विज्ञापन
Home » Economy » InternationalTrump's answer to Modi's government will be answered, America will not be allowed to go to Masood Azhar case in the hands

प्रतिबंध / ट्रंप का मोदी सरकार को दो टूक जवाब, अमेरिका का दें साथ नहीं तो मसूद अजहर मामले में धोना पड़ेगा हाथ

चाबहार पोर्ट के निर्माण के आड़े नहीं आएंगे अमेरिकी प्रतिबंध 

Trump's answer to Modi's government will be answered, America will not be allowed to go to Masood Azhar case in the hands
  • ट्रंप प्रशासन का कहना है कि वो पुलवामा हमले के बाद मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के मुद्दे पर साथ दे रहे हैं।
  • अमेरिकी प्रशासन ने भरोसा दिलाया कि ईरान पर प्रतिबंधों का असर चाबहार पोर्ट के निर्माण पर नहीं लागू होगा।

 

नई दिल्ली. वाशिंगटन की ओर से दिल्ली को ईरान से तेल खरीद मामले में सख्त संदेश पहु्ंचा दिया गया है। इसमें कहा गया है कि भारत को चुनाव करना है कि उसे ईरान से तेल खराना है या फिर मसूद अजहर पर प्रतिबंध के मामले में अमेरिकी मदद चाहिए। 

 

अमेरिकी भारत से ईरान से तेल आयात बंद करने की अपील 

ट्रंप प्रशासन का कहना है कि वो पुलवामा हमले के बाद मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के मुद्दे पर साथ दे रहे हैं। अमेरिका का कहना है कि उसने ब्रिटेन,फ्रांस जैसे देशों के साथ मिलकर मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र की ग्लोबल आतंकी लिस्ट में शामिल करने की भरपूर कोशिश की है, जो आगे भी जारी रहेगी। अगर भारत अमेरिकी स्टैंड के साथ खड़ा होता है। अमेरिका ने मांग की है कि भारत को अमेरिका का साथ देते हुए ईरान से तेल आयात रोक देना चाहिए। अमेरिका का मानना है कि भी आंतकवादी नेटवर्क को बढ़ावा दे रहा है। ऐसे में भारत को आतंकवाद के मुद्दे पर अमेरिकी रुख के साथ खड़ा होना चाहिए। 

 

चाबहार पोर्ट के निर्माण पर प्रतिबंध नहीं

नई दिल्ली के साथ बातचीत ने अमेरिकी प्रशासन ने भरोसा दिलाया कि ईरान पर प्रतिबंधों का असर चाबहार पोर्ट के निर्माण पर नहीं लागू होगा। चाबहार पोर्ट का निर्माण पहले की तरह जारी रहेगा। बता दें चाबहार पोर्ट भारत, ईरान और अफगानिस्तान के बीच ट्रेड का बड़ा जरिया है। इससे पाकिस्तान रुट की जरुरत नहीं पड़ती है। 

 

2 मई से भारत ईरान से नहीं खरीद पाएगा तेल 

भारत को ईरान से तेल खरीदने की मिली छूट 1 मई 2019 से खत्म हो रही है। 2 मई के बाद से भारत ईरान से तेल नहीं खरीद सकेगा। ऐसा करके अमेरिका ईरान पर अधिकतम दबाव बनाना चाहता है।  
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन