बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalबाल कटाने के लि‍ए देने पड़ रहे हैं केले और अंडे, भारत से 5000 गुनी ज्यादा है वेनेजुएला में महंगाई

बाल कटाने के लि‍ए देने पड़ रहे हैं केले और अंडे, भारत से 5000 गुनी ज्यादा है वेनेजुएला में महंगाई

मई 2018 में वेनेजुएला की महंगाई दर 25000 फीसदी दर्ज की गई, जबकि‍ भारत में यह दर 4.87 फीसदी है।

Venezuela people living life with barter system

नई दि‍ल्‍ली। आज के दौर में आप यह सोच भी नहीं सकते कि‍ कि‍सी देश में 'बाटर सि‍स्‍टम' यानी काम या सर्वि‍स के बदले वस्‍तुओं का आदान-प्रदान हो। लेकि‍न वेनेजुएला की स्‍थि‍ति‍ ऐसी ही हो गई है। यहां बाल काटने के बदले लोग पैसे नहीं बल्‍कि‍ केले और अंडे मांग रहे हैं। वेनेजुएला के आर्थि‍क संकट का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि‍ यहां महंगाई दर भारत की तुलना में लगभग 5,000 गुना ज्‍यादा है। मई 2018 में वेनेजुएला की महंगाई दर 25000 फीसदी दर्ज की गई, जबकि‍ भारत में यह दर 4.87 फीसदी है।  

 

 

ऐसे हो गए हैं लोगों के हालात

मीडि‍या रि‍पोर्ट्स के मुताबि‍क, घर का काम करने वाले, कैब और बस ड्राइवर, कारपेंटर्स, नर्स, रि‍टेलर्स के अलावा प्रोफेशनल्‍स भी काम के बदले खाना मांग रहे हैं क्‍योंकि‍ पूरा देश भुखमरी से लड़ रहा है। एक प्‍लंबर लि‍योनार्ड को पुराने कस्‍टमर्स ने कि‍चन की सफाई करने के बदले दो कि‍लो चावल और एक लीटर तेल दि‍या मि‍ला। उनके पास एक नि‍यमि‍त ग्राहक ने वाटर टैंक ठीक करने के लि‍ए कहा। ग्राहक ने उससे इसकी कीमत पूछी, तो उसने कहा कि‍ क्‍या आपके पास मक्‍खन है। 

 

 

3 फीसदी लोग छोड़ चुके हैं देश    

खराब आर्थिक हालात की वजह से साल 2015 से 2017 के बीच देश की कुल जनसंख्‍या के 3 फीसदी लोगों को पलायन के लिए मजबूर होना पड़ा। कैश नहीं होने के कारण लोग बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए बार्टर सिस्टम पर नि‍र्भर हैं।

 

 

कैसे हुई ये हालत

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के कार्यकाल में देश आर्थिक संकट से लगातार घिरा हुआ है। इस साल मई में मादुरो फिर से वेनेजुएला के राष्ट्रपति चुने गए हैं। हालांकि, राष्ट्रपति चुनाव पर अमेरिका और कई अन्य देशों ने वि‍रोध भी जताया। देश में जरूरी खाने-पीने की चीजों और दवाइयों की कमी है। इसके साथ ही अमेरिका के साथ चल रहे ट्रेड वॉर जैसे हालात के कारण भी वेनेजुएला को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट