बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Internationalप्रत्यर्पण मामले में विजय माल्या कोर्ट में पेश, फाइनल हेयरिंग शुरू

प्रत्यर्पण मामले में विजय माल्या कोर्ट में पेश, फाइनल हेयरिंग शुरू

शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण मामले पर सुनवाई अंतिम दौर में पहुंच गई है।

1 of

लंदन. शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण मामले पर सुनवाई अंतिम दौर में पहुंच गई है। इस क्रम में माल्या शुक्रवार को वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेेेश हुए। हालांकि  62 वर्षीय माल्या 2 अप्रैल तक बेल पर हैं और इसलिए उनका आज की हेयरिंग में आना जरूरी नहीं था। माल्या पर भारतीय बैंकों का लगभग 9 हजार करोड़ रुपए का बकाया है।

 

भारत के सबूत स्वीकार कर सकती है कोर्ट

ऐसा अनुमान है कि जज ऐमा अरबुथनोट भारत सरकार की तरफ से पैरवी कर रही क्राउन प्रोसिक्यूशन सर्विस (सीपीएस) द्वारा पेश किए गए सबूत स्वीकार कर सकती हैं और अंतिम फैसले के लिए टाइमफ्रेम तय कर सकती हैं।

जनवरी में हुई पिछली सुनवाई के दौरान माल्या की वकील क्लेयर मोन्टगोमरी ने दलील दी थी कि सीपीएस द्वारा जिसे ‘बेईमानी का ब्लूप्रिंट’ होने का दावा किया था, वे वास्तव में माल्या और उनके वकील के बीच हुए वार्तालाप थे। इसलिए उन्हें स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए।

 

माल्या की वकील ने उठाए थे सवाल

भारत सरकार द्वारा एक अलग कैटेगरी के सबूत पेश किए जाने पर माल्या की टीम ने मामले में जांच अधिकारियों की विश्वसनीयता पर सवाल उठाया और कहा कि 150 पेजों का मैटेरियल इंडियन सीआरपीसी के सेक्शन 161 के अंतर्गत लिए गए गवाहों के बयान हैं।

मोन्टोगोमरी ने कहा कि डॉक्यूमेंट एक तरह से ‘दोबारा पेश’ किए गए हैं, जिनकी भाषा समान होने के साथ ही त्रुटियां भी पहले जैसी ही हैं।  

 

जून तक हो जाएगी सुनवाई पूरी

कोर्ट अगले कई दिनों तक सुनवाई करेगी। उसके बाद जून के अंत विजय माल्या पर कोई फैसला दिया जा सकता है। विजय माल्या मामले में भारत का पक्ष रख रही सीबीआई को उम्मीद है कि विजय माल्या का भारत प्रत्यर्पण हो जाएगा, क्योंकि उसने भारतीय बैंकों को धोखा देने के बाद यूके में अवैध रूप से पैसा पहुंचाने का दोहरा अपराध किया है।


 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट