Home »Economy »International» According To Court Records Mallyss Scheduled To Return For Another Hearing 17 May

माल्‍या के प्रत्यर्पण पर 17 मई को सुनवाई, बेल देते हुए कोर्ट ने कहा- मोबाइल हमेशा फुल चार्ज रखना

नई दिल्‍ली.लंदन में गिरफ्तार हुए शराब कारोबारी विजय माल्‍या के प्रत्यर्पण पर लंदन में कोर्ट में सुनवाई 17 मई को होगी। ब्‍लूमबर्ग के अनुसार, माल्‍या को लंदन कोर्ट में अगली सुनवाई के लिए अगले महीने पेश होगा। भारत में माल्‍या पर मनी लॉन्ड्रिंग, लोन डिफॉल्‍ट और फ्रॉड के मामले चल रहे हैं। इनमें भारतीय अथॉरिटी उनके प्रत्यर्पण की कोशिश करेंगी। माल्‍या को हालांकि गिरफ्तारी के तीन घंटे के भीतर ही बेल मिल गई। इसके लिए उन्‍हें 5.4 करोड़ रुपए (8.3 लाख डॉलर) का बॉन्‍ड भरना पड़ा है। माल्‍या की गिरफ्तारी से साफ है कि भारत अब लंदन में माल्या पर केस चला सकेगा। इसी केस के बाद या दौरान कोर्ट उन्हें भारत को सौंपने और वहीं केस चलाने की इजाजत दे सकता है।
 
बेल की शर्त- मोबाइल रखना फुल चार्ज
- माल्‍या को अब 17 मई को वेस्‍टमिंस्‍टर मजिस्‍ट्रेट की कोर्ट में पेश होना होगा।  माल्‍या के स्‍पोक्‍सपर्सन ने अभी इस मामले में कोई भी कमेंट देने से इनकार कर दिया।
- लंदन कोर्ट ने मंगलवार को कहा कि बेल पासपोर्ट सरेंडर करने के अलावा माल्‍या इंग्‍लैंड या वेल्‍स छोड़कर नहीं जाएंगे। उन्‍हें हर समय अपना मोबाइल फोन फुल चार्ज रखना होगा। मोबाइल हर समय उन्‍हें आपने पास रखना होगा।
 
 
2012 में बना था 45वां सबसे अमीर भारतीय
- विजय माल्‍या ने बियर और शराब बिजनेस 1980 में अपने पिता से हासिल कया था। उन्‍होंने 2005 में किंगफिशर एयरलाइंस शुरू की। यह एयरलाइंस भारी कर्ज के चलते 2012 में बंद हो गई।
- फोर्ब्‍स ने 2012 में माल्‍या को 45वां सबसे अमीर भारतीय बताया था। उस समय माल्‍या की नेटवर्थ 1 अरब डॉलर थी।
- इससे पहले, माल्‍या 2002 और फिर 2010 में राज्‍य सभा के मेम्‍बर चुने गए। दोनों ही समय माल्‍या इंडिपेंडेंट मेम्‍बर थे। 
 
 
फरवरी में तय हो गई थी माल्‍या की गिरफ्तारी
- लंदन की स्‍कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने भले ही विजय माल्‍या की मंगलवार को गिरफ्तार किया, लेकिन इसकी पूरी पटकथा फरवरी 2017 में फाइनेंस मिनिस्‍टर अरुण जेटली की ब्रिटेन यात्रा के दौरान लिखी जा चुकी थी।
- फॉरेन मीडिया के अनुसार, जेटली इस साल 24 से 28 फरवरी को लंदन गए थे। इस दौरान उन्‍होंने विजय माल्‍या के मामले में ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे से व्यक्तिगत तौर पर अपील की थी।
- भारत-यूके प्रत्यर्पण संधि के तहत भारत ने माल्‍या के प्रत्यर्पण की औपचारिक रिक्‍वेस्‍ट इस साल 8 फरवरी को की थी। इसके बाद ही फाइनेंस मिनिस्‍टर जेटली की यूके विजिट हुई थी।
- माल्‍य के प्रत्यर्पण की रिक्‍वेस्‍ट सौंपते समय भारत ने यह भरोसा दिया था कि माल्‍या के खिलाफ यह एक कानूनी केस है और उसे उसी तरह देखा जाएगा। यदि प्रत्यर्पण की रिक्‍वेस्‍ट मान ली जाती है तो यह भारत की चिंताओं को लेकर ब्रिटिश की संवेदनशीलता होगी।   
 
कितने कर्जदार हैं माल्या
- 31 जनवरी 2014 तक किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों के 6,963 करोड़ रुपए बकाया था। इस कर्ज पर इंटरेस्ट के बाद माल्या की टोटल लायबिलिटी 9,000 करोड़ रुपए से ज्यादा हो चुकी है।
- किंगफिशर एयरलाइंस अक्टूबर 2012 में बंद हो गई थी। दिसंबर 2014 में इसका फ्लाइंग परमिट भी कैंसल कर दिया गया।   
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY