बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalपुलिस के शिकंजे में दुनिया का सबसे अमीर रॉयल, ऐसी है लग्‍जरी लाइफ

पुलिस के शिकंजे में दुनिया का सबसे अमीर रॉयल, ऐसी है लग्‍जरी लाइफ

सऊदी अरब की भ्रष्टाचार निरोधक कमेटी ने 11 राजकुमारों, चार मंत्रियों और दर्जनों पूर्व मंत्रियों को हिरासत मे लिया है।

1 of
नई दिल्‍ली. सऊदी अरब की सरकार ने भ्रष्‍टाचार के खिलाफ कड़ा कदम उठाया है। सऊदी अरब की भ्रष्टाचार निरोधक कमेटी ने 11 राजकुमारों, चार मंत्रियों और दर्जनों पूर्व मंत्रियों को हिरासत मे लिया है। बता दें कि सऊदी सरकार ने 2009 में जेद्दाह में आई बाढ़ और 2012 में मर्स वायरस का संक्रमण फैलने के मामलों की जांच नए सिरे से शुरू की है। नई भ्रष्टाचार निरोधक कमेटी के गठन के चार घंटों बाद ही इन लोगों को हिरासत में ले लिया गया। इस कमेटी की अध्यक्षता क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान कर रहे हैं। इन 11 राजकुमारों में सऊदी के सबसे अमीर रॉयल अलवलीद बिन तलाल अल सऊद भी शामिल हैं। 
 

कितनी है तलाल की दौलत 

फोर्ब्‍स मैगजीन की ओर से अप्रैल में जारी अरब देशों के अमीरों की ताजा लिस्‍ट में उनकी नेटवर्थ 18.7 अरब डॉलर बताई गई थी। फोर्ब्‍स के मुताबिक, उनकी आय में पिछले साल के मुकाबले इस साल 1.4 अरब डॉलर का इजाफा हुआ। 
 
आगे पढ़ें- कैसी है तलाल की लाइफ 

राजपरिवार में हुआ जन्म 


प्रिंस अलवलीद बिन तलाल का जन्म सऊदी अरब के राजपरिवार में 7 मार्च 1957 को हुआ था। अलवलीद बिन की मां मोना अल सुलह लेबनान के पहले प्रधानमंत्री रियाद अल सुलह की बेटी हैं। अलवलीद के पिता प्रिंस तलाल 1960 में सऊदी अरब के फाइनेंस मंत्री रह चुके हैं, लेकिन राजनीतिक सुधार की वकालत करने पर उन्हें निर्वासन में जाना पड़ा। अलवलीद के बारे में कहा जाता है कि जब वह बड़े हुए तो अक्सर घर से भाग जाया करते थे और एक-दो दिन खुली कार के पिछले हिस्से में सोकर रात गुजारते थे। 

36 साल की उम्र में शुरू किया अपना कारोबार


अलवलीद ने मेनलो कॉलेज, कैलिफोर्निया से 1979 में बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में डिग्री ली और इसके बाद 1985 में साराकस यूनिवर्सिटी से मास्टर डिग्री ली। अलवलीद की बायोग्राफी में उल्लेख करते हुए फोर्ब्स ने बताया था कि प्रिंस अलवलीद ने दुनिया के चुनिंदा बिलिनेयर्स में शामिल होने के लिए 1991 में अपना कारोबार शुरू किया। अलवलीद जब 36 साल के थे, उनके पिता ने 30,000 डॉलर (करीब 16 लाख रुपए) गिफ्ट के तौर पर उन्हें दिए थे। इसके बाद प्रिंस अलवलीद ने 300,000 डॉलर का लोन लिया और शेयर में निवेश किया। उन्होंने सिटीग्रुप में 59 करोड़ डॉलर का निवेश किया, जिससे 2005 में उनका निवेश बढ़कर 10 अरब डॉलर हो गया। ये वही वक्त था जब पहली बार अलवलीद दुनिया के 10 सबसे अमीर लोगों में शुमार हुए।

तीन बड़े महलों के हैं मालिक


प्रिंस तलाल के पास तीन बड़े महल हैं। एक पैलेस जिसका नाम किंग रिजॉर्ट है, 50 लाख वर्ग मीटर में फैला हुआ है। इसमें भव्य गार्डन और तीन झीलें हैं। दूसरा महल प्रोमोशन पैलेस रियाद में है। इस महल की कीमत 30 करोड़ डॉलर है। इसमें 15,000 टन इटैलियन मार्बल का उपयोग किया गया है। इसमें सिल्क ओरियंटल कारपेट और सोने के नल हैं व 250 टीवी सेट हैं। महल में भव्य 4 किचन हैं, जहां के शेफ एक घंटे में 2000 लोगों को एक साथ खाना बनाते व परोसते हैं। प्रिंस तलाल का एक और महल है, जो 40 लाख वर्ग मीटर में फैला हुआ है। इसमें लग्जरी रिजॉर्ट के साथ 70,000 वर्ग मीटर में एक झील बनाई गई है और एक प्राइवेट जू भी है।

निजी प्‍लेन कम उड़ता हुआ महल 


50 करोड़ डॉलर का तलाल का निजी विमान एअरबस 380 है, जिसे हवा में उड़ता हुआ महल कहा जाता है। उनके पास एक प्राइवेट बोइंग-747 एअरबस भी है। इस प्लेन में स्पायरल स्टेयरकेस है, जो प्लेन के तीन फ्लोर में रहता है। इसमें एक कंसर्ट हाल है, जिसमें एक बड़ा पियानो है। हॉल में दर्शकों के बैठने की व्यवस्था है। एक स्टीम रूम है। प्लेन में एक विशाल स्क्रीन है, जिससे यह दिखाई देता है कि वह किस स्थान के ऊपर से उड़ रहे हैं। एक फुल साइज का बेडरूम है, जिसमें विशाल टचस्क्रीन टीवी लगा है। इस विमान में पांच लग्जरी सुइट हैं और नमाज पढ़ने के लिए एक रूम। रूम में एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक चटाई मौजूद है, जो खुद नमाज पढ़ने वाले का चेहरा उसी दिशा की ओर कर देती है, जिस ओर नमाज अता की जानी है। प्लेन के अंदर पार्किंग स्पेस भी है। एअरबस-380 दुनिया के विशाल विमानों में से एक है, जिसमें 600 यात्री एक साथ सफर कर सकते हैं।

डायमंड कारों का है कलेक्‍शन 

 
प्रिंस तलाल दुनि‍या की सबसे महंगी कारों के मालि‍क हैं। तलाल के गैराज में कम से कम 300 कारों का कलेक्‍शन है। इसमें इनफि‍नि‍टी से लेकर हमर और वॉल्‍वो की बेहतरीन कारें हैं। इसमें एक कार बेहद खास है और वह है डायमंड से कवर मर्सडीज बेंज एसएल 600। वि‍भि‍न्‍न रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, इस कार की कीमत 30 करोड़ रुपए से ज्‍यादा है। इसमें करीब 3 लाख डायमंड लगे हुए हैं। यह भी कहा जाता है कि इसे छूने के लि‍ए भी एक हजार डॉलर (6400 रुपए) देने पड़ते हैं। उन्‍होंने डायमंड डुकाती बाइक को भी अपने कलेक्‍शन में शामि‍ल कि‍या हुआ है। 

दरियादिली के लिए भी हैं फेमस

 
प्रिंस अलवलीद ने सऊदी अरब, लेबनान और दुनिया के कई देशों के हजारों लोगों की जिंदगी बदल दी। उन्‍हें बड़े दानदाताओं के रूप में जाना जाता है। उन्होंने अमेरिका में हुए आतंकी हमले के बाद अमेरिका को 1 करोड़ डॉलर की सहायता करनी चाही, लेकिन अमेरिका ने उनके उस बयान के बाद इसे लेने से साफ इनकार कर दिया, जिसमें प्रिंस ने कहा कि यह वह समय है, जिसमें अमेरिका को अपनी फलस्तीन की नीति में बदलाव लाना चाहिए। प्रिंस अलवलीद ने अमेरिका की जार्जटाउन यूनिवर्सिटी और हार्वर्ड यूनिवसिर्टी को 1-1 करोड़ डॉलर का दान दिया था। उन्होंने फलस्तीन के विस्थापितों को 1.85 करोड़ पाउंड की सहायता दी थी। भारत में 2004 में आए भूकंप और सुनामी के प्रभावितों के लिए भी अलवलीद ने 1.7 करोड़ डॉलर दान किए थे। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट