विज्ञापन
Home » Economy » InternationalVijay Mallya's extradition case edges towards ruling

विजय माल्या को भेजा जाएगा भारत, लंदन की कोर्ट का बड़ा फैसला

विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर आज लंदन में शुरू होगी सुनवाई

Vijay Mallya's extradition case edges towards ruling

लंदन की एक कोर्ट ने विजय माल्या का भारत को प्रत्यर्पण किए जाने का आदेश दिया है। इससे माल्या को ब्रिटेन से भारत भेजे जाने का रास्ता साफ हो गया है। भारत में फ्रॉड और मनीलॉन्ड्रिंग के आरोपों में वांछित व लगभग 9 हजार करोड़ रुपए के बकायेदार माल्या सोमवार को सुनवाई के लिए लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश हुए। उन्होंने कहा कि वह बैंकों का पूरा बकाया लौटाने को तैयार है। हालांकि कोर्ट ने उनकी सभी दलीलों को खारिज कर दिया।

 

 

लंदन. लंदन की एक कोर्ट ने विजय माल्या को तगड़ा झटका देते हुए उन्हें भारत को प्रत्यर्पित किए जाने का आदेश दिया है। इससे माल्या को ब्रिटेन से भारत भेजे जाने का रास्ता साफ हो गया है। 9 हजार करोड़ रुपए के बकायेदार विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण का फैसला सरकार और सरकारी जांच एजेंसियों के लिए बड़ी सफलता माना जा रहा है। सीबीआई के अधिकारी सोमवार को लंदन पहुंच भी गए। इससे पहले माल्या इस मामले में सुनवाई के लिए लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश हुए। उन्होंने कहा कि वह बैंकों का पूरा बकाया लौटाने को तैयार है। हालांकि कोर्ट ने उनकी सभी दलीलों को खारिज कर दिया।
 

कोर्ट ने सेक्रेटरी ऑफ स्टेट के पास भेजा मामला

यूके की कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि लिकर टायकून विजय माल्या का भारत के लिए प्रत्यर्पण किया जा सकता है। कोर्ट ने अपना फैसला सुनाने के तुरंत बाद माल्या के प्रत्यर्पण मामले को यूके होम ऑफिस के होम सेक्रेटरी साजिद जाविद के पास भेज दिया गया है, जो कोर्ट के फैसले पर एक आदेश जारी करेंगे। इस मामले में दोनों ही पक्षों को यूके हाईकोर्ट में अपील करने का अधिकार है।

 

माल्या दे रहे थे यह दलील

किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व मालिक माल्या को बीते साल अप्रैल से प्रत्यर्पण वारंट पर गिरफ्तारी से बेल मिली हुई है। मामला कोर्ट में लंबित है और माल्या दलील देते रहे हैं कि उनके खिलाफ मामला ‘राजनीति से प्रेरित’ है। 62 वर्षीय कारोबारी ने हाल में ट्विटर पर जारी अपनी पोस्ट में कहा था, ‘मैंने एक भी रुपया कर्ज नहीं लिया। कर्जदार किंगफिशर एयरलाइंस थी। यह पैसा वास्तविक और दुखद रूप से बिजनेस के फेल होने की वजह से डूबा था। सिर्फ गारंटर होने का मतलब यह नहीं कि मैंने फ्रॉड किया है।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने 100 फीसदी मूल धन लौटाने की पेशकश की है। कृपया इसे ले लें।’

 

लंदन पहुंच चुकी है सीबीआई की टीम

इस अहम सुनवाई में हिस्सा लेने के लिए सीबीआई के जॉइंट डायरेक्टर एस साई मनोहर की अगुआई में अधिकारियों की एक टीम सोमवार को ही लंदन पहुंचने की खबर है। सूत्रों ने कहा कि भारतीय जांच एजेंसियां माल्या को प्रत्यर्पित करा स्वदेश वापस लाने की कोशिश कर रही हैं।

सूत्रों के मुताबिक, एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) के दो अधिकारी भी सीबीआई अधिकारियों के साथ गए हैं। मनोहर अस्थाना की अगुवाई वाली एसआईटी का हिस्सा थे।

 

2016 में भागा था माल्या

माल्या मनी लॉन्ड्रिंग और ऋण की रकम दूसरे मद में खर्च करने के अलावा 9,000 करोड़ रुपए के ऋण की अदायगी नहीं करने के मामले का सामना कर रहा है। वह लंदन में स्वनिर्वासन में रह रहा है। माल्या अपने खिलाफ सीबीआई के लुकआउट नोटिस को कमजोर किए जाने का फायदा उठाते हुए मार्च 2016 में ब्रिटेन भाग गया था।

 

पिछले साल शुरू हुई थी सुनवाई

विजय माल्या सोमवार को लंदन की वेस्टमिंस्टर अदालत में पेश होगा। पिछले साल अप्रैल से प्रत्यर्पण वारंट के बाद से माल्या जमानत पर हैं। माल्या के खिलाफ प्रत्यर्पण का मामला मजिस्ट्रेट की अदालत में पिछले साल 4 दिसंबर को शुरू हुआ था।

 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss