बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalअब चीन को आंखें दिखाने लगा पाक, पैसे के लिए यहां दिया झटका

अब चीन को आंखें दिखाने लगा पाक, पैसे के लिए यहां दिया झटका

बात जब पैसे और बिजनेस की आती है तो दोस्‍ती में भी दरार पड़ जाती है।

1 of

नई दिल्‍ली. बात जब पैसे और बिजनेस की आती है तो दोस्‍ती में भी दरार पड़ जाती है। ऐसा अक्‍सर देखने-सुनने में आता है। हाल ही में यह पाकिस्‍तान और चीन के बीच देखने मिला है। चीन की बड़ी मदद से तैयार हो रहे चीन-पाकिस्‍तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) पर पाकिस्‍तान अब अपने हितों को ऊपर रख रखा है। इसके तहत, पाकिस्‍तान ने ग्‍वादर और पूरे देश में भी अमेरिकी डॉलर की तरह चीन की करेंसी युआन के फ्री यूज को मंजूरी देने से मना कर दिया है। 

 

कब सुनाया फैसला 
- पाकिस्‍तान ने चीन को अपना फैसला चीन-पाकिस्‍तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) को लेकर एक लॉन्‍ग टर्म डेवलपमेंट प्‍लान तय करने के लिए हाल ही में हुई मीटिंग में सुनाया। 
- इस मीटिंग में दोनों देशों के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने भाग लिया था।  
- बता दें कि CPEC की लागत 50 अरब डॉलर है। ​

 

आगे पढ़ें- क्‍या कहा पाक ने 

दोनों देशों के एक्‍सचेंज रेट के हिसाब से ही होगा युआन का इस्‍तेमाल 


- पाकिस्‍तान के प्रमुख अखबार डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तान के एक वरिष्‍ठ सरकारी अधिकारी ने कहा है कि पाकिस्‍तान ग्‍वादर में या देश में कहीं भी चीन की करेंसी युआन के डॉलर की तरह फ्री इस्‍तेमाल को इजाजत देने के लिए तैयार नहीं है। 
- युआन का पाकिस्‍तान के किसी भी हिस्‍से में आम तौर पर इस्‍तेमाल या डॉलर की तरह इसका एक्‍सचेंज रिसिप्रोकल बेसिस (दोनों देशों के करेंसी एक्‍सचेंज रेट के आधार पर) पर ही होगा। 

 

आगे पढ़ें- एक और मुद्दे पर चीन को दिया झटका

एक और मुद्दे पर नहीं मानी बात 


- युआन के अलावा पाकिस्‍तान ने एक और मामले में चीन को इंकार कर दिया है। 
- यह मामला CPEC में कराची सर्कुलर रेलवे प्रोजेक्‍ट को शामिल करने का है। 
- पाकिस्‍तान ने चीन को साफ कह दिया है कि वह इस वक्‍त इसे मंजूरी नहीं दे सकता। 
- पाकिस्‍तान ने इसका कारण दोनों देशों के बीच अभी भी कुछ मसलों पर सहमति न बनना बताया है। 
- इसे देखते हुए यह प्रोजेक्‍ट अभी के लिए टल सकता है। 
- बता दें कि कराची सर्कुलर रेलवे प्रोजेक्‍ट की लागत 3.5 अरब डॉलर है। 

 

आगे पढ़ें- कुछ मामलों का किया निपटारा 

कुछ मामले हो गए सेटल 


- दोनों देशों के बीच हुई मीटिंग में भले ही पाकिस्‍तान में युआन के फ्री इस्‍तेमाल पर सहमति नहीं बनी लेकिन कुछ अन्‍य ऐसे मामले भी रहे,‍ जिन्‍हें सुलझा लिया गया। 
- इनमें 8.5 अरब डॉलर लागत वाली कराची-लाहैर-पेशावर रेलवे लाइन और पावर प्रोजेक्‍ट्स से जुड़े मुद्दे शामिल रहे। 
- साथ ही दोनों देशों के बीच CPEC के तहत गिलगिट-बाल्टिस्‍तान के कराकोरम हाइवे के अलावा ग्‍वादर, नवाबशाह, झोब-डी 1 कान-हकला जैसे रोड प्रोजेक्‍ट्स को शामिल करने पर भी सहमति बनी।   

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट