हैं। 

 

15.28 लाख करोड़ रुपए RBI को प्राप्त

 

बता दें कि 8 नंवबर 2016 को 500 और 1000 रुपए के नोटों को चलन से बाहर कर दिया गया था। चलन में मौजूद कुल मुद्रा का 86 फीसदी हिस्सा लीगल टेंडर से बाहर कर दिया गया था। इसमें से करीब 99 फीसदी हिस्सा रिजर्व बैंक के पास लौट चुका है। मंत्री ने एक अन्य प्रश्न के जवाब में बताया कि 30 जून 2017 तक 15.28 लाख करोड़ रुपए RBI को प्राप्त हुए हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट