बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalहिटलर से लेकर गद्दाफी तक, ऐसे थे इन अमीर तानाशाहों के बच्‍चे

हिटलर से लेकर गद्दाफी तक, ऐसे थे इन अमीर तानाशाहों के बच्‍चे

अमीर तानाशाहों के बच्‍चों की जिंदगी भी अपने पिता की ही तरह बदले, षडयंत्र और साजिश से भरी रही।

1 of

नई दिल्‍ली. हिटलर से लेकर मुसोलिनी तक और सद्दाम हुसैन से लेकर गद्दाफी तक! ये कुछ ऐसे अमीर तानशाह हैं, जिन्‍होंने लंबे समय तक अलग-अलग देशों पर शासन किया और अपनी तानाशाही के लिए मशहूर रहे। इन तानाशाहों के बारे में कई बार चर्चा हुई लेकिन इनके बच्‍चों का जिक्र शायद बहुत ही कम हुआ। बहुत कम लोग ये जानते होंगे कि इन अमीर तानाशाहों के बच्‍चों की जिंदगी भी अपने पिता की ही तरह बदले, षडयंत्र और साजिश से भरी रही। जर्मनी के तानाशाह हिटलर ने पूरी जिंदगी अपने बेटे को नहीं अपनाया तो इटली के मुसोलिनी की बेटी अपने पिता से ही बदला लेने पर उतारू हो गई। सद्दाम हुसैन और गद्दाफी जैसे तानाशाहों के बच्‍चे भी अपने पिता के नक्‍शेकदम पर चले। 

 

आइए आपको बताते हैं कैसी थी इन तानाशाहों के बच्‍चों की जिंदगी- 

नीकू काउसेसकू

 

पिता: निकोल काउसेसकू, रोमानिया का तानाशाह

 

- नीकू काउसेसकू भी अपने पिता के नक्‍शेकदम पर चला।
- नीकू को देश के 2 कम्‍युनिस्‍ट नेताओं की ओर से प्रशिक्षित किया गया, ताकि वह पिता का स्‍थान ले सके।
- निकोल काउसेसकू के 15 साल के तानाशाही के दौर में रोमानिया के लोगों की आजादी लगभग खत्‍म कर दी गई थी।
- इस तानाशाही के चलते बहुत से लोगों को देश छोड़कर जाना पड़ा।
- मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रोमानिया में नीकू की छवि एक रेपिस्‍ट और शराबी की रही।
- नीकू जुए के साथ-साथ शराब पीकर कार एक्सिडेंट करने के लिए भी बदनाम था। 
- निकोल काउसेसकू की हत्‍या के बाद नीकू को 20 साल की सजा सुनाई गई। चार साल बाद जेल में ही उसकी मौत हो गई। 

 

आगे पढ़ें- टेओदोरो मांगुए के बारे में 

टेओदोरो मांगुए   

 

पिता: टेओदोरो एमबासोगो, एक्‍वेटर गिनी का तानाशाह 

 

- एक्‍वेटर गिनी मध्‍य अफ्रीका का एक छोटा सा देश है।
- यहां का तानाशाह टेओदोरो एमबासोगो है।
- एमबासोगो ने 1979 में अपने चाचा की हत्‍या करके देश की सत्‍ता पर कब्‍जा किया था।
- तब से देश पर एमबासोगो का शासन है। 
- हालांकि एमबासोगो को दुनिया का बहुत खतरनाक तानाशाह तो नहीं माना जाता, लेकिन उस पर लोगों की हत्‍या और कैद में टॉर्चर करने समेत कई गंभीर आरोप हैं। 
- एमबासोगो के बेटे टेओदोरो मांगुए इस समय देश के सेकेंड वाइस प्रेंसीडेंट हैं।
- उन्‍हें चिंपान्‍जी पालने और महंगी कारों का शौक है।

 

आगे पढ़ें- एक और तानाशाह के बेटे के बारे में 

जीन क्‍लाउड डुवेलियर
  
पिता: फ्रैंकोइस डुवेलियर, हैती का तानाशाह 
 
- हैती में जीन क्‍लाउड डुवेलियर को बेबी डॉक के नाम से और उनके पिता फ्रैंकोइस डुवेलियर को पापा डॉक के नाम से जाना जाता था।
- पिता की मौत के बाद बेबी डॉक ने भी हैती की सत्‍ता पर करीब 15 साल तक शासन किया।
- वह 1971 से 1986 तक हैती के राष्‍ट्रपति रहे। बेबी डॉक का शासन पिता से भी खतरनाक रहा।
- बेबी डॉक के दौर में हैती के हजारों लोगों को देश छोड़कर दूसरे देशों में पलायन करने के लिए मजबूर होना पड़ा।
- 2014 में बेबी डॉक की मौत हो गई।

 

आगे पढ़ें- कौन था मार्को मिलोसेविक

मार्को मिलोसेविक
 
पिता: स्‍लोबोडैन मिलोसेविक, सर्बिया का तानाशाह
   
- लोगों की राजनीतिक हत्‍याओं के लिए बदनाम स्‍लोबैडोन मिलोसेविक के बेटे के भीतर पिता की तरह बड़ी राजनीतिक महत्‍वाकांक्षा नहीं थी। 
- स्‍लोबोडैन मिलोसेविक को लोगों के लंबे विरोध प्रदर्शनों के बाद सर्बिया की सत्‍ता से हाथ धोना पड़ा था। 
- वहीं स्‍लोबोडैन का बेटा मार्को संगठित अपराध की दुनिया में कूद गया।
- पिता को सत्‍ता से बेदखल किए जाने के बाद मार्को देश छोड़कर रूस भाग गया।
- यूगोस्‍लाविया वॉर के दौरान उसने कई हत्‍याओं के अलावा लूट, फिरौती जैसे कामों को अंजाम दिया।

 

आगे पढ़ें- क्‍या किया मुसोलिनी की बेटी ने  

एडा मुसोलिनी 

 

पिता: बेनितो मुसोलिनी, इटली के पूर्व तानाशाह

 

- मुसोलिनी और उसकी बेटी एडा की कहानी प्‍यार और बदले की कहानी है।

- एडा के पति ने मुसोलिनी की तानाशाही का विरोध किया, जिसके बाद उसे जेल में डाल दिया गया।
- कड़ी प्रताड़ना के बाद एडा के पति की हत्‍या कर दी गई। 
- ये बाद एडा को नागवार गुजरी। उसने मुसोलिनी से इसका बदला लेने का निश्‍चय किया। 
- एडा इटली से स्‍वीडन भाग गई और यहां के कम्‍युनिस्‍ट नेताओं के साथ सोने लगी। 
- इसकी भनक मुसोलिनी को लगी, तो उसने इतालवी छापामारों की मदद से अपनी बेटी की हत्‍या कर दी। 
- एडा ने बहुत सी वॉर टाइम डायरीज को इटली से बाहर चोरी-छुपे भेजने में बड़ी भूमिका निभाई। 
- दूसरे विश्‍वयुद्ध की समाप्ति के बाद जब ये डायरी प्रकाशित हुईं तो दुनिया को इटली में लोगों पर हुए अत्‍याचारों का पता चला।

 

आगे पढ़ें- हिटलर के बेटे के बारे में

जीन मैरिए लॉरेट 
 
पिता: हिटलर, जर्मन तानाशाह

 

- हिटलर को इतिहास का सबसे क्रूर तानाशाह माना जाता है। 
- उसने अपने परिवार के साथ भी उतनी ही क्रूरता बरती।
- हिटलर ने जीते जी अपने बेटे को नहीं अपनाया। 
- दरअसल हिटलर के एक फ्रांसीसी महिला से सीक्रेट संबंध थे।
- इससे उसे एक बेटा पैदा हुआ, जिसका नाम जीन मैरिए लॉरेट था। 
- बाद में उस महिला ने एक किताब भी लिखी, जिसका नाम था योर फादर वॉज हिटलर। 
- मां की मौत के बाद लॉरेट ने हिटलर के जीवन से जुड़ी बहुत सी जगहों पर भ्रमण किया।
- लॉरेट के जीवन की सच्‍चाई जब उसकी पत्‍नी को पता चली तो उसने लॉरेट को छोड़ दिया। 
- लॉरेट ने फ्रांसीसी रेलवे में काम किया और वहीं से सेवानिवृत्‍त हुआ। 
- मौजूदा समय में लॉरेट के बच्‍चे फ्रांस में रहते हैं।

 

आगे पढ़ें- सद्दाम हुसैन के बेटे के बारे में 

उदय हुसैन

 

पिता: सद्दाम हुसैन, ईराक का पूर्व तानाशाह   

 

- जब तक सद्दाम को अमेरिकी फौजों ने इराक की सत्‍ता से बेदखल नहीं किया था, तब तक यही माना जा रहा था कि उदय ही सद्दाम का अगला वारिस होगा। 
- सद्दाम के शासन के दौरान उदय ने बहुत सी राजनीति हत्‍याओं को अंजाम दिया। 
- उस पर हत्‍या, अपहरण, फिरौती और बलात्‍कार के ढ़ेरों आरोप लगे। 
- उदय पर इराक की महिला ओलंपियन्‍स और महिला फुटबॉल प्‍लेयर्स के साथ भी बलात्‍कार के आरोप लगे।
- उसने अपने पिता के पर्सनल टेस्‍टर की भी हत्‍या कर दी। 
- अमेरिका की ओर से 2003 में किए गए हमले के बाद एक मुठभेड़ में उदय की मौत हो गई।

 

आगे पढ़ें- मुतस्सिम गद्दाफी के बारे में

मुतस्सिम गद्दाफी

 

पिता: मुअम्‍मर गदृाफी, लीबिया का तानाशाह

 

- मुअम्‍मर गद्दाफी को आधुनिक दौर के सबसे क्रूर तानाशाहों में से एक माना जाता है।
- बीते दो दशकों के दौरान गद्दाफी के अत्‍याचार की ढेरों खबरें मीडिया में पढ़ने को भी मिलीं। 
- गदृाफी का बेटा मुतस्सिम गदृाफी भी अपनी तानाशाही के लिए लीबिया में कुख्‍यात था।
- वह अपने पिता के प्रतिनिधि के तौर पर लोगों से बहुत सी डील भी करता था। 
- उसने बहुत से अंतरराष्‍ट्रीय मंचों पर लीबिया का प्रतिनिधित्‍व भी किया। 
- इस दौरान वह तत्‍कालीन अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन और अमेरिकी सुरक्षा सलाहकार जॉन मैक्‍केन से भी मिला। 
- लीबिया में विद्रोह के दौरान मुतस्सिम की पिता मुहम्‍मर गदृाफी के साथ हत्‍या कर दी गई थी।  

 

आगे पढ़ें- कौन था फैसल वांगिता 

फैसल वांगिता

 

पिता: ईदी अमीन, युगांडा का तानाशाह   

 

- ईदी अमीन ने करीब 8 साल तक युगांडा की सत्‍ता पर शासन किया।
- उस दौरान हुए अत्‍याचार और दमन के चलते एशिया के करीब 80 हजार लोगों को युगांडा छोड़ना पड़ा।
- अमीन के अत्‍याचार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसने अपने सैनिकों की ओर से की गई लोगों की हत्‍या का टीवी पर प्रसारण करवाया। 
- ईदी का बेटा भी अपने पिता के नक्‍शेकदम पर चला।
- उसने एक गैंग ज्‍वॉइन किया और युगांडा के लोगों पर भारी अत्‍याचार किए। 
- ईदी के सत्‍ता से बेदखल किए जाने के बाद उसे पांच साल की जेल हुई।
- बाद में जेल की भीतर ही उसकी हत्‍या कर दी गई।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट