Home » Economy » InternationalUK court orders Vijay Mallya to pay costs to Indian banks

मुकमेदबाजी पर हुए खर्च का इंडियन बैंकों को भुगतान करें माल्या, UK कोर्ट का आदेश

लंदन के हाई कोर्ट ने शराब कारोबारी वि‍जय माल्‍या को 13 भारतीय बैंकों को 200,000 पाउंड का भुगतान करने का आदेश दिया है।

UK court orders Vijay Mallya to pay costs to Indian banks

लंदन, लंदन के हाई कोर्ट ने शराब कारोबारी वि‍जय माल्‍या को 13 भारतीय बैंकों को 200,000 पाउंड का भुगतान करने का आदेश दिया है। यह रकम बकाया राशि‍ वसूलने के लि‍ए अपनी लड़ाई में 13 भारतीय बैंकों द्वारा किए गए खर्च की गई थी। बता दें कि‍ पिछले महीने कोर्ट ने भारतीय कोर्ट के उस फैसले पर भी रोक लगाने से इनकार कर दि‍या था। जि‍समें भारतीय कोर्ट की ओर से माल्‍या की सम्‍पत्‍ति‍ को फ्रीज करने का आदेश दि‍या गया था। पि‍छले महीने ही लंदन की अदालत ने फैसला दि‍या था कि‍ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के नेतृत्व में 13 भारतीय बैंकों का एक संघ लगभग 1.145 बिलियन पाउंड की राशि वसूलने का हकदार है।  

 
बता दें कि, करीब 9000 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी आैर मनी लाॅन्ड्रिंग के आरोपी विजय माल्या को प्रत्यर्पण से बचने की लड़ार्इ लड़ रहा है। इसके लिए उसने ब्रिटिश कोर्ट में एक अपील दायर की थी जिसपर सुनवार्इ चल रही है।  
 
फ्रीज करने की रजिस्ट्रेशन फीस भी माल्‍या को देनी होगी 
 
कोर्ट की ओर से अपने फैसले में कहा गया है कि‍ दुनियाभर की सभी संपत्तियों को फ्रीज करने पर लगने वाले सभी तरह के रजिस्ट्रेशन का खर्च माल्या को ही देना होगा। कोर्ट ने यह भी कहा है कि‍ ये खर्च माल्या बैंकों को ही देंगे। मानक आदेश यह है कि अदालत उन लागतों का आकलन करेगी जब तक कि पार्टियां किसी भी आंकड़े से सहमत न हों। अदालत की तरफ से जारी नोटिस में कहा गया था कि "अपील की अनुमति के लिए माल्‍या की ओर से दि‍या गया पहला आवेदन अस्वीकार कर दिया गया है। 
 
अगले महीने होने वाली है अंतिम सुनवार्इ 
 
अदालत ने साफ कर दिया है कि इसकी अनुमति तभी मिलेगी जब तक कोर्ट में ये साबित नहीं हो जाता है कि इससे बचने के लिए माल्या के पास कोर्इ ठोस कारण हो। इसी समय माल्या लंदन के वेस्टमिन्सटर में आ चुका है ताकि अगले महीने इस मामलें की अंतिम सुनावार्इ पूरी हो सके। इस मामले की अंतिम सुनवार्इ में डिफेंस टीम के तौर भारत के तरफ से क्राउन प्राॅस्पेक्टिक सर्विस (सीपीएस) हिस्सा लेगी। ये सुनवार्इ पहले 11 जुलार्इ को होनी थी लेकिन अब संभावना है कि ये 31 जुलार्इ तक टल सकती है।
 
माल्‍या का बचना आसान नहीं 
 
आपको बात दें कि पिछले साल अप्रैल में हिरासत में लिए जाने के बाद से विजय माल्या फिलहाल बेल पर है। सीपीएस (क्राउन प्राॅस्पेक्टिक सर्विस) की ओर से कहा गया है कि‍ उनकी ओर से माल्‍या के खि‍लाफ सफलतापूर्वक फ्राॅड के आरोप पर केस तैयार कर लिया है। ऐसे में अब माल्या के लिए बचना आसान नहीं होगा। वहीं दूसरी तरफ माल्या के वकील का कहना है कि, उनके क्लाइंट के खिलाफ जो भी आरोप लगाए गए हैं वो पूरी तरह से निराधार हैं आैर राजनीतिक से प्रेरित हैं। उन्होंने कहा है कि मानवाधिकार के आधार पर भी हम मजबूत हैं। 
 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट