Home »Economy »International» FM Arun Jaitley Personally Appealed To Theresa May Regarding Mallya Says Sources

फरवरी में ही तय हो गई थी माल्‍या की गिरफ्तारी, जेटली ने ब्रिटिश पीएम से की थी अपील

नई दिल्‍ली. लंदन की स्‍कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने भले ही विजय माल्‍या की मंगलवार को गिरफ्तार किया, लेकिन इसकी पूरी पटकथा फरवरी 2017 में फाइनेंस मिनिस्‍टर अरुण जेटली की ब्रिटेन यात्रा के दौरान लिखी जा चुकी थी। फॉरेन मीडिया के अनुसार, जेटली इस साल 24 से 28 फरवरी को लंदन गए थे। इस दौरान उन्‍होंने विजय माल्‍या के मामले में ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे से व्यक्तिगत तौर पर अपील की थी। माल्‍या को वेस्‍टमिंस्‍टर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जमानत मिल गई। गिरफ्तारी के 3 घंटे के भीतर ही माल्‍या को जमानत मिल गई।
 
भारत ने फरवरी में की थी प्रत्‍यपर्ण की रिक्‍वेस्‍ट
- भारत-यूके प्रत्‍यपर्ण संधि के तहत भारत ने माल्‍या के प्रत्‍यपर्ण की औपचारिक रिक्‍वेस्‍ट इस साल 8 फरवरी को की थी। इसके बाद ही फाइनेंस मिनिस्‍टर जेटली की यूके विजिट हुई थी।
- माल्‍य के प्रत्‍यपर्ण की रिक्‍वेस्‍ट सौंपते समय भारत ने यह भरोसा दिया था कि माल्‍या के खिलाफ यह एक कानूनी केस है और उसे उसी तरह देखा जाएगा। यदि प्रत्‍यपर्ण की रिक्‍वेस्‍ट मान ली जाती है तो यह भारत की चिंताओं को लेकर ब्रिटिश की संवेदनशीलता होगी।  
 
बेल के बाद माल्‍या का ट्वीट- भारतीय मीडिया का हाइप
- लंदन में गिरफ्तारी और तीन घंटे बाद कोर्ट से मिली जमानत के बाद माल्‍या ने ट्वीट कर कहा, ‘‘आमतौर पर भारतीय मीडिया का हाइप है। प्रत्‍यपर्ण पर सुनवाई कोर्ट में आज से शुरू हो गई, जैसा कि पहले से उम्‍मीद थी।’’  
 
जेटली ने कहा था- डिफॉल्‍टर्स के लिए भी लंदन लिबरल
- ब्रिटिश दौरे के दौरान लंदन स्‍कूल ऑफ इकोनॉमिक्‍स के एक प्रोग्राम में अरण जेटली ने कहा था कि ब्रिटेन का लोकतंत्र इस मामले में काफी लिबरल लगता है कि डिफाल्टर भी यहां ठहर सकते हैं, इस सामान्य स्थिति को तोडऩे की जरूरत है।
- जेटली ने यह बात भारत के शराब कारोबारी विजय माल्या के संदर्भ में कही थी जिसकी बैंक कर्ज चुकाने में असफल रहने के कई मामलों में भारत में वांक्षित है।
- जेटली ने कहा था, ''कईयों को लगता है कि आप जब बैंक से कर्ज लेते हैं तो उस पैसे को लौटने की जरूरत नहीं है आप लंदन आ जाइये और यहां रहने लगें ... और यहां लोकतंत्र इस मामले में काफी उदार है जो कि बैंक डिफाल्टर को रहने की अनुमति देती है। इस सामान्य स्थिति को तोडऩे की जरूरत है।''
 
2 मार्च से लंदन में था माल्‍या
- 17 भारतीय बैंकों के 9000 करोड़ रुपए से ज्‍यादा के डिफॉल्‍टर विजय माल्‍या 2 मार्च 2016 को भारत से डिप्‍लोमेटिक पासपोर्ट के जरिए लंदन भाग गया था।
- स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने एक बयान जारी कर कहा कि प्रत्यर्पण के वारंट पर भारतीय बिजनेसमैन माल्या को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह अनुरोध सीबीआई द्वारा किया गया था।
- स्थानीय (ब्रिटेन) के समय के अनुसार माल्या को सुबह 9 बजे गिरफ्तार किया गया। सूत्रों के अनुसार, ब्रिटिश एडमिनिस्ट्रेशन ने भारतीय जांच एजेंसी सीबीआई को माल्या की गिरफ्तारी के बारे में सूचित किया है। 
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY