विज्ञापन
Home » Economy » Policy5 important schemes of Modi Government for women

International Women's Day : महिलाओं के लिए मोदी सरकार की ये है 5 महत्वपूर्ण योजनाएं, ऐसे उठाएं इसका फायदा

सरकार की इन योजनाओं से महिलाएं हो रही है सशक्त

1 of

नई दिल्ली। हर साल 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day 2019) मनाया जाता है। महिलाएं आज हर फील्ड में अपना अलग मुकाम बनाने में सफल हो रही है। पुरुषों से कंधों से कंधे मिलाकर चल रही है। दुनियाभर में महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए सरकार द्वारा कई महत्चपूर्ण कदम उठाए गए हैं, कई योजनाएं खासकर महिलाओं के लिए लागू किया गया है। आज महिला दिवस के उपलक्ष्य में हम आपको सरकारी योजना के बारें में बता रहे हैं जो खासकर महिलाओं के लिए चलाया जाता है।

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY)

सुकन्या समृद्धि योजना (एसएसवाई या SSY) गर्ल चाइल्ड के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लांच किया गया था। 10 साल से कम उम्र की बच्ची के लिए उच्च शिक्षा और शादी के लिए बचत करने के लिहाज से केंद्र सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एक अच्छी निवेश योजना हैजो शेयर बाजार के जोखिम से दूर रहना चाहते हों और फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) में गिरते ब्याज दर से परेशान हों, SSY उनके लिए बेहतरीन कदम साबित हो सकती हैबैंक और पोस्ट ऑफिस में जाकर कोई भी व्यक्ति या कानूनी अभिभावक 10 साल से कम उम्र की बेटियों के लिए यह अकाउंट खुलवा सकता हैप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस स्कीम को 22 जनवरी 2015 में शुरू किया गया थास्कीम पूरी होने पर पूरा फंड उस लड़की को मिलेगी, जिसके नाम पर ये खाता खुलवाया गया हो

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY)

केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) से कमजोर वर्ग के परिवारों खासकर महिलाओं को बहुत राहत मिली है। इसे 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में लॉन्‍च किया गया था। PMUY के तहत सरकार गरीबी रेखा (BPL) से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को घरेलू रसोई गैस (एलपीजी (LPG) गैस) का कनेक्शन देती है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) केंद्र सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सहयोग से चलाई जा रही है।

इस योजना में केंद्र सरकारी तेल कंपनियों को प्रति कनेक्शन 1,600 रुप की सब्सिडी देती हैयह सब्सिडी सिलेंडर की जमानत और फिटिंग शुल्क के लिए होती है 

 

 

 

वन स्‍टॉप सेंटर

 

यह स्कीम 1 अप्रैल 2015 को शुरू की गई है। यह ‘निर्भया’ फंड से लागू हुई है। यह योजना उन महिलाओं को शरण देती हैं जो किसी तरह की हिंसा का शिकार हुई हैं। इसके तहत पुलिस डेस्‍क, कानूनी, मेडिकल सर्विस देने का काम किया जाता है।

 

महिला ई-हाट

इस योजना के तहत घर पर रहने वाली महिलाओं को आर्थिक तौर पर मज़बूत करना है। ई-हाट की मदद से कोई भी महिला ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन कराकर अपना बिजनेस शुरू कर सकती है। सरकार इसका कोई चार्ज भी आप नहीं लेती है।

महिला शक्ति केंद्र योजना

 

 महिला शक्ति केंद्र योजना के तहत,आंगनवाड़ी केंद्र जिले के हर गांव में महिला शक्ति केंद्र का रूप लेगा। इन केन्द्रों के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को केंद्र सरकार से जुड़ी योजनाओं की जानकारी दी जाएगी, ट्रेनिंग और सामुदायिक भागीदारी के जरिए क्षमता विकास पर जोर दिया जाएगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन