विज्ञापन
Home » Economy » PolicyWater aerodromes to be developed at these locations in India

देश में इन 14 जगहों से पानी पर से उड़ेंगे हवाई जहाज, सरकार ने दी मंजूरी

UDAN स्कीम के तहत जल्द ही उड़ेंगे सीप्लेन

1 of

नई दिल्ली.

अब जल्द ही आप पानी के ऊपर से टेक ऑफ करने वाले और पानी पर लैंड करने वाले सीप्लेन में बैठ सकेंगे। मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन के मुताबिक देश में 14 जगहों पर सीप्लेन के लिए वॉटर एयरोड्रोम बनाए जाने को मंजूरी दी गई है। सरकार की रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम- उड़े देश का आम नागरिक (UDAN) के तहत इन एयरोड्रोम को टूरिस्ट स्पॉट और धार्मिक महत्व वाली जगहों के पास बनाया जाएगा। इसी स्कीम के तहत सीप्लेन की उड़ान भी शुरू की जाएगी।

 

इस साल जून में ही Diorectorate General of Civil Aviation (DGCA) ने ववॉटर एयरोड्रोम का लाइसेंस देने के नियम और प्रक्रिया की जानकारी साझा की थी। नागरिक उड्‌डयन मंत्रालय के मुताबिक ऐसे प्लेन जो जमीन और पानी दोनों जगहों से टेकऑफ कर सकते हैं और लैंड कर सकते हैं, उनसे देश की एयर कनेक्टिविटी में इजाफा होगा।

 

क्या होता है वॉटर एयरोड्रोम

वॉटर एयरोड्रोम किसी जलीय स्रोत का ऐसा एरिया जिसे सीप्लेन या एंफिबियस प्लेन लैंडिंग और टेकऑफ के लिए इस्तेमाल करते हैं। यह एयरोड्रोम्स जमीन पर बनी किसी इमारत से जुड़े हो सकते हैं, जहां पर प्लेन को जहाज की तरह खड़ा किया जा सके।

 

 

 

ये होंगी लोकेशन

 

स्टैच्यू ऑफ यूनिटीसरदार सरोवर बांधगुजरात

साबरमती रिवर फ्रंटअहमदाबादगुजरात

धरोज बांध गुजरात

शत्रुंजय बांध गुजरात

उमरांग्सो रिजरवॉयरअसम

गुवाहाटी रिवर फ्रंटअसम

तहरी बांधउत्तराखंड

इरइ बांधचंदरपुरमहाराष्ट्र

खिंदसी बांधनागपुरमहाराष्ट्र

नागार्जुन सागरतेलंगाना

हैवलॉकअंडमान और निकोबार

लॉन्ग आईलैंडअंडमान और निकोबार

नील आईलैंडअंडमान और निकोबार

हटबेअंडमान और निकोबार

 

 

जल्द ही उड़ेंगे सीप्लेन

पिछले साल अक्टूबर में SpiceJet ने 2800 करोड़ रुपए में 100 एंफिबियन प्लेन खरीदने का अपना प्लान सामने रखा था। कंपनी ने जापान की Setouchi Holdings के साथ मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग साइन किया थाजिसके तहत स्पाइजेट इस बात का आकलन करेगी कि इन प्लेन्स को किफायती रूप में किस तरह इस्तेमाल किया जा सकता है।

 

 

इन देशों में उड़ते हैं सीप्लेन

ऑस्ट्रेलियाचीनजापानइटलीअमेरिकारूसफ्रांसकनाडाब्रिटेनपोलैंड समेत तकरीबन 24 देशों में सीप्लेन उड़ते हैं। अब जल्द ही भारत में भी सीप्लेन उड़ान भर सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन